होम »  ख़बरें »  Type 2 diabetes: केल जूस से कैसे करें डायबिटीज को कंट्रोल? जानें इस सेहतमंद जूस के बारे में

Type 2 diabetes: केल जूस से कैसे करें डायबिटीज को कंट्रोल? जानें इस सेहतमंद जूस के बारे में

Type 2 diabetes: मधुमेह क्या है? कैसे होता है? क्या लक्षण हैं? अक्सर यह सवाल पूछा जाता है. तो चलिए आज आपको हर सवाल का जवाब देते हैं. टाइप 2 डायबिटीज वह (What is Type 2 diabetes) स्थिति है जब व्यक्ति में, शरीर इंसुलिन का सही उपयोग नहीं कर पाता है और इस स्थिति को इंसुलिन प्रतिरोध कहा जाता है.

Type 2 diabetes: केल जूस से कैसे करें डायबिटीज को कंट्रोल? जानें इस सेहतमंद जूस के बारे में

टाइप 2 डायबिटीज वह (What is Type 2 diabetes) स्थिति है जब व्यक्ति में, शरीर इंसुलिन का सही उपयोग नहीं कर पाता है

Type 2 diabetes: मधुमेह क्या है? कैसे होता है? क्या लक्षण हैं? अक्सर यह सवाल पूछा जाता है. तो चलिए आज आपको हर सवाल का जवाब देते हैं. टाइप 2 डायबिटीज वह (What is Type 2 diabetes) स्थिति है जब व्यक्ति में, शरीर इंसुलिन का सही उपयोग नहीं कर पाता है और इस स्थिति को इंसुलिन प्रतिरोध कहा जाता है. अग्न्याशय या पेंक्रियास पहले इसके लिए अतिरिक्त इंसुलिन बनाता है. हालांकि, समय के साथ, यह रक्त शर्करा (blood sugar) को सामान्य स्तर पर रखने के लिए पर्याप्त नहीं बना पाता है. इस स्थिति के लिए सटीक ट्रिगर ज्ञात नहीं है, टाइप 2 मधुमेह के कारणों के संयोजन का एक परिणाम हो सकता है. कुछ ट्रिगर (Type 2 diabetes symptoms) आनुवंशिक रूप से इस स्थिति के लिए पूर्वनिर्धारित हो सकते हैं. टाइप 2 मधुमेह के लक्षण (Type 2 diabetes Symptoms) समय के साथ धीरे-धीरे विकसित होते हैं. उनमें से कुछ में प्यास और भूख में वृद्धि, बार-बार मूत्र त्याग की इच्छा होना, वजन कम होते जाना, थकान, धुंधली दृष्टि, संक्रमण और घावों का धीमी गति से भर पान तथा कुछ क्षेत्रों में त्वचा का काला पड़ना शामिल हैं.

अगर दिखें ये 8 लक्षण, तो आप इस बीमारी से हो सकते हैं पीड़ित

Diabetes Management: फायदेमंद है पपीता, जानें कैसे करता है ब्लड शुगर को कंट्रोल


डायबिटीज के कारण (Diabetes Causes in Hindi)

सच तो यह है कि शारीरिक गतिविधि, अच्छा पोषण और मधुमेह की दवाएं मानक देखभाल तथा टाइप-2 मधुमेह प्रबंधन के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं, कुछ लोगों को दवा के साथ भी अपने रक्त शर्करा के स्तर का प्रबंधन करना मुश्किल हो सकता है। यह ध्यान देने वाली बात है कि भारत में डायबिटीज से पीड़ित 25 वर्ष से कम आयु के हर चार लोगों में से एक (25.3 प्रतिशत) को वयस्क टाइप 2 मधुमेह है. यह स्थिति आदर्श रूप में मधुमेह, मोटापा, अस्वास्थ्यकर आहार और निष्क्रियता के पारिवारिक इतिहास वाले केवल बड़े वयस्कों को होनी चाहिए.

Diabetes Diet: डायबिटीज में खाएं ये 5 फल, कंट्रोल होगा ब्लड शुगर लेवल

डायबिटीज को दूर भगा देंगी ये 4 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां

डायबिटीज डाइट : मधुमेह में क्या खाएं (Diabetes-Friendly Diet)

डायबिटीज के लिए सही आहार लेना जरूरी है. डायबिटीज़ (शुगर, मधुमेह) में आहार बहुत मायने रखता है. स्वस्थ आहार आम तौर पर अस्वास्थ्यकर आहार की तुलना में अधिक महंगा होता है. कम पोषक तत्वों वाले सस्ते भोजन की व्यापक उपलब्धता से टाइप 2 मधुमेह की वैश्विक महामारी में इजाफा होता है. सब्जियों, ताजे फलों, साबुत अनाजों और असंतृप्त वसा जैसे टाइप 2 मधुमेह के जोखिम को कम करने वाले खाद्य पदार्थों की व्यापक रूप से उपलब्धता और दाम कम किये जाने की आवश्यकता है. ऐसे में जरूरी है कि आप डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए डायबिटीज लेवल को नियंत्रण में रखें. इसके लिए डायबिटीज डाइट का पालन करना चाहिए. बाजार में बहुत सी डायबिटीज की दवा भी मौजूद हैं, लेकिन बिना डॉक्टरी सलाह के आप उनका उपभोग न करें. डायबिटीज के लिए सही आहार लें.

