होम »  लिविंग हेल्दी »  How To Prevent Diabetes: किडनी रोगियों के लिए डायबिटीज को कंट्रोल करने के ये हैं 5 असरदार तरीके!

How To Prevent Diabetes: किडनी रोगियों के लिए डायबिटीज को कंट्रोल करने के ये हैं 5 असरदार तरीके!

How To Control Diabetes: मधुमेह, गुर्दे की बीमारियों के लिए प्रमुख जोखिम कारकों में से एक है. यहां क्रोनिक किडनी रोग वाले लोगों के लिए कुछ सुझाव दिए गए हैं जो हेल्दी ब्लड शुगर लेवल को बनाए रखने में मदद कर सकते हैं.

How To Prevent Diabetes: किडनी रोगियों के लिए डायबिटीज को कंट्रोल करने के ये हैं 5 असरदार तरीके!

एक स्वस्थ आहार और जीवन शैली आपको हेल्दी ब्लड शुगर लेवल को बनाए रखने में मदद कर सकती है

खास बातें

  1. पर्याप्त पानी पीने से गुर्दे की बीमारियों को रोकने में मदद मिल सकती है.
  2. ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए डाइट में फाइबर को शामिल करें.
  3. डायबिटीज को प्रभावी ढंग से मैनेज करने के लिए शारीरिक रूप से सक्रिय रहें

Effective Ways To Control Diabetes: विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की एक रिपोर्ट के अनुसार, खराब जीवनशैली की आदतों के कारण देश में तीन में से दो लोग डायबिटीज या हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित हैं. टाइप -2 डायबिटीज सबसे आम प्रकार है जो सभी उम्र के लोगों में पाया जाता है. ऐसे कई कारक हैं जो किसी की समग्र भलाई में योगदान करते हैं. यह सच है कि आनुवंशिकी भी अन्य स्थितियों की तरह टाइप -2 डायबिटीज के विकास की संभावना को बढ़ा सकती है, लेकिन इसे जरूरी रूप से जीवनशैली में बदलाव करके और आहार को संशोधित करके प्रभावी रूप से मैनेज किया जा सकता है.

Home Remedies: हाई ब्लड प्रेशर को जल्द नॉर्मल करेंगे ये 6 देसी नुस्खे, बस इस्तेमाल करने का जान लें तरीका

सामान्य समय में, एक स्वस्थ आहार, एक सामान्य नींद और कसरत रुटीन इन चिकित्सा स्थितियों को रोकने में मदद करेगी. हालांकि, ऐसे समय में जब लगभग हर कोई अतिरिक्त तनाव का सामना कर रहा है और एक महामारी के बीच चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में समग्र कल्याण सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाना महत्वपूर्ण है.


अगर प्रारंभिक अवस्था में नियंत्रित और देखभाल नहीं की जाती है, तो डायबिटीज गंभीर जटिलताओं का कारण बन सकता है. मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है क्योंकि इसे ठीक नहीं किया जा सकता है. आपके धूम्रपान और पीने की आदतों पर नज़र रखने के लिए डॉक्टरों द्वारा सुझाए गए, लेकिन आप सोच रहे होंगे कि आप हमेशा एक डायबिटीज डाइट का पालन क्यों करते हैं, है ना? हैरानी की बात है, आप अपने भोजन को प्राकृतिक और जैविक तत्वों का सेवन करके दिलचस्प बना सकते हैं जो पाचन में मदद करेंगे और आपके इंसुलिन के स्तर पर सकारात्मक प्रभाव डालेंगे.

Weight Loss Tips: व्रत रखकर इस तरीके से घटा सकते हैं काफी वजन, बस रखना होगा इन बातों का ध्यान!

