होम »  गर्भावस्था »  क्या हैं प्रेग्‍नेंसी के दौरान सेक्‍स से जुड़े मिथ और सच्‍चाई...

क्या हैं प्रेग्‍नेंसी के दौरान सेक्‍स से जुड़े मिथ और सच्‍चाई...

प्रेग्नेंसी सेक्स से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर बना रहता है और इससे पेल्विक मसल्स भी मज़बूत होती हैं. 

क्या हैं प्रेग्‍नेंसी के दौरान सेक्‍स से जुड़े मिथ और सच्‍चाई...

प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करने से होते हैं ये फायदे

खास बातें

  1. इससे इम्यूनिटी बूस्ट होती है.
  2. नींद अच्छी आती है.
  3. पेल्विक मसल्स मज़बूत होती है.
प्रेग्नेंसी से जुड़े कई मिथ हैं. इन्हीं में से एक है कि इस दौरान सेक्स नहीं करना चाहिए. अक्सर जोड़े इसी सोच के चलते पूरे समय एक दूसरे से शारीरिक संबंध नहीं बनाते. लेकिन क्या हो अगर हम आपको बताएं कि यह सच नहीं है. दरअसल, प्रेग्नेंसी के दूसरे ट्राइमेस्टर में आपका ब्लड फ्लो और स्राव दोनों बढ़ जाते हैं. इस वजह से लव हार्मोन्स की मात्रा भी बढ़ती जाएगी. इस पूरी प्रक्रिया को Chadwick (चैडविक) भी कहते हैं. इस दौरान वेजाइना में सूजन आने लगती है और लूब्रकन्ट (चिकनाई) भी बढ़ जाता है. ऐसे में पार्टनर के साथ इंटिमेट का होने का मन करने लगता है. हालांकि प्रेग्‍नेंसी में सेक्‍स को लेकर ढेर सारी ऐसी बातें की जाती हैं जिनमें कोई सच्‍चाई नहीं होती है. डॉक्‍टर श‍िल्‍पिता शानथप्‍पा आपको ऐसे ही मिथकों के बारे में बता रही हैं जिन्‍हें आप सच मानते हैं: 

यौन जीवन में आने वाली परेशानियों को कुछ यूं करें दूर...


पहले तिमाही में बेशक आपको बहुत थकान और मिचली की वजह से पार्टनर से क्लोज़ होने का मन ना करे. लेकिन दूसरे ट्राइमेस्टर (3 से 6 महीने) के दौरान उलटियां अमूमन आनी बंद हा जाती हैं और आप पहले से अच्‍छा महसूस करने लगती हैं. आपकी बॉडी में लव हार्मोन्‍स (ऑक्सीटॉकिन) बढ़ने लगते हैं.

 
sex

मिथक 1 - प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करने से भ्रूण (बच्चे) को नुकसान पहुंच सकता है.
सच - प्रेग्नेंसी के दौरान वेजाइना खुद ही स्ट्रेच होकर थोड़ी बड़ी हो जाती है. इसी वजह से गर्भाशय के बाहरी तरफ श्लेष्मा (म्यूकस) की भारी लेयर जम जाती है, जिससे सेक्स के दौरान बच्‍चा यूट्रेस के अंदर सुरक्ष‍ित रहता है. 
 

कहीं मां या पिता न बन पाने के पीछे एयर पॉल्यूशन तो नहीं है वजह...!


मिथक 2 - सेक्‍स के बाद लेबर पेन उठने लगता है
सच - ये सच है कि सीमन में कुछ मात्रा में प्रोस्टाग्लैंडीन मौजूद होता है, जिस वजह से आपको थोड़ा दर्द हो सकता है. डिलीवरी के दौरान भी सिंथेटिक प्रोस्टाग्लैंडीन देते हैं ताकि आपको दर्द हो और बच्चा बाहर आ सके. लेकिन सीमन प्रोस्टाग्लैंडीन की मात्रा बहुत कम होती है, इसीलिए लेबर पेन उठने का सवाल ही नहीं उठता


क्‍या है इरेक्टाइल डिसफंक्शन और इससे निपटने के 5 आसान तरीके?

मिथक 3 - सेक्स के बाद ब्‍लीडिंग होने का मतलब है मिसकैरेज या डैमेज होना.
सच - गर्भाशय के सेंसिटिव होने की वजह से सेक्स के बाद थोड़ा ब्लड निकल सकता है, जो कि सामान्‍य बात है. लेकिन अगर ब्‍लीडिंग ज़्यादा हो तो तुरंत डॉक्टर से बात करें. 

मिथक 4 - प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करने से वेजाइनल इंफेक्शन हो सकता है.
सच - अगर आपके पार्टनर को कोई यौन संचारित रोग (सेक्सुअल ट्रांसमिटेड डिसीज़) ना हो तो आपको कोई चिंता करने की ज़रूरत नहीं. ऐसे में बस खुद को भी साफ रखें. 
 

क्‍या है Sexsomnia, क्यों होता है, क्या है इलाज, जानें सबकुछ


अब तो आप समझ गए होंगे कि प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करने से कोई नुकसान नहीं होता, बल्कि ये फायदे होते हैं:-

1. इससे आपकी पेल्विक मसल्स मज़बूत होती हैं. 
2. प्रेग्नेंसी में सेक्स से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर रहता है.
3. इससे इम्यूनिटी बूस्ट होती है.
4. नींद अच्छी आती है. 
5. और, इससे आप दोनों के बीच प्यार बना रहता है.
 

अगर पसंद है लव बाइट्स, तो हो जाएं सावधान, ये हो सकते है नुकसान


इसीलिए प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स से ना घबराएं. अगर फिर भी आपका कोई भी सवाल हो तो अपने डॉक्टर से ज़रूर सलाह लें.

यौन स्वास्थ्य से जुड़ी अन्य खबरों के लिए क्लिक करें.
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------