क्या डायबिटीज में खा सकते हैं आलू और चावल? यहां हैं स्पेशलिस्ट के जवाब

Home Remedies: डायबिटीज में फायदेमंद हैं ये 5 चीजें, ब्लड शुगर कंट्रोल करने के कारगर नुस्खे

नेशनल हेल्थ सर्विस ने ऐसे कई खाद्य पदार्थों के बारे में बताया है जिनमें फ्रूट, सब्जियों के साथ साथ पास्ता जैसे स्टार्ची फूड का भी जिक्र है जिसमें शुगर, फैट और नमक कम मात्रा में हो. लेकिन कई अध्ययनों में यह बात सामने आई कि ऐसे कई खाद्य पदार्थ और जूस हैं जिनको पीने से आप ब्लड शुगर लेवल को कम कर सकते हैं. 

इन्हीं में से एक है हरे रंग का जूस. जो सेहत को और भी कई फायदे देता है. हरी पत्तेदार सब्जी से बना यह जूस कई अध्ययनों में ब्लड शुगर को कंट्रोल करने वाला साबित हुआ. एक सामान्य स्तर पर किए गए अध्ययन में यह बात पता चली है कि हरी पत्तेदार सब्जियों में ऐंटिऑक्सिडेंट की मात्रा ज्यादा होती है. ऐसे में ये सब्जियां डायबीटीज के मरीजों के लिए रामबाण साबित होती हैं.

क्या डायबिटीज में खा सकते हैं आलू और चावल? यहां हैं स्पेशलिस्ट के जवाब

इसके साथ ही साथ कुछ अध्ययनों में यह बात भी सामने आयी है कि गाभी जैसी दिखने वाली सब्जी केल (Kale Juice) का जूस ब्लड शुगर को कंट्रोल करने मे कारगर है. केल का जूस डायबीटीज के साथ-साथ हाई बीपी से परेशान लोगों के लिए भी फायदेमंद है.

8t95a5b8

Diabetes Causes in Hindi: डायबिटीज के कारण समझ कर उसका इलाज जरूरी है. Photo Credit: iStock

डायबिटीज को कंट्रोल करने के उपाय | Type 2 Diabetes: Steps to Better Health

डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए करें एक्सरसाइज : व्यायाम अधिक से अधिक करें. व्यायाम से विभिन्न लाभ होते हैं, जिनमें वजन बढ़ना, रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करना और अन्य स्थितियां शामिल हैं. हर दिन कम से कम 30 मिनट की शारीरिक गतिविधि बहुत फायदेमंद है.

मधुमेह होगा ठीक अगर लेंगे सही भोजन: सेहतमंद भोजन खाएं. साबुत अनाज, फल और सब्जियों से भरपूर आहार शरीर के लिए बहुत अच्छा होता है. रेशेदार भोजन यह सुनिश्चित करेगा कि आप लंबी अवधि के लिए पेट भरा महसूस करें और किसी भी तरह की तलब को रोकें. जितना हो सके, प्रोसेस्ड और रिफाइंड फूड से बचें.

Clove For Diabetes: लौंग करेगी ब्लड शुगर को कंट्रोल, लौंग के फायदे

डायबिटीज में क्या खाएं और क्या नहीं : शराब के सेवन को सीमित करें और धूम्रपान छोड़ दें. बहुत अधिक शराब वजन बढ़ाने की ओर ले जाती है और आपके रक्तचाप और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को बढ़ा सकती है. पुरुषों को दो ड्रिंक प्रतिदिन और महिलाओं को एक ड्रिंक प्रतिदिन तक सीमित रखना चाहिए. धूम्रपान करने वालों को धूम्रपान न करने वालों की तुलना में मधुमेह का दोगुना रिस्क रहता है. इसलिए, इस आदत को छोड़ना एक अच्छा विचार है.

अपने जोखिम कारकों को समझें. ऐसा करना आपको जल्द से जल्द निवारक उपाय करने और जटिलताओं से बचने में मदद कर सकता है. (इनपुट: आईएएनएस)

और खबरों के लिए क्लिक करें.

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------