होम »  Women's Health »  अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2019: 'जागरुकता जरूरी है' जानें फीमेल कॉन्‍डोम इस्‍तेमाल करते वक्‍त ध्‍यान रखने वाली बातें...

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2019: 'जागरुकता जरूरी है' जानें फीमेल कॉन्‍डोम इस्‍तेमाल करते वक्‍त ध्‍यान रखने वाली बातें...

कम लोग ही जानते हैं कि महिला कॉन्‍डोम (Female Condom) भी होते हैं. पुरुष कॉन्‍डोम की तुलना में यह ज्‍यादा फेमस नहीं हैं. ऐसी स्थिति में जहां पुरुष कॉन्‍डोम (Male Condom) पहनना पसंद नहीं करते, तब महिला कॉन्‍डोम का इस्‍तेमाल कर सकती हैं. पुरुष कॉन्‍डोम की तरह यह भी अनचाहे गर्भधारण (Unwanted Pregnancy) को रोकने के लिए प्रयोग किए जाते हैं. अल्फा वन एंड्रोलॉजी ग्रुप के निदेशक और यौन चिकित्सा सलाहकार अनूूप धीर ने कॉन्‍डोम के इस्‍तेमाल (How to Use a Female Condom) के दौरान कुछ जरूरी बातों के बारे में बताया है.

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2019:

कम लोग ही जानते हैं कि महिला कॉन्‍डोम (Female Condom) भी होते हैं.

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day 2019) आज यानी 8 मार्च को है. दुनिया में पहली बार महिला दिवस कब मनाया गया यह जानने के लिए यह भी जानना होगा क‍ि अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस का इति‍हास क्या है और अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस क्यों मनाया जाता है यह सब जानने के ल‍िए हमारा यह लेख पढ़ें. बहरहाल, मह‍िला द‍िवस पर बात करते हैं मह‍िलाओं की और क्योंक‍ि हम स्वास्थ्य से जुड़ी खबरें देते हैं तो मह‍िलाओं के स्वास्थ्य की. मह‍िलाएं लंबे समय तक समाज में दब-सहमी रही हैं. पुरुष प्रधान समाज में महिलाओं ने खुद को उनकी जरूरतों के अनुरूप ही ठाल लिया था. दुनिया में पहली बार मह‍िला द‍िवस (First Womens Day) अमेरिका में मनाया गया. यह साल 1909 में 28 फरवरी को सेलिब्रेट किया गया. सोशलिस्ट पार्टी ऑफ अमेरिका ने न्यूयॉर्क में 1908 में गारमेंट वर्कर्स की हड़ताल को सम्मान देने के लिए इस दिन को चुना. इसके पीछे कारण था क‍ि इस दिन महिलाएं काम के कम घंटे और बेहतर वेतनमान के लिए अपना विरोध दर्ज करवाएं सकें. यहीं से बात शुरू हुई बराबरी की. भले ही यह सेहत के मामले में न हो, लेक‍िन बराबरी की बात को चली ही. बाद में यूरोप में 8 मार्च को पीस ऐक्टिविस्ट्स के समर्थन के ल‍िए औरतों ने रैलियां कीं थीं. इसके बाद आधिकारिक तौर पर यूनाइटेड नेशन्स ने 8 मार्च, 1975 को पहला अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया. आज यानी 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day 2019) मनाया जा रहा है. हर साथ वुमन्स डे (Women's Day) की थीम तय की जाती है.

International Women's Day 2019: क्या है महिला दिवस का इत‍िहास? जानिए कौन सी बीमारी मर्दों से ज्यादा औरतों को शिकार बनाती है

ऑर्गेज्म तक न पहुंच पाने के ये हो सकते हैं कारण, आपको भी जरूर जानने चाहिए


इस साल की थीम है #BalanceforBetter. इसका मतलब है क‍ि साल 2019 के महिला द‍िवस पर जेंडर बैलेंस पर ध्यान खींचा गया है. जब बात मह‍िलाओं की हो रही है तो उनकी सेहत से जुड़े मुद्दों को दरक‍िनार नहीं क‍िया जा सकता. तो बात आज ऐसे मुद्दे पर करते हैं जहां बेहतर के लिए संतुलन जरूरी है. यानी उस व‍िषय की ज‍िस पर महिलाओं के लिए बात करना ही कठ‍िन सा हो जाता है, जबकि पुरुष इसमें कम झिझकते हैं. बात करते हैं यौन जीवन में आने वाली परेशान‍ियो को कम करने के लिए इस्तेमाल क‍िए जाने वाले कॉन्‍डोम (Condom) की. इसके बारे में जागरुकता की बहुत जरूरत है. कम लोग ही जानते हैं कि महिला कॉन्‍डोम (Female Condom) भी होते हैं.

