होम »  लिविंग हेल्दी »  स्ट्रेंथ ट्रेनिंग से जुड़े 6 मिथक और पूरा सच

स्ट्रेंथ ट्रेनिंग से जुड़े 6 मिथक और पूरा सच

स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करने से दिमाग में एंडोर्फिन का स्तर बढ़ता है, जो कि आपको ऊर्जावान रखने के साथ दिमाग को भी शांत रखता है और इसके साथ ही इस ट्रेनिंग से तनाव से भी छुटकारा मिलता है. लेकिन स्ट्रेंथ ट्रेनिंग को लेकर लोगों में कई भ्रांतियां है जिसकी वजह से वे इससे दूर भागते हैं.

स्ट्रेंथ ट्रेनिंग से जुड़े 6 मिथक और पूरा सच

Easy Strength Training Exercises: स्ट्रेंथ ट्रेनिंग का लक्ष्य मांसपेशियों को मजबूत और हानिकारक वसा से रहित बनाना होता है.

स्ट्रेंथ ट्रेनिंग ऐसी एक्सरसाइज है जिसे नियमानुसार करना जरूरी होता है. स्ट्रेंथ ट्रेनिंग में वजन, इलास्टिक बैंड्स या शरीर के वजन से ही कसरत की जाती है. मांसपेशियों की ताकत, आकार और शक्ति को बढ़ाने का यह बेहतरीन तरीका है. इससे आपके लचीलेपन और गति की सीमा में भी सुधार आता है. स्ट्रेंथ ट्रेनिंग से मांसपेशियों की सहनशीलता और ताकत बढ़ती है जिससे महिलाओं और पुरुषों दोनों को फायदा होता है. स्ट्रेंथ ट्रेनिंग की मदद से पेट सहित पूरे शरीर के फैट को कम कर मसल्स को मजबूत बनाया जा सकता है. स्ट्रेंथ ट्रेनिंग न केवल वजन घटाने में मदद करता है, बल्कि इसका इस्तेमाल वजन बढ़ाने के लिए भी कर सकते हैं. स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करने से दिमाग में एंडोर्फिन का स्तर बढ़ता है, जो कि आपको ऊर्जावान रखने के साथ दिमाग को भी शांत रखता है और इसके साथ ही इस ट्रेनिंग से तनाव से भी छुटकारा मिलता है. लेकिन स्ट्रेंथ ट्रेनिंग को लेकर लोगों में कई भ्रांतियां है जिसकी वजह से वे इससे दूर भागते हैं.

आज हम आपको कुछ ऐसे मिथकों से रूबरू करवाएंगे जिनका वास्तविकता से कोई लेना देना नहीं है.


जिम जाना और भारी-भरकम मशीनों का प्रयोग

प्रशिक्षण के ये तरीके निश्चित रूप से प्रभावी हो सकते हैं, लेकिन वजन कम करने के और भी तरीके हैं. स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करने के लिए आपको जिम जाने और मशीनों का उपयोग करने की जरूरत नहीं है. कम से कम उपकरणों के साथ, आप वह सब कुछ कर सकते हैं जो आपको करने के जरूरत है.

स्ट्रेंथ ट्रेनिंग महिलाओं के लिए नहीं है

जाहिर है, यह मिथक केवल आधी आबादी पर लागू होता है, और सौभाग्य से यह एक मिथक है जो तेजी से मर रहा है. एक्सरसाइज केवल पुरूषों के लिए है, ये अब बीते जमाने की बात है. 2015 क्रॉसफिट गेम्स ओपन में 87, 000 से अधिक महिलाओं ने भाग लिया और उनमें से एक चौथाई से अधिक की उम्र 40 से ज्यादा थी. अब महिलाएं अपने स्वास्थ्य के लिए जागरूक हैं और स्ट्रेंथ ट्रेनिंग की मदद से खुद को फिट रख रही हैं.

