होम »  लिविंग हेल्दी »  Dental Hygiene: ओरल हेल्थ से जुड़ा है आपका संपूर्ण स्वास्थ्य, एक्सपर्ट से जानें कैसे रखें इसको बेहतर

Dental Hygiene: ओरल हेल्थ से जुड़ा है आपका संपूर्ण स्वास्थ्य, एक्सपर्ट से जानें कैसे रखें इसको बेहतर

Dental Hygiene: मौखिक स्वच्छता बनाए रखना आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है. अन्य अंगों पर अपने दंत स्वास्थ्य के प्रभाव और मौखिक स्वच्छता बनाए रखने के बारे में विशेषज्ञ से जानने के लिए यहां पढ़ें...

Dental Hygiene: ओरल हेल्थ से जुड़ा है आपका संपूर्ण स्वास्थ्य, एक्सपर्ट से जानें कैसे रखें इसको बेहतर

How To Promote Oral Health: इष्टतम मौखिक स्वास्थ्य सुनिश्चित करने के लिए दिन में दो बार ब्रश करना जरूरी है

खास बातें

  1. स्वस्थ दांतों के लिए ब्रश करना उतना ही महत्वपूर्ण है.
  2. गुहाओं को रोकने के लिए हर भोजन के बाद अपना मुंह कुल्ला करें.
  3. पीने का पानी भी आपके मौखिक स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है.

How To Promote Oral Health: मौखिक स्वच्छता व्यक्ति के समग्र स्वास्थ्य और व्यक्तित्व का एक अभिन्न अंग है. दांतों की देखभाल (Tooth Care) करना उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि शरीर के किसी अन्य भाग की. लोग दांतों की ख़राब सेहत (Bad Teeth Health), दांतों की सड़न और सांसों की बदबू (Bad Breath) जैसी सामान्य समस्याओं के बारे में जानते हैं. लेकिन, अधिक गंभीर मुद्दों जैसे गुहाओं, मौखिक संक्रमणों, घावों, पीरियडोंटल बीमारी, ओरल और गले के कैंसर आदि के बारे में समझ की कमी है. ये मुद्दे किसी के खाने और बोलने की क्षमता को ख़राब कर सकते हैं और साथ ही दिल की बीमारी जैसी अन्य जटिलताएं पैदा कर सकते हैं.

पाचन शक्ति को बढ़ाने, हड्डियों को मजबूत करने और वजन घटाने के साथ ये जबरदस्त फायदे देता है अखरोट!

ग्लोबल बर्डन ऑफ डिजीज स्टडी 2017 के अनुसार, यह अनुमान लगाया गया है कि दुनिया भर में करीब 3.5 बिलियन लोगों को मुंह की बीमारियां प्रभावित करती हैं, जिनमें स्थायी दांतों की क्षय सबसे आम स्थिति है. एक और बड़ी चिंता बच्चों में दांतों की समस्या का प्रचलन है क्योंकि वे बहुत सारी मिठाइयों और वातित पेय का सेवन करते हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, 530 मिलियन से अधिक बच्चे प्राथमिक दांतों के क्षय से पीड़ित हैं.


तनाव या डल स्किन कर रही है उदास, 
तबियत भी नहीं रहती कुछ खास... 
तो जुडें एनडीटीवी सेहत वेहत के साथ
सब्सक्राइब करें.

यह देखा गया है कि मुंह से शरीर का समग्र स्वास्थ्य प्रभावित होता है क्योंकि मुंह में प्रवेश करने वाला पाचन तंत्र और श्वसन तंत्र होता है. मुंह में मौजूद बैक्टीरिया शरीर में प्रवेश कर सकते हैं और बैक्टीरिया निमोनिया, हृदय रोग आदि जैसे रोग पैदा कर सकते हैं. इस प्रकार, अच्छे मौखिक स्वास्थ्य को बनाए रखना शरीर की प्राकृतिक रक्षा है. इसलिए, प्राकृतिक सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए, किसी को मौखिक स्वच्छता की स्वस्थ आदतों को अपनाना चाहिए.

Blood Sugar Level को कंट्रोल करने के लिए सुबह सबसे पहले करें ये 5 काम, Diabetes रोगी न करें नजरअंदाज!

लोगों को दंत स्वच्छता के महत्व का एहसास करना चाहिए और मौखिक और दंत समस्याओं को दूर रखने के लिए स्वस्थ आदतों का अभ्यास करना शुरू करना चाहिए. बुनियादी मौखिक स्वास्थ्य प्रथाओं को प्रारंभिक बचपन से उकसाना है क्योंकि यह एक नींव के रूप में कार्य करता है जिस पर जीवन भर दंत चिकित्सा देखभाल का निर्माण किया जा सकता है. माता-पिता की भूमिका उनके बच्चों के मौखिक स्वास्थ्य को प्रभावित करने में बहुत महत्वपूर्ण है लेकिन अधिकांश माता-पिता अपने बच्चों को अच्छी तरह से ब्रश करने और अच्छी मौखिक स्वच्छता बनाए रखने के लिए मार्गदर्शन नहीं करते हैं. इसके पीछे कारण यह है कि उनका मानना है कि प्राथमिक दांतों को स्थायी दांतों से बदल दिया जाएगा और प्रारंभिक गुहाओं से होने वाले नुकसान से अनजान हैं.

