होम »  लिविंग हेल्दी »  Thyroid Remedies: ये 5 चीजें करेंगी थाइराइड को दूर, आज ही आजमाएं

Thyroid Remedies: ये 5 चीजें करेंगी थाइराइड को दूर, आज ही आजमाएं

एक नजर उन घरेलू नुस्खों पर जो आपको नेचुरली थाइराइड से राहत दिला सकते हैं (Natural ways to treat thyroid disease on Hindi): 

Thyroid Remedies: ये 5 चीजें करेंगी थाइराइड को दूर, आज ही आजमाएं

Thyroid Remedies: कुछ घरेलू उपायों से भी थाइराइड में राहत मिल सकती है.

Natural or Home Remedies For Thyroid: आंकड़ों की मानें तो लगभग हर तीसरा भारतीय किसी न किसी थायराइड विकार से पीड़ित है. यह अक्सर वजन बढ़ाने और हार्मोनल असंतुलन की वजह बनता है. थायराइड हार्मोन अंगों के सामान्य कामकाज के लिए जरूरी होते हैं. इनमें किसी भी तरह के असंतुलन से विकार पैदा होते हैं. मुख्य रूप से थायरॉइड विकार (Thyroid Disorders) दो प्रकार के होते हैं- हाइपरथायरायडिज्म (Hyperthyroidism) जो एट्रियल फिब्रिलेशन, ऑस्टियोपोरोसिस और फ्रैक्चर का कारण बन सकता है, और हाइपोथायरायडिज्म (Hypothyroidism) जो मायक्सेडेमा कोमा और मृत्यु का कारण बन सकता है. थायरॉइड समस्याओं (Thyroid problems) का सबसे आम कारण ऑटोम्यून्यून थायराइड रोग (एआईटीडी) है. 

अदरक के फायदे: क्या आप जानते हैं अदरक के इन 8 फायदों के बारे में

यह एक वंशानुगत यानी जेनेटिक स्थिति है, जिसमें प्रतिरक्षा प्रणाली एंटीबॉडी उत्पन्न करती है, जो या तो थायराइड ग्रंथियों को अधिक हार्मोन बनाने के लिए उत्तेजित करती है. तो क्या थायराइड होने पर जीवन भर एक दवा खानी होगी. इसका जवाब हम आपको देते हैं कुछ घरेलू नुस्खों या प्राकृतिक उपायों से. तो चलिए एक नजर ड़ालते हैं उन घरेलू नुस्खों पर जो आपको नेचुरली थाइराइड से राहत दिला सकते हैं (Natural ways to treat thyroid disease on Hindi). लेकिन उससे पहले थाइराइट के प्रकारों (Types of Thyroid in Hindi) और उसे लक्षणों (Symptoms Of Thyroid) के बारे में सही से जान लेना बेहद जरूरी है. 


Home Remedies: डेंगू से निपटने के 6 घरेलू उपाय...

 

प्रेगनेंसी के दौरान सेक्‍स करते वक्‍त न करें ये गलतियां

हाइपरथायरायडिज्म के लक्षण (Hyperthyroidism Disease Symptoms):  

वजन घटना, गर्मी न झेल पाना, ठीक से नींद न आना, प्यास लगना, अत्यधिक पसीना आना, हाथ कांपना, लगातार मल त्याग की इच्छा करना, दिल तेजी से धड़कना, कमजोरी, चिंता, और अनिद्रा शामिल हैं. 

हाइपोथायरायडिज्म (Hypothyroidism Disease Symptoms):

सुस्ती, थकान, कब्ज, धीमी हृदय गति, ठंड, सूखी त्वचा, बालों में रूखापन, अनियमित मासिकचक्र और इन्फर्टिलिटी के लक्षण दिखाई देते हैं.


Cinnamon and honey benefits: दालचीनी और शहद के 6 फायदे, करेंगे कई रोग दूर...

Do Natural Treatments Work for Hypothyroidism? अगर आपने भी यह सवाल गूगल पर सर्च किया है तो इसका जवाब आपको हम दें. असल में स्वस्थ वजन बनाए रखने के लिए फाइबर से समृद्ध और कम वसा वाला आहार लें. कुछ न कुछ शारीरिक गतिविधि करते रहने के लिए खुद को प्रेरित करें. तनाव से थायराइड विकारों को बढ़ने का मौका मिलता है, इसलिए तनाव के स्तर को कम करने के लिए कुछ प्रयास करिए. योग, ध्यान, नृत्य आदि से मदद मिल सकती है. यदि कैंसर का जोखिम है, तो कुछ-कुछ वर्षो में नोड्यूल का पता करने के लिए अपनी जीपी और टीएसएच स्तरों का परीक्षण करवाएं. अब एक नजर ड़ालते हैं उन घरेलु नुस्खों पर जो आपको नेचुरली थाइराइड से राहत दिला सकते हैं (Natural ways to treat thyroid disease on Hindi): 

सेफ सेक्‍स के लिए जरूरी है इन टिप्‍स को ट्राई करना

1. अदरक

अदरक में पोटेशियम, मैग्नीश्यिम वगैरह होते हैं. ये सभी थायराइड की समस्या से निजात दिलाते हैं. सबसे अच्छी बात यह है कि अदरक में एंटी-इंफलेमेटरी गुण होता है जो थायराइड को बढ़ने से रोकता है. 

2. मुलेठी  

थायराइड के मरीजों को थकान बड़ी जल्दी लगने लगती है और वे जल्दी ही थक जाते हैं. इसलिए थाइराइड के मरीजों को मुलेठी का सेवन करना बहुत लाभदायक होता है. मुलेठीं में पाए जाने वाले गुण थायराइड ग्रंथी को संतुलित करते हैं. शरीर का एनर्जी लेबल बढाते है. मुलेठी थायराइड में कैंसर को बढ़ने से भी रोकता है.

सेक्‍स के दौरान होने वाली इन कॉमन इन्‍जरी के बारे में जानते हैं आप...

3. गेहूं, ज्वार और अनाज

थायराइड से नेचुरली लड़ने के लिए अपने खाने गेहूं, ज्वार और साबुत अनाज शामिल करना चाहिए. साबुत अनाज में विटामिन्स, फाइबर और प्रोटीन से भरपूर होते हैं, जो थायराइड को बढ़ने से रोकता है. थायराइड के अलावा यह साइनस, हाई बीपी जैसे रोगों से भी राहत दिलाते हैं.

4. दूध और दही: 

जिन्हें थायराइड है उन लोगों के लिए दूध और दही रामबाण की तरह हैं. जी हां, थायराइड के मरीजों को दही और दूध का सेवन करना चाहिए. दोनों में ही कैल्शियम, मिनरल्स और विटामिन्स होते हैं जो थायराइड से लड़ने में मददगार हैं.

5. अश्वगंधा:

अश्वगंधा एक प्राकृतिक औषधि है. यह एक शक्तिवर्धक औषधि है. अश्वगंधा की मदद से थाइरॉइड पर नियंत्रण किया जा सकता है. इसके लिए आप चाहें तो आप चाहे तो इसकी पत्तियों या जड़ों को उबाल कर पी सकते हैं. हायपोथायरायडिज्म का इलाज भी अश्वगंधा की मदद से किया जा सकता है. इसके लिए आपको महायोगराज गुग्गुलु और अश्वगंधा को एक साथ इस्तेमाल करें. 

घरेलु नुस्खों के लिए क्लिक करें. 

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

क्या यह लेख सहायक था हाँ or नहीं

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------