आप तुरंत नतीजे पाने की उम्मीद

जैसे आप रातों-रात करोड़पति नहीं बनते वैसे ही किसी भी एक्सरसाइज के रिजल्ट आपको तुरंत नहीं मिलते. स्ट्रेंथ ट्रेनिंग शरीर को पतला, सुडौल मांसपेशियों के साथ सिकोड़ने का सबसे प्रभावी तरीका है. अगर आप नियमित रूप से स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करते हैं तो 6 से 8 सप्ताह के बाद वास्तविक और सटीक परिणाम देखने को मिलेंगे. इसलिए प्रतिबद्धता बनाएं, और फिर उस पर टिके रहें. आपको खुशी होगी कि आपने किया.

वेट लॉस के लिए केवल कार्डियो एक्सरसाइज करनी चाहिए

कार्डियो फैट बर्न करने में एक अहम एक्सरसाइज हो सकती है लेकिन यह अकेला ऐसा व्यायाम नहीं है जो ऐसा कर सकता है. स्ट्रेंथ ट्रेनिंग आपकी मांसपेशियों को संरक्षित करने में मदद करती है और साथ ही साथ आपकी मांसपेशियों को बढ़ाती है और आपके पास जितनी अधिक मांसपेशी होती है, उतनी अधिक कैलोरी आप पूरे दिन बर्न कर सकते हैं.

Thinning Hair: क्यों हो जाते हैं बाल हल्के और पतले, इससे कैसे बचें

मांसपेशियों को टोन करने के लिए हल्का वजन उठाना चाहिए

यह एक और मिथक है, इसे 'द पिंक डम्बल मिथक' कहा जाता है. स्ट्रेंथ ट्रेनिंग का लक्ष्य मांसपेशियों को मजबूत और हानिकारक वसा से रहित बनाना होता है. यही कारण है कि नियमित रूप से आपके द्वारा उठाए जा रहे वजन को बढ़ाना जरूरी है. हर बार जब आप अपने शरीर को भारी वजन के साथ चुनौती देते हैं, इससे मांसपेशियों में माइक्रोटीयर्स पैदा हो जाते हैं. जैसे ही आपका शरीर अमीनो एसिड के साथ उन माइक्रोटीयर्स की मरम्मत करता है, इससे मांसपेशियां मजबूत, कड़ी और अधिक कॉम्पैक्ट हो जाती हैं.

Ghee Benefits For Skin And Hair: घी के बालों और स्किन के लिए हैं ये अद्भुत फायदे, जान लें कैसे करें इस्तेमाल

स्ट्रेंथ ट्रेनिंग से बॉडी हल्क जैसी हो जाती है

यह एक और लोकप्रिय मिथक है जो इस तथ्य के बावजूद कायम है कि महिलाओं में आमतौर पर बड़ी मांसपेशियों के निर्माण के लिए आवश्यक हार्मोन (अर्थात्, टेस्टोस्टेरोन) की संख्या नहीं होती है. वास्तव में, यहां तक कि पुरुष मांसपेशियों को हासिल करने के लिए संघर्ष करते हैं, जिसका एक कारण है स्टेरॉयड पुरुषों के लिए लोकप्रिय दवा है जो बड़ी मांसपेशियों का निर्माण करना चाहते हैं. चूंकि महिलाएं भारी भरकम शरीर से डरती है और खुद ऐसी कल्पना भी उन्हें पसंद नहीं. हालांकि इसमें सच्चाई जैसा कुछ नहीं है.

इन 7 चीजों का सेवन करने से भी झड़ सकते हैं आपके बाल, नजरअंदाज न करें आज से ही करें परहेज

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

Immune System: इम्यूनिटी को प्रभावित करने वाले कारक और इसे बढ़ाने के शानदार उपाय

Jumping Jacks Benefits: वे 3 कारण जिनकी वजह से कुछ लोग जंपिंक जैक नहीं कर पाते हैं


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Squat With Weights Exercise: कुछ वेट के साथ भी कर सकते हैं स्क्वाट एक्सरसाइज, यहां हैं 6 शानदार तरीके

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------