होम »  लिविंग हेल्दी »  लगातार हो रही गले में खराश के ये हो सकते हैं कारण... जानिए बचाव के घरेलू उपाय

लगातार हो रही गले में खराश के ये हो सकते हैं कारण... जानिए बचाव के घरेलू उपाय

आपने अपने गले में कितनी बार जलन या खराश का अनुभव किया है? यदि आपको अक्सर बदहजमी रहती हैं या आप नियमित रूप से अल्कोहल लेते हैं, तो गले में खराश हो सकती है.

लगातार हो रही गले में खराश के ये हो सकते हैं कारण... जानिए बचाव के घरेलू उपाय

आपने अपने गले में कितनी बार जलन या खराश का अनुभव किया है? यदि आपको अक्सर बदहजमी रहती हैं या आप नियमित रूप से अल्कोहल लेते हैं, तो गले में खराश हो सकती है. जलन या गले में दर्द चिंता का कारण नहीं है. सीने में जलन, सामान्य सर्दी, फ्लू, पोस्ट-नेसल ड्रिप, गले में इंफेक्‍शन, टॉन्सिल जैसी स्थितियां गले में खराश पैदा करती हैं.

Cholesterol: कोलेस्‍ट्रॉल के लेवल को कम करने में ये 8 आयुर्वेदिक डाइट टिप्‍स आएंगे काम

गले में खराश के ये हैं आम कारण:


1. सीने में जलन
जीईआरडी आमतौर पर छाती में जलन का कारण बनता है. इसमे पेट का एसिड या पित्त खाने की नली में आ जाता है और उसकी अंदरूनी परत में जलन करने लगता है. कभी-कभी, यह एसिड कई बार गले और व्हॉइस बॉक्स तक पहुंच जाता है. जीईआरडी भी पुरानी गले की खराश, पुरानी खांसी, गला बैठने का कारण बन सकता है.

सर्दियों में रहेंगे हेल्‍दी, अगर डाइट में शामिल करेंगे ये सब्जियां...

2. वायरल इंफेक्‍शन
वायरल इंफेक्‍शन गले की खराश का सबसे आम कारण है. वायरल इंफेक्‍शन से खांसी, नाक में खुजली, बच्चों में डायरिया और गला बैठने के साथ-साथ खराश होने लगती है. वायरल संक्रमण का इलाज डॉक्‍टर द्वारा बताई गई दवाओं और आराम करके किया जा सकता है. वायरल इंफेक्‍शन के कारण बॉडी पेन, बुखार, टॉन्सिल पर सफेद पैच, गर्दन में सूजन भी हो सकती है.

tpd38kfo

Photo Credit: iStock

3. बर्निंग माउथ सिंड्रोम
होंठ, जीभ, मसूड़ों और मुंह की जलन बर्निंग माउथ सिंड्रोम कहलाती है. इस बीमारी से पीड़ित व्‍यक्ति का मुंह सूखने लगता है.

ब्‍लड शुगर का लेवल फ्री होगा लो, ये 10 सप्‍लीमेंट्स अपनाकर देखें

4. पोस्ट नेसल ड्रिप नाक
पोस्ट नेसल ड्रिप नाक या साइनस से गले के पिछले हिस्से में म्यूकस के स्राव के बहने को कहा जाता है. इससे गले में किसी चीज के रिसाव की अनुभूति होने लगती है और गले में खराश होने लगती है. पोस्ट नेसल ड्रिप खांसी का कारण बन सकता है, क्योंकि इस दौरान आप लगातार अपने गले को साफ़ करने की कोशिश करते हैं. साइनस संक्रमण, वायरल संक्रमण और एलर्जी पोस्ट नेसल ड्रिप का कारण बन सकते हैं.

कीटो डाइट ट्राई करने पर ये लिक्विड हैं परफेक्‍ट, ट्राई करके देंखे

5. एसोफैगस की सूजन
गले में सूजन जिसे, एसोफैगिटिस के रूप में जाना जाता है, गले की खराश का कारण हो सकती है. जीईआरडी एसोफैगस यानी मुंह से पेट तक भोजन व पानी ले जाने वाली नली में सूजन का कारण बन सकता है. जब स्‍टमक एसिड गले में आ जाता है, तो यह जलन और सूजन का कारण बनता है, जिससे गले में खराश होने लगती है. इससे आपको खाना निगलने में दर्द भी हो सकता है.

गले की खराश को दूर करने में मदद कर सकते हैं ये घरेलू नुस्‍खे:

1. गले में अगर दर्द है तो गरारे करने से फायदा होगा. गुनगुने पानी में थोड़ा-सा नमक मिलाएं और दिन में कई बार गरारे करें. 

Home Remedies: डायबिटीज में फायदेमंद हैं ये 5 चीजें, ब्लड शुगर कंट्रोल करने के कारगर नुस्खे

2. सामान्य सर्दी या इन्फ्लूएंजा के कारण गले की खराश से राहत पाने के लिए आप गोलियां चूस सकते हैं. ये गोलियां औषधीय टैबलेट है, जो खांसी को रोकने में मदद करती हैं और गले के ऊतकों को आराम पहुंचाती हैं.

3. अधिक मात्रा में गर्म लिक्विड लेना जैसे शहद वाली चाय, गर्म सूप गले की खराश में आराम पहुंचा सकते हैं.

Basil Seeds Benefits: सब्जा बीज के 5 फायदे, जिन्हें जानना जरूरी है!

सामान्य परिस्थितियों में, आपका गला कुछ दिनों के अंदर बेहतर हो जाएगा. लेकिन यदि दर्द एक हफ्ते से अधिक समय तक जारी रहता है या गंभीर हो जाता है, तो आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए. इसके अलावा, अगर बुखार हो गया है, खाना निगलने में परेशानी, सांस लेने में कठिनाई, कफ या लार में खून, गर्दन में गांठ या भारी आवाज हो रही है और यह 2 सप्ताह से अधिक समय तक चलती है, तो फौरन डॉक्‍टर से मिलें.

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------