होम » फोटो » हाइपोथायरायडिज्म को कंट्रोल करने के लिए क्या खाएं!

फोटो

हाइपोथायरायडिज्म को कंट्रोल करने के लिए क्या खाएं!

  • डॉक्टरों के अनुसार मुख्य रूप से थायरॉइड विकार दो प्रकार के होते हैं- हाइपरथायरायडिज्म जो एट्रियल फिब्रिलेशन, ऑस्टियोपोरोसिस और फ्रैक्चर का कारण बन सकता है, और हाइपोथायरायडिज्म जो मायक्सेडेमा कोमा और मृत्यु का कारण बन सकता है.
    Share

    डॉक्टरों के अनुसार मुख्य रूप से थायरॉइड विकार दो प्रकार के होते हैं- हाइपरथायरायडिज्म जो एट्रियल फिब्रिलेशन, ऑस्टियोपोरोसिस और फ्रैक्चर का कारण बन सकता है, और हाइपोथायरायडिज्म जो मायक्सेडेमा कोमा और मृत्यु का कारण बन सकता है.

  • केले में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स और पोटेशियम गैस की समस्या को दूर करने में मदद करता है. केले में मौजूद ट्राइप्टोफान एमिनो एसिड तनाव को भी कम कर आपके मूड को रिलैक्स करता है.
    Share

    केले में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स और पोटेशियम गैस की समस्या को दूर करने में मदद करता है. केले में मौजूद ट्राइप्टोफान एमिनो एसिड तनाव को भी कम कर आपके मूड को रिलैक्स करता है.

  • आपको बहुत सारा पानी पीने की ज़रूरत है, दिन में कम से कम 8 गिलास. याद रखें जब आप कम पानी पीते हैं, तो आपका शरीर अधिक वसा जमा करता है और वजन बढ़ता है.
    Share

    आपको बहुत सारा पानी पीने की ज़रूरत है, दिन में कम से कम 8 गिलास. याद रखें जब आप कम पानी पीते हैं, तो आपका शरीर अधिक वसा जमा करता है और वजन बढ़ता है.

  • अधिक फल और सब्जियां खाने से हाइपोथायरायडिज्म को रोकने में मदद मिलती है.
    Share

    अधिक फल और सब्जियां खाने से हाइपोथायरायडिज्म को रोकने में मदद मिलती है.

  • ग्रीन टी आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाकर और वसा ऑक्सीकरण के माध्यम से वजन कम करने में आपकी मदद करती है.
    Share

    ग्रीन टी आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाकर और वसा ऑक्सीकरण के माध्यम से वजन कम करने में आपकी मदद करती है.

  • जिन्हें थायराइड है उन लोगों के लिए दूध और दही रामबाण की तरह हैं. जी हां, थायराइड के मरीजों को दही और दूध का सेवन करना चाहिए. दोनों में ही कैल्शियम, मिनरल्स और विटामिन्स होते हैं जो थायराइड से लड़ने में मददगार हैं.
    Share

    जिन्हें थायराइड है उन लोगों के लिए दूध और दही रामबाण की तरह हैं. जी हां, थायराइड के मरीजों को दही और दूध का सेवन करना चाहिए. दोनों में ही कैल्शियम, मिनरल्स और विटामिन्स होते हैं जो थायराइड से लड़ने में मददगार हैं.

  • स्वस्थ वजन बनाए रखने के लिए फाइबर से समृद्ध और कम वसा वाला आहार लें.
    Share

    स्वस्थ वजन बनाए रखने के लिए फाइबर से समृद्ध और कम वसा वाला आहार लें.

  • जिन्हें थायराइड है उन लोगों के लिए दूध और दही रामबाण की तरह हैं. जी हां, थायराइड के मरीजों को दही और दूध का सेवन करना चाहिए. दोनों में ही कैल्शियम, मिनरल्स और विटामिन्स होते हैं जो थायराइड से लड़ने में मददगार हैं.
    Share

    जिन्हें थायराइड है उन लोगों के लिए दूध और दही रामबाण की तरह हैं. जी हां, थायराइड के मरीजों को दही और दूध का सेवन करना चाहिए. दोनों में ही कैल्शियम, मिनरल्स और विटामिन्स होते हैं जो थायराइड से लड़ने में मददगार हैं.

  • व्यायाम थायरॉयड हार्मोन के प्रति ऊतक संवेदनशीलता को बढ़ाता है और थायरॉयड ग्रंथि से इसके स्राव को प्रोत्साहित करता है.
    Share

    व्यायाम थायरॉयड हार्मोन के प्रति ऊतक संवेदनशीलता को बढ़ाता है और थायरॉयड ग्रंथि से इसके स्राव को प्रोत्साहित करता है.

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------