होम »  लिविंग हेल्दी »  Lungs And Air Pollution: फेफड़ों के लिए कितना पॉल्यूशन खतरनाक है? किन लोगों को सबसे ज्यादा खतरा? जानें कैसे करें बचाव

Lungs And Air Pollution: फेफड़ों के लिए कितना पॉल्यूशन खतरनाक है? किन लोगों को सबसे ज्यादा खतरा? जानें कैसे करें बचाव

How Pollution Affects Lungs: फेफड़े मानव शरीर में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. वायु प्रदूषण में वृद्धि आपके फेफड़ों के स्वास्थ्य (Lungs Health) को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है. फेफड़ों के स्वास्थ्य पर प्रदूषण (Pollution) के प्रभाव और बचाव के उपाय जानने के लिए विशेषज्ञों की राय पढ़ें...

Lungs And Air Pollution: फेफड़ों के लिए कितना पॉल्यूशन खतरनाक है? किन लोगों को सबसे ज्यादा खतरा? जानें कैसे करें बचाव

उच्च प्रदूषण का स्तर आपके फेफड़ों और अन्य अंगों के लिए भी हानिकारक है

खास बातें

  1. वायु प्रदूषण का आपके फेफड़ों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है.
  2. यह आपकी त्वचा और अन्य अंगों के लिए भी हानिकारक है.
  3. प्रदूषण का स्तर बहुत अधिक होने पर घर के अंदर रहें.

How To Keep Lungs Healthy In Pollution: उच्च प्रदूषण का स्तर कई मायनों में आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है. यह विशेष रूप से आपके फेफड़ों के स्वास्थ्य (Lungs Health) को खराब करता है. फेफड़े श्वसन प्रणाली का हिस्सा हैं और फेफड़ों का कैंसर (Lung Cancer) सबसे आम प्रकार के कैंसर में से एक है. संभावित जोखिम कारकों से अपने फेफड़े की सुरक्षा करना बेहद महत्वपूर्ण है. प्रदूषण के लंबे समय तक संपर्क इन जोखिम कारकों में से एक है. प्रदूषण (Pollution) के बहुत अधिक संपर्क से आपके फेफड़ों से जुड़ी कई अन्य बीमारियों का खतरा भी बढ़ सकता है, लेकिन बहुतों को इस बात की जानकारी नहीं होती है कि आपके फेफड़ों में प्रदूषण से क्या होता है और आपके फेफड़ों की सुरक्षा कैसे की जा सकती है? विभिन्न विशेषज्ञों से इन प्रश्नों के उत्तरों को जानने के लिए पढ़ते रहें...

सर्दी और फ्लू से छुटकारा पाने के लिए ग्रीन टी में मिलाएं हल्दी और अदरक, मजबूत होगी इम्यूनिटी!

फेफड़ों के स्वास्थ्य पर वायु प्रदूषण का प्रभाव | Effect Of Air Pollution On Lung Health


डॉ. कुमार प्रभाष बताते हैं, "प्रदूषण से सूजन, एंजाइम गतिविधि में बदलाव, जीनोटॉक्सिक प्रभाव, फेफड़े और म्यूटेजेनिक प्रभाव में लिम्फोइड टिशू के संशोधन होते हैं. फेफड़ों पर इन प्रभावों से विभिन्न बीमारियां होती हैं. वे अस्थमा, फाइब्रोसिस के एपिसोड में वृद्धि का कारण बनती हैं. फेफड़े, क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज, फेफड़े के कैंसर आदि. वे इन रोगियों में फेफड़ों के कार्य को अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित कर सकते हैं.

सर्दियों में खांसी कर रही है आपको बेहाल, तो ये कारगर देसी नुस्खे हैं अचूक उपाय, जल्द मिलेगी निजात!

1pt4hlkफेफड़े का कैंसर दुनिया भर में सबसे आम कैंसर में से एक है

किन लोगों को है ज्यादा जोखिम? | Which People Are At Greater Risk

“डॉ. प्रभाष कहते हैं, लंबे समय तक प्रदूषण के संपर्क में रहने से किसी को भी खतरा हो सकता है, लेकिन कुछ लोगों को इसका खतरा बढ़ जाता है. अगर बच्चों का जोखिम बढ़ जाता है तो उनके शरीर का विकास प्रभावित हो सकता है. मौजूदा फेफड़ों की बीमारी के कारण वयस्कों में जटिलताओं का खतरा बढ़ जाता है. बुजुर्गों की आबादी और कई कॉमरेडिटी वाले लोग। उच्च रक्तचाप, मधुमेह, हृदय रोगों आदि की तरह फिर से जटिलताओं की संभावना अधिक होती है.

Food For Cold-Cough: सर्दी-जुकाम से निजात पाने के लिए ये 5 फूड्स हैं अचूक उपाय, तुरंत कर लें डाइट में शामिल!

क्या धूम्रपान न करने वालों को भी फेफड़े के कैंसर का खतरा है?