पुरुष कॉन्‍डोम की तुलना में यह ज्‍यादा फेमस नहीं हैं. ऐसी स्थिति में जहां पुरुष कॉन्‍डोम (Male Condom) पहनना पसंद नहीं करते, तब महिला कॉन्‍डोम का इस्‍तेमाल कर सकती हैं. पुरुष कॉन्‍डोम की तरह यह भी अनचाहे गर्भधारण (Unwanted Pregnancy) को रोकने के लिए प्रयोग किए जाते हैं. अल्फा वन एंड्रोलॉजी ग्रुप के निदेशक और यौन चिकित्सा सलाहकार अनूूप धीर ने कॉन्‍डोम के इस्‍तेमाल (How to Use a Female Condom) के दौरान कुछ जरूरी बातों के बारे में बताया है. वह कहते हैं, महिला कॉन्‍डोम लेटेक्‍स से बने होते हैं. इन कॉन्‍डोम पर अंदर की तरह एक रिंग होता है जिसे घुमाकर पहना जाता है. ये आम कॉन्‍डोम से ज्‍यादा महंगे होते हैं. 

8 वजहें, आखिर क्यों महिलाओं के लिए अच्छा है हस्तमैथुन, जानें लाइफस्टाइल कोच लुक कुटिनो से

महिला कॉन्‍डोम इस्‍तेमाल करते समय रखें इन बातों का ध्‍यान | Things To Keep In Mind If You Are Using A Female Condom



1. डॉ. धीर कहते हैं, केवल एक व्यक्ति को ही कॉन्‍डोम का इस्‍तेमाल करना चाहिए. यदि दोनों इसका इस्तेमाल करते हैं, तो कॉन्‍डोम फटने की संभावना अधिक रहती है.

2. डॉ. धीर कहते हैं, महिला कॉन्‍डोम पहनने में काफी परेशानी होती है, इन्‍हें अंदर से अच्‍छे से रोल किया जाना चाहिए और इसका रिंग बाहर रहना चाहिए. अगर पूरा कॉन्‍डोम अंदर चला जाएगा, तो यह किसी तरह की कोई सुरक्षा प्रदान नहीं करेगा.

3. ओरल सेक्‍स के दौरान महिला कॉन्‍डोम कोई सुरक्षा प्रदान नहीं करते. ओरल सेक्‍स के दौरान सुरक्षा के लिए चादर का उपयोग करना चाहिए. 

Female Sexual Dysfunction: क्या है इसकी वजह, जानें यौन अक्षमता के बारे में सबकुछ...

4. गर्भधारण और एसटीडी को रोकने में पुरुष कॉन्‍डोम अधिक प्रभावी होते हैं.

5. डॉ. धीर बताते हैं कि पुरुष कॉन्डोम को बाहरी और महिला कॉन्डोम को आंतरिक कॉन्डोम के रूप में वर्गीकृत किया जाता है. इन कॉन्डोम को SEMIDOM भी कहा जाता है.

6.  सेक्‍स से पहले महिला कॉन्डोम इस्‍तेमाल किए जा सकते हैं. जो लोग टैम्पून्‍स का उपयोग नहीं करते, उन्‍हें इनसे थोड़ी परेशान हो सकती है. आप इन्‍हें सेक्स से कुछ घंटे पहले प्रयोग कर सकते हैं.

High Grade Metastatic Cancer की शिकार हुईं सोनाली बेंद्रे, जानें इसके बारे में सबकुछ

7. इन कॉन्डोम को आप गर्भावस्‍था और मासिक धर्म के दौरान भी इस्‍तेमाल कर सकती हैं. हालांकि, आप यह सुनिश्चित नहीं कर सकते कि यह कितना आरामदायक होगा।

8. भले ही आप आप बर्थ कंट्रोल पिल्‍स का इस्‍तेमाल कर रही हैं, तो भी एसटीडी को फैलने से रोकने के लिए हमेशा महिला कॉन्डोम यूज करें.

9. अगर कॉन्डोम बीच में ही फट जाता है तो उसे फौरन बदल दें. अनचाहे गर्भधारण को रोकने के लिए तुरंत गर्भ निरोधक गोली लें.

Sexual Hygiene Tips: हेल्‍दी सेक्‍शुअल लाइफ के लिए ध्यान रखें ये 4 बातें


(डॉ. अनूप धीर अल्फा वन एंड्रोलॉजी ग्रुप के निदेशक और यौन चिकित्सा सलाहकार हैं) यौन जीवन से जुड़ी अन्य समस्याओं के समाधानों और खबरों के लिए क्लिक करें.

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------