होम »  ख़बरें »  Covid Reinfection: दोबारा हो सकता है Covid-19 संक्रमण! लक्षण हो सकते हैं ज्यादा गंभीर: रिसर्च

Covid Reinfection: दोबारा हो सकता है Covid-19 संक्रमण! लक्षण हो सकते हैं ज्यादा गंभीर: रिसर्च

नेवाडा के स्टेट पब्लिक हेल्थ लैब के लिए काम करने वाले और इस रिसर्च का नेतृत्व करने वाले रिसर्चर मार्क पैंडोरी ने कहा, 'कोविड-19 से मिली इम्यूनिटी को समझने में दोबारा संक्रमण की संभावना अहम प्रभाव डाल सकती है

Covid Reinfection: दोबारा हो सकता है Covid-19 संक्रमण! लक्षण हो सकते हैं ज्यादा गंभीर: रिसर्च

री-इंफेक्शन दुनिया भर में महामारी के खिलाफ चल रही लड़ाई पर बड़ा असर डाल सकती है.

खास बातें

  1. कोरोना नर्वस सिस्टम के लिए भी खतरा बन सकता है.
  2. दोबारा संक्रमण के शिकार मरीज में ज्यादा गंभीर लक्षण दिखाई दे सकते हैं.
  3. 'कोविड-19 से शिकार लोगों को अपना बहुत ध्यान देने की जरुरत है

Covid Reinfection: कोरोनावायरस से ठीक हो चुके मरीज को दोबारा वायरस का संक्रमण हो जाने पर ज्यादा खतरा हो सकता है. मंगलवार को पब्लिश हुई एक रिसर्च स्टडी में कहा गया है कि ऐसा संभव है. इसमें कहा गया है कि दूसरी बार संक्रमण के शिकार मरीज में ज्यादा गंभीर लक्षण दिखाई दे सकते हैं. में पब्लिश की गई एक स्टडी में अमेरिका में सामने आए कोविड-19 के दोबारा संक्रमण के मामले का जिक्र करते हुए गया है कि एक बार वायरस के संक्रमण से ठीक हो जाना शरीर में हमेशा के लिए इम्यूनिटी पैदा हो जाने की गारंटी नहीं है. कोरोना वायरस से इम्यूनिटी दोबारा संक्रमण से बचाव की गारंटी नहीं, पैदा कर सकती हैं ज्यादा गंभीर लक्षण: रिसर्च

अमेरिका में नेवाडा के एक 25 साल के मरीज में कोविड निगेटिव पाए जाने के 48 घंटों के अंदर SARS-CoV-2 के फिर कुछ लक्षण दिखाई दिए थे. इस शख्स में दूसरी बार हुए संक्रमण के लक्षण पहली बार से ज्यादा गंभीर थे, जिसके चलते उसे ऑक्सीजन सपोर्ट पर अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा. 


इस रिसर्च पेपर में दुनिया भर में चार कन्फर्म री-इंफेक्शन मामलों को भी शामिल किया गया है. इसमें बेल्जियम, नेदरलैंड्स, हॉन्ग-कॉन्ग और एक्वडोर से एक-एक मरीज शामिल हैं. विशेषज्ञों का कहना है कि री-इंफेक्शन की स्थिति दुनिया भर में महामारी के खिलाफ चल रही लड़ाई पर बड़ा असर डाल सकती है.

नेवाडा के स्टेट पब्लिक हेल्थ लैब के लिए काम करने वाले और इस रिसर्च का नेतृत्व करने वाले रिसर्चर मार्क पैंडोरी ने कहा, 'कोविड-19 से मिली इम्यूनिटी को समझने में दोबारा संक्रमण की संभावना अहम प्रभाव डाल सकती है, उन्होंने कहा कि 'हमें और ज्यादा रिसर्च करने की जरूरत है ताकि हम समझ पाएं कि SARS-CoV-2 के संपर्क में आए लोगों में पैदा हुई इम्यूनिटी कितने लंबे वक्त तक रह सकती है.

Video: कोरोना वायरस की चपेट में नर्वस सिस्टमः

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहें

Immunity Booster Drinks: इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए एक दिन छोड़कर पिएं ये 4 आयुर्वेदिक ड्रिंक, आसपास भी नहीं भटकेगी बीमारियां!


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

डिलीवरी के बाद झड़ रहे हैं बाल? ये 5 घरेलू नुस्खे हैं Hair Fall की समस्या रोकने के लिए रामबाण!

Dark Underarms Remedies: अंडरआर्म्स के कालेपन से छुटकारा पाने के लिए जबरदस्त हैं ये घरेलू उपाय, नहाने से पहले करें ये काम!

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------