होम »  लिविंग हेल्दी »  क‍िडनी में नहीं आएगी कोई द‍िक्कत अगर अपनाएंगे ये 4 आदतें

क‍िडनी में नहीं आएगी कोई द‍िक्कत अगर अपनाएंगे ये 4 आदतें

प्रोसेस्ड और रेस्तरां से खाना कम से कम खाएं और खाने में ऊपर से नमक न डालें. अगर आप ताजा चीजों के साथ खुद खाना बनाएं, तो इससे बचा जा सकता है.

क‍िडनी में नहीं आएगी कोई द‍िक्कत अगर अपनाएंगे ये 4 आदतें

'हमारा शरीर एक मशीन की तरह है.' यह बात तो हम स्कूल में ही सीख चुके हैं, लेकि‍न अक्सर इसके साथ हम यह भूल जाते हैं क‍ि जिस तरह मशीन के कलपुर्जों का ख्याल रखने की जरूरत होती है, जिस तरह मशीन को फ्यूल, र‍िपेयर‍िंग और केयर की जरूरत होती है ठीक वैसे ही शरीर को भी उसकी अपनी जरूरतों के अनुसार देखभाल की जरूरत होती है. अगर इसका खयाल न रखा गया तो मशीन की तरह ही एक-एक कर इसके अंग भी बेकार होते जाएंगे और शरीर एक बोझ बन जाएगा... किडनी या गुर्दे भी शरीर की कार्यप्रणाली में अहम होते हैं. हमारे शरीर में दो गुर्दे होते हैं और गुर्दो में खराबी किसी भी उम्र हो सकती है. ऐसे में आपको कैसे रखना है क‍िडनी का ख्याल ये हम आपको बताते हैं कि कैसे कुछ छोटे-छोटे नियम अपनाकर भी गुर्दे की बीमारी से बचा जा सकता है-


किडनी रोगियों के लिए रामबाण साबित होगा यह उपाय, जानें इसके बारे में
 

Shatavari: क्या हैं सेक्स पावर बढ़ाने के लि‍ए मशहूर शतावरी के फायदे और नुकसान...


इन 4 चीजों से पल में हवा होगी एसिडिटी, यहां हैं घरेलू नुस्खे...

Shatavari: क्या हैं सेक्स पावर बढ़ाने के लि‍ए मशहूर शतावरी के फायदे और नुकसान...


याद रखें...
किडनी या गुर्दे को सेहतमंद बनाए रखना आपके पूरे स्वास्थ्य के लिए जरूरी है. अगर किडनी सही और एक्टिव होगी तो ब्लड प्रेशर भी ठीक रहेगा. यानी यह जरूरत से ज्यादा या उससे कम नहीं होगा. यह दोनों ही चीजें एक दूसरे के लिए जरूरी हैं. सही ब्लड प्रेशर किडनी के लिए और दुरुस्त क‍िडनी ब्लड प्रेशर के लि‍ए. सामान्य ब्लड प्रेशर 120/80 होता है. 128 से 89 को प्रि-हाईपरटेंशन माना जाता है और इसमें जीवनशैली और खानपान में बदलाव करना होता है. 140/90 से अधिक होने पर अपने डॉक्टर से खतरों के बारे में बात करें. इस बात को दिमाग में पक्का कर लें क‍ि किडनी में परेशानी के सामान्यत: दो कारण होते हैं- डायबिटीज और हाईब्लड प्रेशर हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि इन्हीं कारणों से यह समस्या होती है. डायबिटीज और हाईब्लड प्रेशर के अलावा दिल का रोग भी एक कारण होता है. 

मर्दों से ज्यादा औरतों को अपना शिकार बनाती है यह बीमारी, रखें ध्यान...

समय-समय पर कराते रहें टेस्ट
क‍िडनी को नुकसान होने या उसमें कोई समस्या उभरने का पता लगाने के लिए पेशाब की जांच और गुर्दे कैसे काम कर रहे हैं, इसके लिए रक्त की जांच की जाती है. पेशाब की जांच से एल्बुमिन नामक प्रोटीन का पता चलता है, जो सेहतमंद गुर्दो में मौजूद नहीं होता. रक्त जांच ग्लूमेरुलर फिल्ट्रशन रेट की जांच करता है. यह गुर्दो की फिल्टर करने की क्षमता होती है. 60 से कम जीएफआर गुर्दो के गंभीर रोग का संकेत होता है. 15 से कम जीएफआर गुर्दो के फेल होने का प्रमाण होता है.

किडनी के लिए कितना बुरा हो सकता है दूषित पानी, इस गांव में मर रहे हैं लोग...

ल‍िक्व‍िड का रखें ध्यान... 
हम हमेशा से सुनते आ रहे हैं कि रोज डेढ़ से दो लीटर यानी तीन से चार बड़े गिलास पानी पीने चाहिए. यह आपकी सेहत के लिए बहुत ही अच्छा माना गया है. भरपूर पानी पीने से क‍िडनी से सोडियम, यूरिया और जहरीले तत्व साफ होते हैं. इससे गुर्दों यानी कि‍डनी के लंबे रोग पैदा होने का खतरा काफी कम हो जाता है. लेकिन जरूरत से ज्यादा तरल भी न लें, क्योंकि इसके प्रतिकूल प्रभाव हो सकते हैं. गुर्दे की सेहत अच्छी बनाए रखने के लिए शरीर में पानी की उचित मात्रा रखनी होती है. इससे गुर्दो की लंबी बीमारी का खतरा बेहद कम हो जाता है.

टॉप नेफ्रोलॉजिस्ट से जानें, कैसे रखें अपनी किडनी को फिट

श्रद्धा कपूर को हुआ डेंगू, तो रुकी 'साइना' की शूटिंग | पढ़ें डेंगू से बचने के घरेलू उपाय

ड शुगर पर रखें नजर...
क‍िडनी की सेहत के लिए यह जरूरी है कि आप अपने ब्लड शुगर को कंट्रोल मे रखें. यह बात ध्यान रखनें वाली है क‍ि डायबिटीज के मरीजों में क‍िडनी खराब होने का खतरा काफी ज्यादा होता है. इसलिए अगर आप चाहते हैं कि आपके गुर्दे सेहतमंद रहें और उनमें कोई परेशानी न हो. तो इस बात का ध्यान रखें कि आपका ब्लड शुगर सही रहे. वह न कम हो न ही ज्यादा. 

हाई BP और पथरी से महिलाओं में बढ़ रहा है इस बीमारी का खतरा, हर साल 6 लाख मौतें

शकरकंदी के फायदे: डायबिटीज को करे कंट्रोल, ब्लड शुगर को रखे सही...

Thyroid Remedies: ये 5 चीजें करेंगी थाइराइड को दूर, आज ही आजमाएं

Cinnamon and honey benefits: दालचीनी और शहद के 6 फायदे, करेंगे कई रोग दूर...

डाइट हो राइट
इस बात का भी पूरा ध्यान रखें क‍ि आप सेहतमंद खाना खाएं. ऐसा खाना जो आपके वजन को नियंत्रित में रखने में आपकी मदद कर सके. अपने खाने में नमक की मात्रा कम रखें. नमक का सेवन घटाएं, प्रतिदिन केवल 5 से 6 ग्राम नमक ही लेना चाहिए. इसके लिए प्रोसेस्ड और रेस्तरां से खाना कम से कम खाएं और खाने में ऊपर से नमक न डालें. अगर आप ताजा चीजों के साथ खुद खाना बनाएं, तो इससे बचा जा सकता है.

और खबरों के लिए क्लिक करें.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------