होम »  ख़बरें »  केरल में बर्ड फ्लू का खौफ, दो जिलों में मुर्गी, बत्तख को मारने की कार्रवाई शुरू

केरल में बर्ड फ्लू का खौफ, दो जिलों में मुर्गी, बत्तख को मारने की कार्रवाई शुरू

बर्ड फ्लू की रोकथाम के लिए केरल के दो जिलों अलप्पुझा और कोझिकोड के कुछ हिस्सों में मंगलवार को मुर्गियों और बत्तखों को मारने की कार्रवाई शुरू की गई. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी.

केरल में बर्ड फ्लू का खौफ, दो जिलों में मुर्गी, बत्तख को मारने की कार्रवाई शुरू

बर्ड फ्लू की रोकथाम के लिए केरल के दो जिलों अलप्पुझा और कोझिकोड के कुछ हिस्सों में मंगलवार को मुर्गियों और बत्तखों को मारने की कार्रवाई शुरू की गई. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि प्रशासन द्वारा गठित त्वरित प्रतिक्रिया दल ने सरकार द्वारा निर्धारित दिशा-निर्देशों के तहत मंगलवार सुबह से दोनों जिलों के प्रभावित क्षेत्र के एक किलोमीटर की परिधि में बत्तखों, मुर्गियों और अन्य घरेलू पक्षियों को मारने की कार्रवाई शुरू की.

दोनों जिलों से भोपाल की प्रयोगशाला में भेजे गए नमूनों में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के एक दिन बाद यह अभियान शुरू किया गया है. अलप्पुझा जिला प्रशासन ने कहा कि कुट्टनाड क्षेत्र की चार पंचायतों नेदुमुदी, तकाजी, पल्लिप्पद और करुवत्ता में अभियान शुरू किया गया, जोकि बुधवार शाम तक पूरा होने की संभावना है. इन्हीं इलाकों में बर्ड फ्लू के मामले सामने आए थे.
एक अधिकारी ने कहा कि अकेले करुवत्ता पंचायत क्षेत्र में ही करीब 12,000 पक्षियों को मारा जाएगा.


प्रशासन के मुताबिक, कोट्टायम जिले की प्रभावित नींदूर पंचायत में अब तक करीब 3,000 पक्षियों को मारा जा चुका है.
नींदूर के एक बतख पालन केंद्र में बर्ड फ्लू वायरस संक्रमण के कारण करीब 1,700 बत्तखों की मौत हो गई थी. अधिकारियों के मुताबिक, वायरस के प्रसार की रोकथाम के लिए कुट्टनाड क्षेत्र में ही करीब 40,000 पक्षियों को मारा जाएगा.

हालात काबू में होने के बावजूद प्रशासन ने जिलों में हाई अलर्ट जारी किया है क्योंकि यह वायरस मनुष्य को भी संक्रमित करने की क्षमता रखता है. अलप्पुझा के जिलाधिकारी ने कुट्टनाड और कार्थिकपल्ली तालुकाओं में मुर्गी और बत्तख समेत अन्य घरेलू पक्षियों के मांस, अंडों आदि की बिक्री और कारोबार पर रोक लगा दी है.

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

सर्दियों में हर किसी को क्यों करना चाहिए सोंठ का सेवन? यहां जानें 6 दिलचस्प कारण

एक्सपर्ट से जानें डायबिटीज रोगियों को यात्रा करते समय किन जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए!

How To Heal Kidney: नेचुरल तरीके से किडनी को हील करने के लिए कारगर हैं ये 7 उपाय!


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Home Remedies For Cracked Heels: फटी एड़ियों को ठीक करने के लिए कारगर हैं ये 4 उपाय



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------