होम »  लिविंग हेल्दी »  जानें डिमेंशिया के शुरुआती लक्षण, कैसे एंटीबायोटिक्स से संभव है इलाज!

जानें डिमेंशिया के शुरुआती लक्षण, कैसे एंटीबायोटिक्स से संभव है इलाज!

Dementia Treatment : एंटीबायोटिक्स (Antipsychotics) की एक क्लास एमिनोग्लीकोसाइड्स (Aminoglycosides) के माध्यम से शुरुआती डिमेंशिया (पागलपन) का अच्छा उपचार हो सकता है. फ्रंटोटेम्पोरल डिमेंशिया (Frontotemporal Dementia (FTD), शुरुआती डिमेंशिया का सबसे आम प्रकार (Types Of Dementia) है. बता दें क‍ि ड‍िमेंशिया के लक्षणों (Dementia Symptoms) में व्यवहार में बदलाव, बोलने और लिखने में कठिनाई और स्मृति में गिरावट (Memory Loss) होती है.

जानें डिमेंशिया के शुरुआती लक्षण, कैसे एंटीबायोटिक्स से संभव है इलाज!

Dementia Symptoms: ड‍िमेंशिया के लक्षणों में व्यवहार में बदलाव, बोलने और लिखने में कठिनाई और स्मृति में गिरावट होती है.

एंटीबायोटिक्स (Antipsychotics) की एक क्लास एमिनोग्लीकोसाइड्स (Aminoglycosides) के माध्यम से शुरुआती डिमेंशिया (पागलपन) का अच्छा उपचार हो सकता है. शोधकर्ता ने एक शोध में इस बात का पता लगाया है. फ्रंटोटेम्पोरल डिमेंशिया (Frontotemporal Dementia (FTD), शुरुआती डिमेंशिया का सबसे आम प्रकार (Types Of Dementia) है, जो आमतौर पर 40 और 65 की उम्र के बीच शुरू होता है. यह मस्तिष्क के फ्रंटोल और टेंपोरल लोब को प्रभावित करता है. अब आप सोच रहे होंगे क‍ि डिमेंशिया के लक्षण क्‍या हैं, तो आपको बता दें क‍ि ड‍िमेंशिया के लक्षणों (Dementia Symptoms) में व्यवहार में बदलाव, बोलने और लिखने में कठिनाई और स्मृति में गिरावट (Memory Loss) होती है.

ह्यूमन मॉलिक्यूलर जेनेटिक्स में छपे एक शोध के अनुसार, फ्रंटोटेम्पोरल डिमेंशिया के रोगियों के एक सबग्रुप में एक विशिष्ट जेनेटिक म्यूटेशन होता है. यह मस्तिष्क की कोशिकाओं को प्रोग्रानुलिन नामक प्रोटीन बनाने से रोकता है.

हालांकि, प्रोग्रानुलिन को व्यापक रूप से नहीं समझा जा सका है, लेकिन इसकी अनुपस्थिति सीधे तौर पर बीमारी से जुड़ी हुई है.


अमेरिका स्थित केंटकी विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने पाया कि इस म्यूटेशन के साथ न्यूरोनल कोशिकाओं में अमीनोग्लाइकोसाइड एंटीबायोटिक्स के जुड़ने के बाद कोशिकाओं ने म्यूटेशन को छोड़ दिया और फुल लेंथ के प्रोग्रानुलिन प्रोटीन बनाना शुरू कर दिया. (इनपुट-आईएएनएस)

और खबरों के लिए क्लिक करें.

क्यों महिलाओं का बढ़ती उम्र में संबंध बनाने का मन नहीं करता? जानें पूरा सच

ऑर्गेज्म तक न पहुंच पाने के ये हो सकते हैं कारण, आपको भी जरूर जानने चाहिए

Sexual Hygiene Tips: हेल्‍दी सेक्‍शुअल लाइफ के लिए ध्यान रखें ये 4 बातें

Low sperm count: शुक्राणु को कम करती हैं रोज़ाना की ये 6 आदतें

क्या सेक्स के दौरान उनकी कुछ बातें आपको पसंद नहीं? तो ऐसे बताएं उन्हें...

बिस्तर पर उन खास पलों का बढ़ाना है समय, तो ध्यान रखें ये 5 बातें...

रात से ज्‍यादा बेहतर हैं सुबह के ‘वो खास पल'...

Sex Mistakes : संबंध बनाने के बाद महिलाओं को भूलकर भी नहीं करने चाहिए ये 5 काम

वजन का पड़ता है सेक्‍स लाइफ पर असर, कैसे वजन घटाने से हो सकती है सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरोन की कमी दूर...



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

घरेलू नुस्खे

Diabetes: ये एक चीज कंट्रोल करेगी ब्लड शुगर लेवल, घरेलू नुस्खों में होती है इस्तेमाल, डायबिटीज में भी होगा बचाव

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com