होम »  कैंसर »  Selfexamine: स्तन कैंसर से जुड़े वो सवाल जो आपके मन में आते होंगे, यहां हैं जवाब...

Selfexamine: स्तन कैंसर से जुड़े वो सवाल जो आपके मन में आते होंगे, यहां हैं जवाब...

Breast Self-Exam: जिन महिलाओं में माहवारी आ रही है, वे माहवारी शुरू होने के 10 दिन बाद और जिनकी माहवारी बंद हो गई है, वे महीने में एक दिन तय करें लें और जांच करें.

Selfexamine: स्तन कैंसर से जुड़े वो सवाल जो आपके मन में आते होंगे, यहां हैं जवाब...

Breast Self-Examination: स्तन कैंसर से बचने के लिए स्वत: जांच बहुत जरूरी है.

Breast Self-Exam: भारत में स्तन कैंसर (Breast Cancer) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. देश में धीरे-धीरे बढ़ने वाले स्तन कैंसर के 70 फीसदी मामले में से 35 फीसदी शुरुआती चरण में आते हैं, जबकि विदेशों में यह आंकड़ा 70 प्रतिशत है. इन 35 फीसदी महिलाओं के लिए एक नया परीक्षण (Breast Self-Exam) शुरू किया गया है, अगर वे यह टेस्ट कराएं तो उन्हें कीमोथेरेपी (Chemotherapy ) की कतई जरूरत नहीं पड़ेगी. इस नए टेस्ट को हार्मोनल थेरेपी (Hormonal Therapy) कहते हैं जिसमें पॉजिटिव पाए जाने पर 'कैमॉक्सगन' नाम की एक गोली दी जाती है, जिससे 90 से 95 फीसदी लोग बिल्कुल ठीक हो जाते हैं, लेकिन यह टेस्ट करने के बाद पता लगता है कि यह टयूमर हार्मोन (tumor hormones) के संपर्क में आएगा या नहीं. अगर आपके मन में भी हैं स्तन कैंसर से जुड़े कुछ सवाल (breast cancer causes), आप भी जानना चाहते हैं कि कैसे किया जाता है Breast Self-Exam तो चलिए हम आपको बताते हैं- Breast Self Exam Guidelines in Hindi - 

बच्चों में कैंसर : समय पर पहचान और उचित इलाज ही है रास्ता


तो अगले दो साल में दोगुने हो जाएंगे प्रोस्टेट कैंसर के मामले!

Stage-Zero Breast Cancer: आयुष्मान खुराना की पत्नी ताहिरा कश्यप को है स्टेज जीरो ब्रेस्ट कैंसर

Fight Against Cancer: सोनाली बेंद्रे ने ली अपने लिए विग, शेयर किया इमोश्नल कर देने वाला वीडियो...

क्या सेल्फ एग्जामिन है बहुत जरूरी? (Self examine for breast cancer)

breast cancer

Self examine for breast cancer: सेल्फ एग्जामिन है बहुत जरूरी.

Photo Credit: iStock


Breast Self Examination in Hindi: स्तन की स्वत: जांच (Breast Self-Exam) के दौरान किस तरह की दिक्कतों को गम्भीरता से लिया जाना चाहिए? इसे लेकर डॉक्टर साहनी ने कहा, "एक महिला अपने स्तन को अच्छी तरह जानती है. मसलन, उसका आकार क्या है, इत्यादि. अगर स्वत: जांच के दौरान किसी भी प्रकार की असामान्य बात नजर आती है तो उसकी जांच होनी चाहिए. इस समस्या को टालने से बढ़ जाएगी और इसके बाद एक महिला को उसी के लिए लम्बा इलाज करना होगा."

स्वत: जांच का सबसे अच्छा समय क्या होता है? (When and How to do Breast Self-Exam or BSE)


जिन महिलाओं में माहवारी आ रही है, वे माहवारी शुरू होने के 10 दिन बाद और जिनकी माहवारी बंद हो गई है, वे महीने में एक दिन तय करें लें और जांच करें. दाहिने हाथ से बायां स्तन और बाएं हाथ से दाहिन स्तन गोल-गोल घुमाकर देखें और अगर कोई भी असामान्य बात नजर आती है, मसलन किसी भी प्रकार का दर्द या फिर निपल्स से किसी भी प्रकार सा स्राव होता है तो इसकी तुरंत डॉक्टर से जांच कराएं.

भारत में हर चौथी महिला को है यह रोग, फिर भी हैं अनजान...

नीम के 6 गुणकारी फायदे: डायबिटीज में करता है फायदा

ऐसे बनाएं मुस्कान को सुंदर, पाएं स्वस्थ दांतों के लिए टिप्स...

Remedies for Psoriasis: सोरायसिस को दूर करने के 7 सबसे कारगर घरेलू नुस्खे

Home Remedies: कब्ज से हैं परेशान तो ये 5 घरेलू नुस्खे दिलाएंगे आराम

Remedies for Stamina: यौन शक्ति को बढ़ाने के 6 असरदार घरेलू नुस्खे

Remedies For Headache: सिरदर्द को एक मिनट में दूर कर देंगे ये 7 घरेलू नुस्खे

कब कराएं मैमोग्राफी? (Mammography: Purpose, Procedure & Risks)


डॉक्टर साहनी के मुताबिक जो महिलाएं 40 साल पार कर गई हैं, उन्हें साल मे एक बार मैमोग्राफी (Mammography test in Hindi) करानी चाहिए. साहनी ने कहा, "इस जांच से इस बीमारी का उस समय पता चलता है, जब आपको किसी भी प्रकार की समस्या का अहसास नहीं हो रहा होता है. अगर आपने किसी भी प्रकार की गांठ को नजरअंदाज किया तो वह कैंसर का रूप ले सकता है. बेशक यह जांच थोड़ी महंगी है लेकिन इसी से बचने के लिए जागरुकता और स्वत: जांच (Self examine for breast cancer) बहुत जरूरी है. स्वत: जांच से इस बीमारी का बिना किसी चिकित्सकीय निरीक्षण के पता लगाया जा सकता है और समय रहते इसका इलाज कराया जा सकता है. यहां मैं बताना चाहूं कि मैमोग्राफी (Mammography test )के दौरान किसी भी व्यक्ति को रेडियशन से कोई खतरा नहीं होता."