खराब सांस, रक्तस्राव मसूड़ों, पीले दांत, टैटार और पट्टिका खराब मौखिक स्वच्छता के सामान्य संकेत हैं. खराब होने से पहले इन संकेतों को गंभीरता से लिया जाना चाहिए और गंभीर समस्याएं पैदा करनी चाहिए.

हाई ब्लड प्रेशर को आसानी से कंट्रोल करने के लिए कमाल है यह एक चीज, बस जान लें सेवन करने का तरीका!

pqo3pgtg

दंत मुद्दों की अनदेखी न करें क्योंकि इससे कुछ गंभीर समस्याएं हो सकती हैं

नीचे दिए गए कुछ स्वस्थ अभ्यास मौखिक स्वच्छता बनाए रखने में काफी प्रभावी हो सकते हैं: -

अच्छे से ब्रश करें: इसमें दांतों के बीच और आस-पास की सफाई शामिल है. यह पट्टिका को हटाने और कीटाणुओं को नियंत्रित करने में मदद करता है. इसके अलावा एक दिन में दो बार ब्रश करना चाहिए और हर 2-3 महीनों के बाद अपने टूथब्रश को बदलना चाहिए.

फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट का उपयोग करें: नियमित रूप से फ्लॉस करें: चूंकि दांतों के बीच फंसे टुकड़ों में प्लाक जमा होता है जिससे मसूड़े के रोग हो सकते हैं. फ्लॉसिंग मसूड़ों को उत्तेजित करता है, पट्टिका को कम करता है और क्षेत्र में सूजन को कम करने में मदद करता है. मौखिक स्वास्थ्य सुनिश्चित करने के लिए दिन में एक बार फ्लॉस करना पर्याप्त है.

पेट की समस्याओं और मुंह की बदबू के साथ इन 7 रोगों को दूर करने में रामबाण से कम नहीं है लौंग!

माउथवॉश का उपयोग करें: माउथवॉश के कई फायदे हैं, जिसमें मुंह में एसिड की मात्रा में कमी भी शामिल है. इसके अलावा, यह उन क्षेत्रों को साफ करने में भी मदद करता है जो ब्रश करना मुश्किल है. डॉक्टर द्वारा सुझाए गए माउथवॉश का उपयोग करें.

अपनी जीभ को साफ करें: पट्टिका आपकी जीभ पर भी निर्माण कर सकती है, जिससे मुंह से दुर्गंध आती है और दंत स्वास्थ्य प्रभावित होता है. इस प्रकार, हर बार ब्रश करते समय जीभ को साफ करना महत्वपूर्ण है.

भोजन के बाद कुल्ला: यह दांतों के बीच भोजन के टुकड़े को हटाने में मदद करता है.

शुगर और अम्लीय भोजन का सेवन सीमित करें: चीनी मुंह में एसिड में परिवर्तित हो जाती है और दांतों के इनेमल को खराब कर देती है. इसी तरह, अम्लीय भोजन भी तामचीनी के लिए हानिकारक है. इन खाद्य पदार्थों से बचने के लिए आवश्यक नहीं है, लेकिन जब भी आप उन्हें खाते हैं, तो आपको हर बार गार्गल करने की आवश्यकता होती है.

Weight Loss Drink: वजन कम करने के साथ पूरे शरीर का फैट घटाने में कारगर है ये आयुर्वेदिक ड्रिंक!

हर 6 महीने में एक दंत चिकित्सक के पास जाएं: स्वस्थ आदतें आपको बैक्टीरिया को नियंत्रित करने और अच्छे मौखिक स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने में मदद करेंगी, लेकिन, सफाई और चेकअप के लिए साल में दो बार डेंटिस्ट के पास जाना बेहतर होता है. एक डॉक्टर संभावित खतरों का पता लगा सकता है और उपयुक्त दंत स्वास्थ्य प्रथाओं की सिफारिश कर सकता है.

(डॉ. अंजना सत्यजीत- प्रमुख- दंत चिकित्सा, आर्टेमिस अस्पताल)

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

पाचन की समस्या और हाई ब्लड प्रेशर के लिए रामबाण से कम नहीं हैं तिल के बीज, जानें 5 शानदार फायदे!

ये 8 एक्सरसाइज वर्कआउट के बाद होने वाले दर्द से दिला सकती हैं छुटकारा, रुटीन में करें शामिल


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Crdiac Arrest: अचानक क्यों आता है कार्डिएक अरेस्ट? जानें वार्निंग संकेत, कारण और उपचार के तरीके

मजबूत हड्डियों और बेहतर स्वास्थ्य के लिए रोजाना करें ये 3 एक्सरसाइज, मिलेगा जबरदस्त फायदा!

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------