डॉ. नितेश रोहतगी ने विस्तार से बताया, "फेफड़े का कैंसर ज्यादातर धूम्रपान से जुड़ा होता है. जबकि यह अब तक का सबसे आम कारण है, लेकिन यह एकमात्र कारण नहीं है. दुनिया भर में फेफड़ों के कैंसर का कारण 5% तक प्रदूषण होता है. यह अक्सर एक कठिन सवाल होता है. जब आप पूछते हैं कि प्रदूषण से संबंधित फेफड़ों के कैंसर से कैसे बचा जा सकता है या कम किया जा सकता है. इसका कोई सीधा जवाब नहीं है, लेकिन निश्चित रूप से, सरल परिवर्तन मदद कर सकते हैं. इनडोर पौधों और समय के साथ प्रदूषण के संपर्क की मात्रा की निगरानी करना स्पष्ट रूप से कुछ लाभ के हैं. डीजल, गैसों और धुएं के सीधे संपर्क से बचने से मदद मिल सकती है.”

फेफड़ों कितना प्रदूषण है हानिकारक? | How Much Pollution Is Lung Harmful?

"पीएम 2.5 या उससे कम कण आकार का प्रदूषण फेफड़ों के लिए खतरनाक है. जिम्मेदार गैसों में नाइट्रोजन ऑक्साइड, सल्फर ऑक्साइड, कार्बन डाइऑक्साइड, वाष्पशील कार्बनिक कार्बन और फ़्यूरान आदि शामिल हैं. इनमें से मुख्य स्रोत वाहनों, उद्योग, निर्माण, धूल और से आता है. बर्कले के अनुमान के अनुसार, प्रत्येक 22.5 पीपीएम को एक सिगरेट के बराबर माना जाता है. इसलिए, अगर पीपीएम 500 है, तो प्रति दिन लगभग 24 सिगरेट पी रहे हैं. अगर धूम्रपान सूचकांक लगभग 300 है, (धूम्रपान 30). दस साल तक प्रति दिन सिगरेट) एक फेफड़े के कैंसर के विकास का बहुत अधिक जोखिम है. इसके अलावा, जो कोई धूम्रपान करता है, उसके फेफड़ों के कैंसर होने का खतरा काफी बढ़ जाता है. आपके आस-पास की हवा के शुद्धिकरण के प्रभाव को कम करने की आवश्यकता होती है. वायु प्रदूषण की रोकथाम फेफड़ों को नुकसान से बचने के लिए महत्वपूर्ण है. "डॉ श्याम अग्रवाल बताते हैं.

Drinks For Digestion: अपच, कब्ज और एसिडिटी, पेट की हर समस्या के लिए अचूक उपाय हैं ये आयुर्वेदिक ड्रिंक्स!

ph011hcधूम्रपान से फेफड़े के कैंसर का खतरा काफी बढ़ जाता है

प्रदूषण के प्रतिकूल प्रभाव को कैसे रोकें?

पूरे साल फेफड़ों को अच्छा रखने के लिए रोजाना व्यायाम करना चाहिए. फलों और सब्जियों से बना एक अच्छा आहार भी विषहरण और फेफड़ों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करता है. प्रदूषकों के लिए कम जोखिम, कोई धूम्रपान या तंबाकू का उपयोग फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए सबसे अच्छा उपाय है. घर के अंदर प्रदूषकों को कम करने के लिए घर के अंदर साफ रखें.

सर्दियों मे क्यों जरूर पीना चाहिए गर्म पानी? ये होते हैं 6 शानदार फायदे, आज से ही शुरू कर दें सेवन!

(डॉ. कुमार प्रभाष, प्रोफेसर और एचओडी, मेडिकल ऑन्कोलॉजी, टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल, मुंबई)

(डॉ. नितेश रोहतगी, सीनियर कंसल्टेंट और एसोसिएट डायरेक्टर, मेडिकल ऑन्कोलॉजी, मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल और मैक्स इंस्टीट्यूट ऑफ कैंसर केयर, नई दिल्ली)

(डॉ. श्याम अग्रवाल, सीनियर कंसल्टेंट और चेयरपर्सन, मेडिकल ऑन्कोलॉजी, सर गंगाराम हॉस्पिटल, दिल्ली)

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

Planning Of Pregnancy: 35 की उम्र के बाद कर रहे हैं प्रेगनेंसी प्लान, तो आपको जरूर पता होनी चाहिए ये बातें

सुबह खाली पेट पिएं आंवला-जीरा पानी मिलेंगे ये चमत्कारी फायदे, बेहतर रिजस्ट के लिए रोजाना करें सेवन!

Skin Care Tips: डैमेज और रूखी-सूखी त्वचा को फिर से हेल्दी बनाने के लिए यहां है कारगर उपाय

वजन कम करने, पेट की चर्बी और बॉडी फैट घटाने के लिए जरूर खाएं ये 5 फल, आज से ही करें डाइट में शामिल


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------