स्तन कैंसर कैसे होता है? (Breast Cancer Causes)

breast cancer

मैमोग्राफी (Mammography test )के दौरान किसी भी व्यक्ति को रेडियशन से कोई खतरा नहीं होता."

Photo Credit: iStock

क्या है खतना, इससे जुड़ी मान्यताएं और पूरा सच, यहां जानें

एलोवेरा के फायदे: बालों, त्वचा और वजन कम करने में मददगार, जानें कैसे करें इस्तेमाल

Cinnamon and honey benefits: दालचीनी और शहद के 6 फायदे, करेंगे कई रोग दूर...

Health Benefits of Radish: मूली खाने के 8 फायदे, बीमारियां होंगी दूर, चेहरे पर आएगा ग्लो

शकरकंदी के फायदे: डायबिटीज को करे कंट्रोल, ब्लड शुगर को रखे सही...

यह एक पॉलीसाइक्लिक एरोमैटिक हाइड्रोकार्बन नाम का एक कम्पाउंड है. ये खाने के पदार्थो में पाए जाते हैं. मेकअप के सामानों में पाए जाते हैं. पालीश में पाए जाए जाते हैं. कास्मेटिक्स में पाए जाते हैं. इनका स्तन कैंसर (Breast Cancer) से सीधा सम्बंध है. ये जितने भी उद्योग हैं, वे पॉलीसाइक्लिक एरोमैटिक हाइड्रोकार्बन का उपयोग इसलिए करते हैं क्योंकि इससे उनका उत्पादन खर्च कम होता है. इसे पैरागन फ्री बनाने के लिए खर्च बढ़ जाता है. इसलिए कम्पनियां इससे बचती हैं. यह दुनिया भर में होता है. स्तन कैंसर ( breast cancer) का दूसरा कारण है फास्ट फूड का बढ़ता चलन. इसमें प्रोसेस्ड फूड और शुगर का बहुत अधिक प्रयोग होता है. जितना आप शुगर का उपयोग करेंगे, आप मोटे होंगे और मोटापा कई बीमारियों का घर होता है.

तो क्या स्तन कैंसर से बचने के लिए स्वत: जांच बहुत जरूरी है? (The Importance of a Breast Self-Examination)

इसके बिना आप मैमोग्राफी के लिए जा ही नहीं सकते. स्वत: जांच के दौरान तीन बातों का खासतौर पर ध्यान रखा जाना चाहिए. आपको किसी भी प्रकार का बदलाव नजर आए तो सावधान हो जाइए. कोई भी बात असामान्य दिखे तो सावधान हो जाइए. स्तन के स्किन के ऊपर कुछ भी असामान्य नजर आए तो सावधान हो जाइए. सबसे जरूरी बात, अगर निपल से बिना छुए कोई तरल पदार्थ निकल रहा है तो उसे गम्भीरता से लीजिए. इसी कभी नजरअंदाज मत कीजिए.

और खबरें के लिए क्लिक करें.

Read- 

Remedies For Headache: सिरदर्द को एक मिनट में दूर कर देंगे ये 7 घरेलू नुस्खे

Health Benefits of Radish: मूली खाने के 8 फायदे, बीमारियां होंगी दूर, चेहरे पर आएगा ग्लो

Thyroid Remedies: ये 5 चीजें करेंगी थाइराइड को दूर, आज ही आजमाएं

टालना चाहती हैं पीरियड्स, तो अपनाएं ये 5 घरेलू नुस्‍खे

इन 4 चीजों से पल में हवा होगी एसिडिटी, यहां हैं घरेलू नुस्खे...

क्या है गठिया, किसे हो सकता है और क्या आती हैं इलाज में समस्याएं...

ज्यादा पानी के होते हैं नुकसान, जानें एक दिन में कितना पानी पीना चाहिए...

सेफ सेक्‍स के लिए जरूरी है इन टिप्‍स को ट्राई करना

Reduced Sex Drive? 6 सुपरफूड जो बढ़ाएंगे आपकी लिबिडो

Sexual Health:  

सेक्स के दौरान ज्यादातर को पसंद नहीं होती ये बातें, रखें ध्यान 

बिस्तर पर उन खास पलों का बढ़ाना है समय, तो ध्यान रखें ये 5 बातें...

Reduced Sex Drive? 6 सुपरफूड जो बढ़ाएंगे आपकी लिबिडो
 

दिल की बीमारियों का खतरा दोगुना कर सकता है HIV Infection

Low Sperm Count के बावजूद घर में यूं गूंज सकती है बच्चे की किलकारी

कहीं मां या पिता न बन पाने के पीछे एयर पॉल्यूशन तो नहीं है वजह...!

प्रेगनेंसी के दौरान सेक्‍स करते वक्‍त न करें ये गलतियां

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------