होम »  लिविंग हेल्दी »  Monsoon Health Tips: यूटीआई से बचने के कुछ आसान और कारगर टिप्स

Monsoon Health Tips: यूटीआई से बचने के कुछ आसान और कारगर टिप्स

UTI Prevention Tips: मानसून के दौरान यूरीन ट्रैक्ट इंफेक्शन (यूटीआई) के मामले बढ़ जाते हैं और यह पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए कठिन हो सकते हैं. यूटीआई को रोकने के लिए ढेर सारा पानी पीकर हाइड्रेटेड रहने की जरूरत है और पेशाब को रोकने से बचना चाहिए. इसके बारे में और जानने के लिए पढ़ें.

Monsoon Health Tips: यूटीआई से बचने के कुछ आसान और कारगर टिप्स

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन पुरुषों और महिलाओं दोनों को प्रभावित कर सकता है

खास बातें

  1. यूटीआई पुरुषों की तुलना में अधिक महिलाओं को प्रभावित करता है.
  2. खराब पर्सनल हाइजीन से यूटीआई का खतरा बढ़ सकता है.
  3. यूटीआई को दूर रखने के लिए पर्याप्त पानी पिएं.

Monsoon Health Tips: मानसून को भीषण गर्मी से राहत देने के लिए जाना जाता है लेकिन, आप यह जानकर भी चौंक जाएंगे कि बारिश का मौसम आपको कई तरह की बीमारियों, एलर्जी और संक्रमणों का शिकार बना सकता है. ये आपके मन की शांति चुरा सकते हैं. शरीर के तापमान में अचानक बदलाव आपके इम्यून सिस्टम पर भारी पड़ सकता है और आपको संक्रमण का शिकार बना सकता है. यह कोई ब्रेनर नहीं है कि मानसून में नमी बैक्टीरिया की वृद्धि में मदद कर सकती है और बारिश के मौसम में पुरुषों और महिलाओं में यूटीआई को जन्म दे सकती है.

जानिए यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (UTI) के बारे में: यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (UTI) को यूरिनरी सिस्टम का बैक्टीरियल इन्फेक्शन कहा जा सकता है. यह पहले मूत्राशय को प्रभावित करता है. अगर यूटीआई बिगड़ जाता है तो संक्रमण ऊपर की ओर बढ़ कर किडनी तक पहुंच जाता है, जो एक गंभीर समस्या बन जाती है. बार-बार पेशाब आना, दर्द और पेट के निचले हिस्से में बेचैनी, थकान, जी मिचलाना, उल्टी, बुखार और पेशाब करते समय जलन होना यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन के लक्षण हैं. इस प्रकार हेल्दी रहने के लिए किसी को सही समय पर इससे निपटना होगा.

महिला या पुरुष किसके बाल ज्यादा झड़ते हैं? जानें एक दिन में कितने बाल झड़ सकते हैं और क्या हैं कारण


यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन को मैनेज करने के लिए फुलप्रूफ ट्रिक्स-

हाइड्रेटेड रहें: हाइड्रेशन अच्छे स्वास्थ्य की कुंजी है क्योंकि पानी यूरिनरी ट्रैक्ट में बैक्टीरिया को बाहर निकालने के लिए जाना जाता है. इसलिए, रोजाना लगभग 10-12 गिलास पानी पीना जरूरी है, लेकिन याद रखें कि अति-हाइड्रेशन से बचें क्योंकि यह किडनी और मूत्राशय पर दबाव बना सकता है. इसके अलावा शराब या कैफीन के सेवन से बचें.

समय-समय पर पेशाब करें: क्या आप उनमें से एक हैं जो पेशाब को रोकते हैं? फिर, आपके लिए ऐसा करना उचित नहीं है. पेशाब रोक कर रखने से बैक्टीरिया कई गुना बढ़ सकते हैं और यूटीआई हो सकते हैं.

सुरक्षित सेक्स का अभ्यास करें: जो महिलाएं यौन सक्रिय हैं उन्हें अच्छी स्वच्छता का पालन करने की जरूरत है. ऐसा करने से उन्हें यूटीआई को दूर रखने में मदद मिल सकती है. बैक्टीरिया से छुटकारा पाने के लिए संभोग के तुरंत बाद मूत्राशय को खाली कर दें.

हर छोटी-बड़ी बीमारियों से बचाती हैं ये 5 चीजें, रात भर भिगोकर रखें और सुबह खाएं, मिलेंगे अद्भुत फायदे

केमिकल प्रोडक्ट्स को ना कहें: स्प्रे, पाउडर या डिओडोरेंट्स जिनमें हानिकारक तत्व होते हैं, वे योनि क्षेत्र में जलन, दर्द और जलन पैदा कर सकते हैं. इसलिए, इन प्रोडक्ट्स का विकल्प न चुनें.

अपने आप को पोंछना न भूलें: आपको अपने आप को आगे से पीछे तक पोंछना होगा क्योंकि यह बैक्टीरिया को आपकी योनि या मूत्रमार्ग में फैलने से रोकेगा. सांस लेने वाले कपड़े से बने त्वचा के अनुकूल अंडरगारमेंट्स पहनने की कोशिश करें. लंबे समय तक गीले कपड़े या स्विमसूट पहनने से बचें, और तंग जींस से छुटकारा पाएं.

प्रोबायोटिक्स एक अच्छा विकल्प है: प्रोबायोटिक सप्लीमेंट अच्छे आंत बैक्टीरिया को बढ़ाने और आपको यूटीआई से बचाने में सहायक होते हैं.

बबल बाथ को अलविदा कहें: झागदार साबुन योनि और जननांग क्षेत्र के आसपास की त्वचा में जलन पैदा कर सकते हैं, जिससे यूटीआई हो सकता है.

जुकाम-खांसी लगातार कर रहे परेशान, तो देर क्यों कर रहे हैं इन 5 फूड्स को आज से ही खाना शुरू करें

(डॉ एस के पाल अपोलो स्पेक्ट्रा, नेहरू एन्क्लेव, दिल्ली में यूरोलॉजिस्ट हैं)

अस्वीकरण: इस लेख में व्यक्त विचार लेखक के निजी विचार हैं. एनडीटीवी इस लेख की किसी भी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता या वैधता के लिए ज़िम्मेदार नहीं है. सभी जानकारी यथास्थिति के आधार पर प्रदान की जाती है. लेख में दी गई जानकारी, तथ्य या राय एनडीटीवी के विचारों को नहीं दर्शाती है और एनडीटीवी इसके लिए कोई जिम्मेदारी या दायित्व नहीं लेता है.

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

Skin Care Tips: मानसून सीजन में चेहरे पर पिंपल कर रहे हैं परेशान, तो इन 5 फलों के सेवन मिलेगा एक्ने से छुटकारा

Foods For Eye Vision: आंखों को कमजोर होने से बचाना चाहते हैं, तो सोच क्या रहे हैं डाइट में शामिल करें ये फूड्स


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Type 2 Diabetes: क्या है टाइप-2 डायबिटीज, जानिए कारण और बचाव के उपाय

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------