होम » फोटो » क्यों होता है परीक्षा में तनाव, जानें कैसे दूर करें एग्जाम स्ट्रेस..

फोटो

क्यों होता है परीक्षा में तनाव, जानें कैसे दूर करें एग्जाम स्ट्रेस..

  • कई स्टूडेंट्स काफी स्ट्रेस में हैं. परीक्षा के समय स्ट्रेस होना आम बात है. लेकिन कई बार एग्जाम स्ट्रेस (Exam Stress) के कारण स्टूडेंट्स का पेपर खराब हो जाता है. कई बार स्टूडेंट्स के लिए परीक्षा के तनाव को झेलना बेहद मुश्किल हो जाता है. लेकिन एग्जाम स्ट्रेस (तनाव) को दूर किया जा सकता है.
    Share

    कई स्टूडेंट्स काफी स्ट्रेस में हैं. परीक्षा के समय स्ट्रेस होना आम बात है. लेकिन कई बार एग्जाम स्ट्रेस (Exam Stress) के कारण स्टूडेंट्स का पेपर खराब हो जाता है. कई बार स्टूडेंट्स के लिए परीक्षा के तनाव को झेलना बेहद मुश्किल हो जाता है. लेकिन एग्जाम स्ट्रेस (तनाव) को दूर किया जा सकता है.

  • सके साथ ही साथ आप अपने आहार में कुछ बदलाव कर भी इस तनाव को कम कर सकते हैं. वह क्या चीजें होंगी यह हम आपको बताते हैं. इसके साथ ही आपको इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि ऐसा आहार न लें जो तनाव को बढ़ाने का काम करे.
    Share

    सके साथ ही साथ आप अपने आहार में कुछ बदलाव कर भी इस तनाव को कम कर सकते हैं. वह क्या चीजें होंगी यह हम आपको बताते हैं. इसके साथ ही आपको इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि ऐसा आहार न लें जो तनाव को बढ़ाने का काम करे.

  • छात्र अक्सर पूरी रात बैठ कर पढ़ते रहते हैं. इससे उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती और तनाव बढ़ता है. परीक्षा के दौरान दिमाग को आराम देने के लिए 6-8 घंटे की नींद लेना बहुत जरुरी है.
    Share

    छात्र अक्सर पूरी रात बैठ कर पढ़ते रहते हैं. इससे उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती और तनाव बढ़ता है. परीक्षा के दौरान दिमाग को आराम देने के लिए 6-8 घंटे की नींद लेना बहुत जरुरी है.

  • एक्टिविटी बढ़ाने से तनाव कम होता है और आप बेहतर महसूस करते हैं. इस दौरान आप सैर करना, दौड़ना, तैरना, डांस करना जैसे व्यायाम कर सकते हैं.
    Share

    एक्टिविटी बढ़ाने से तनाव कम होता है और आप बेहतर महसूस करते हैं. इस दौरान आप सैर करना, दौड़ना, तैरना, डांस करना जैसे व्यायाम कर सकते हैं.

  • ग्रुप में पढ़ने के बहुत से फायदे होते हैं. अगर आपके सवाल या समस्याएं हैं तो आप एक दूसरे के साथ इन्हें हल कर सकते हैं. अपने कमजोर अध्यायों पर ध्यान दें. नोट्स बनाकर एक दूसरे के साथ शेयर करें. जब आप पढ़ने के लिए तैयार हों, टाइम टेबल बनाकर पढ़ना शुरू करें. ध्यान रखें हर विषय पर अलग तरह से ध्यान देने की जरूरत होती है.
    Share

    ग्रुप में पढ़ने के बहुत से फायदे होते हैं. अगर आपके सवाल या समस्याएं हैं तो आप एक दूसरे के साथ इन्हें हल कर सकते हैं. अपने कमजोर अध्यायों पर ध्यान दें. नोट्स बनाकर एक दूसरे के साथ शेयर करें. जब आप पढ़ने के लिए तैयार हों, टाइम टेबल बनाकर पढ़ना शुरू करें. ध्यान रखें हर विषय पर अलग तरह से ध्यान देने की जरूरत होती है.

  • आप निश्चित समय तक पढ़ सकते हैं, इसके बाद आपको ब्रेक लेने की जरूरत होती है. छोटे ब्रेक लें, इस समय में अपने दोस्तों के साथ बातचीत करें, कॉफी पिएं. इस समय में आप सीढ़ी चढ़ने उतरने जैसा व्यायाम भी कर सकते हैं.
    Share

    आप निश्चित समय तक पढ़ सकते हैं, इसके बाद आपको ब्रेक लेने की जरूरत होती है. छोटे ब्रेक लें, इस समय में अपने दोस्तों के साथ बातचीत करें, कॉफी पिएं. इस समय में आप सीढ़ी चढ़ने उतरने जैसा व्यायाम भी कर सकते हैं.

  • समय के अनुसार पढ़ना शुरू करें और बीच-बीच में ब्रेक लें. टाइम टेबल के अनुसार पढ़ें. हर एक-दो घंटे बाद दस मिनट का ब्रेक लें.
    Share

    समय के अनुसार पढ़ना शुरू करें और बीच-बीच में ब्रेक लें. टाइम टेबल के अनुसार पढ़ें. हर एक-दो घंटे बाद दस मिनट का ब्रेक लें.

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------