07v6nc9g

बड़े उतार-चढ़ाव से बचने के लिए मधुमेह रोगियों को नियमित रूप से रक्त शर्करा की जांच करनी चाहिए

डायबिटीज भी किडनी की बीमारियों के लिए एक जोखिम कारक है. क्रोनिक किडनी रोगों वाले लोगों को भी दोनों बीमारियों को नियंत्रण में रखने के लिए आहार और जीवन शैली में स्वस्थ परिवर्तन करना चाहिए. यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जो मदद कर सकते हैं-

Easy Weight Loss Trick: ये है वजन घटाने का सबसे आसान तरीका, पेट की चर्बी के साथ पूरी बॉडी का फैट होगा कम!

एक स्वस्थ और संतुलित आहार: स्वस्थ और संतुलित आहार का सेवन मधुमेह को नियंत्रण में रखने का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है. तेल, सफेद स्टार्च, कार्ब्स और जंक फूड से बचें और अपने दैनिक भोजन के सेवन में अधिक पत्तेदार सब्जियां और फल शामिल करें.

शारीरिक गतिविधि: व्यायाम उन लोगों पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकता है जो टाइप -2 डायबिटीज से पीड़ित हैं. नियमित कसरत से रक्त शर्करा के स्तर को प्रबंधित करने में मदद मिलती है और यह दिल के दौरे, हृदय संबंधी मुद्दों के जोखिम को कम करता है और समग्र स्वास्थ्य को बढ़ाता है.

नमक का कम सेवन: अपने दैनिक आहार में सोडियम की मात्रा कम करने से उच्च रक्तचाप और हृदय रोगों का खतरा कम हो जाता है. हालांकि यह आपके आहार से नमक को खत्म करने के लिए महत्वपूर्ण नहीं है, इसे मध्यम मात्रा में खाने की सलाह दी जाती है. बहुत अधिक नमक भी आपके किडनी के लिए हानिकारक है.

कम उम्र में सफेद बालों से हैं परेशान? इन 5 घरेलू नुस्खों को आजमाकर पाएं Grey Hair से निजात!

मेडिटेशन: मेडिटेशन तनाव के स्तर को कम करने में मदद करता है और आपके दिमाग और शरीर को शांत करता है. निम्न तनाव का स्तर डायबिटीज और ब्लड प्रेशर दोनों पर सकारात्मक प्रभाव डालता है.

शराब और तंबाकू से बचें: शराब का एक मध्यम सेवन आपके शरीर में वांछित रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखने में मदद कर सकता है लेकिन अधिक शराब पीने या धूम्रपान करने से प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है.

चिकित्सा सहायता के साथ-साथ ऊपर दिए गए स्टेप्स का पालन करके आप दोनों बीमारियों का मैनेज कर सकते हैं.

(डॉ. प्रशांत सी धीरेंद्र, अपोलो डायलिसिस क्लीनिक, बैंगलोर में सलाहकार नेफ्रोलॉजिस्ट)

अस्वीकरण: इस लेख के भीतर व्यक्त की गई राय लेखक की निजी राय है. एनडीटीवी इस लेख की किसी भी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता, या वैधता के लिए ज़िम्मेदार नहीं है. सभी जानकारी एक आधार पर प्रदान की जाती है. लेख में दिखाई देने वाली जानकारी, तथ्य या राय एनडीटीवी के विचारों को प्रतिबिंबित नहीं करती है और एनडीटीवी उसी के लिए कोई जिम्मेदारी या दायित्व नहीं मानती है.

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

आपके शरीर में ये बदलाव हैं पानी की कमी के संकेत, जानें डिहाइड्रेशन से होने वाले नुकसान!

Mental Health: चिंता और तनाव से निपटने के लिए ये सरल तरीके हैं कारगर


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Hair Care Tips: सुस्त, ड्राई और कमजोर बालों से लड़ने के लिए गजब के हैं ये 7 फूड्स, डाइट में करें शामिल!

Walking Benefits: अब बहाने नहीं! ज्यादा चलने और स्टेप काउंट को बढ़ाने के लिए ये हैं 6 शानदार टिप्स

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

घरेलू नुस्खे

Cracked Heels Home Remedies: क्रैक हील्स को ठीक करने के लिए यहां 5 कारगर उपचार, सूखी और फटी एड़ियों से मिलेगी मुक्ति

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------