होम »  डायबिटीज »  Fennel Seeds For Diabetes: क्या सौंफ के बीज आसानी से कंट्रोल कर सकते हैं शुगर लेवल? जानें फायदे और नुकसान

Fennel Seeds For Diabetes: क्या सौंफ के बीज आसानी से कंट्रोल कर सकते हैं शुगर लेवल? जानें फायदे और नुकसान

How To Control Blood Sugar Level: सौंफ और सौंफ के बीज एंटीऑक्सिडेंट और कई अन्य यौगिकों से भरे हुए हैं जो विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं को मैनेज करने में मदद कर सकती हैं, जिसमें टाइप 2 डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल को कम करना शामिल है.

Fennel Seeds For Diabetes: क्या सौंफ के बीज आसानी से कंट्रोल कर सकते हैं शुगर लेवल? जानें फायदे और नुकसान

Fennel Seeds For Diabetes: सौंफ सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाले औषधीय पौधों में से एक है.

खास बातें

  1. सौंफ सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाले औषधीय पौधों में से एक है.
  2. डायबिटीज कंट्रोल करने के घरेलू तरीकों में सौंफ का इस्तेमाल कर सकते हैं.
  3. पेट की सूजन जैसी पाचन समस्याओं तक के लिए सौंफ काफी लाभकारी है.

Fennel Seeds Reduce Blood Sugar: सौंफ सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाले औषधीय पौधों में से एक है. सौंफ और इसके बीज कई तरह के लाभ प्रदान करते हैं, जिससे आपको कई बीमारियों से निपटने में मदद मिलती है. डायबिटीज को कंट्रोल करने के घरेलू तरीकों में सौंफ का इस्तेमाल किया जा सकता है. यहां तक की सौंफ के बीजों को डायबिटीज डाइट में भी शामिल किया जा सकता है. पेट की सूजन जैसी पाचन समस्याओं तक को दूर करने के लिए सौंफ के बीज काफी लाभकारी हो सकेत हैं. यह दावा किया जाता है कि सौंफ के बीज एंटीऑक्सिडेंट और कई अन्य यौगिकों से भरे होते हैं जो विभिन्न स्थितियों को मैनेज करने में मदद कर सकते हैं, जिसमें टाइप 2 डायबिटीज वाले लोगों में ब्लड शगर लेवल को कम करना शामिल है.

अनगिनत फायदों से भरा है इमली जूस, वजन घटाने, पाचन में सुधार और हेल्दी लीवर के लिए है कमाल

ताजे सौंफ के बीज कैलोरी में कम होते हैं, लेकिन इसमें विटामिन सी, मैंगनीज, कैल्शियम, पोटेशियम और मैग्नीशियम जैसे महत्वपूर्ण मात्रा में पोषक तत्व होते हैं. वे क्लोरोजेनिक एसिड, लिमोनेन और क्वेरसेटिन जैसे एंटीऑक्सिडेंट में भी समृद्ध हैं. ये सभी स्वास्थ्य में सुधार और डायबिटीज, हृदय रोग और कैंसर जैसी बीमारियों का मुकाबला कर सकते हैं.


क्या सौंफ के बीज डायबिटीज रोगियों के लिए अच्छे हैं? | Are Fennel Seeds Good For Diabetes Patients?

सौंफ के बीज विटामिन सी से भरे होते हैं, जो टाइप 2 डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल को कम करने से जुड़ा हुआ है. अध्ययनों में बताया गया है कि विटामिन सी टाइप 2 डायबिटीज वाले लोगों में भोजन के बाद ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने में मदद कर सकते हैं.

मन को शांत करने के लिए अद्भुत काम कर सकते हैं ये 5 प्रभावी योग आसन, तनाव से मिलेगी मुक्ति

सौंफ और इसके बीज भी फाइबर से भरपूर होते हैं, एक पोषक तत्व जो हाई कोलेस्ट्रॉल और कुछ हृदय रोग के जोखिम कारकों को कम करने के लिए दिखाया गया है. डाइट में हाई फाइबर, विशेष रूप से घुलनशील फाइबर खाने से ब्लड शुगर लेवल में सुधार करने और टाइप 2 डायबिटीज के विकास के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है. यह भी दावा किया जाता है कि सौंफ के बीज में एक और एंटीऑक्सिडेंट बीटा-कैरोटीन, टाइप 2 डायबिटीज के रोगियों में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है. अध्ययनों से यह भी पता चला है कि सौंफ में कैंसर विरोधी गुण हो सकते हैं.

डायबिटीज डाइट में सौंफ के बीजों का उपयोग कैसे करें?

आप अपनी डाइट में सौंफ और इसके बीजों को कई तरह से शामिल कर सकते हैं. सौंफ को कच्चा खाया जा सकता है या इसे मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है. फूड्स और ड्रिंक में स्वाद बढ़ाने वाले एजेंट के रूप में सौंफ के तेल और सौंफ के बीज का उपयोग किया जाता है.

Daily Healthy Habits: सेहतमंद रहने के लिए आपको किसी भी कीमत पर फॉलो करनी चाहिए ये 5 आदतें

इष्टतम परिणामों के लिए, आप अपने सलाद में कच्चे सौंफ़ बल्ब का उपयोग कर सकते हैं या अपने शोरबा, सूप या अन्य व्यंजनों का स्वाद बढ़ाने के लिए सौंफ के बीज शामिल कर सकते हैं. विभिन्न पाचन समस्याओं और अन्य लोगों में शिशुओं में शूल को दूर करने के लिए सौंफ को भी कच्चा खाया जाता है.

क्या सौंफ और सौंफ के बीज सभी के लिए सुरक्षित हैं? | Are Fennel And Fennel Seeds Safe For Everyone?

सौंफ संभवतः सुरक्षित है जब थोड़े समय के लिए उचित खुराक में लिया जाता है, जो लोग गाजर, अजवाइन जैसे कुछ पौधों के प्रति संवेदनशील होते हैं, वे इसके प्रति एलर्जी पैदा कर सकते हैं. गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को सौंफ का उपयोग करने की सलाह नहीं दी जाती है.

Exercise For Face Fat: चेहरे की चर्बी से परेशान हैं? तो फेस फैट को कम करने के लिए ये 5 सरल व्यायाम कारगर हो सकते हैं

Increase Oxygen Level: कितना होना चाहिए ऑक्सीजन लेवल, शरीर में इसे कैसे ठीक रखें

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

Exercise For High Bp: हाई ब्लड प्रेशर को नेचुरल तरीके से कंट्रोल करने के लिए 7 इफेक्टिव और आसान एक्सरसाइज

Summer Skincare: गर्मियों में सनबर्न और टैनिंग की चिंता सता रही है? तो इनसे बचने के 3 सरल और कारगर उपाय


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Post Covid-19 Bone Health: हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए एक्सपर्ट ने दी सिर्फ इन 3 चीजों को खाने की सलाह

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------