होम »  लिविंग हेल्दी »  Food Cravings: आपकी खाने की क्रेविंग आपके हेल्थ के बारे में क्या बता रही है? न्यूट्रिशनिस्ट डिकोड

Food Cravings: आपकी खाने की क्रेविंग आपके हेल्थ के बारे में क्या बता रही है? न्यूट्रिशनिस्ट डिकोड

Food Cravings Decode: लंच के बाद स्वीट की अत्यधिक इच्छा से लेकर आलू कुरकुरे की बेकाबू इच्छाओं तक- हम सभी बार-बार क्रेविंग से गुजरते हैं! है ना? लेकिन वास्तव में ये क्या हैं? कभी-कभी, खाने की क्रेविंग आपके स्वास्थ्य के बारे में बताने का सिर्फ शरीर का तरीका होता है.

Food Cravings: आपकी खाने की क्रेविंग आपके हेल्थ के बारे में क्या बता रही है? न्यूट्रिशनिस्ट डिकोड

Food Cravings: हम एक ऐसी दुनिया में रहते हैं जहां क्रेविंग ने सारी नकारात्मक प्रतिष्ठा हासिल कर ली है.

खास बातें

  1. शुगर की क्रेविंग सबसे कष्टदायक क्रेविंग में से एक है!
  2. कोको में मैग्नीशियम की मात्रा बहुत अधिक होती है.
  3. सेब या नाशपाती जैसे फल नाइट्रोजन की कमी को पूरा करेंगे.

Food Cravings Decode:  लंच के बाद स्वीट की अत्यधिक इच्छा से लेकर आलू कुरकुरे की बेकाबू इच्छाओं तक- हम सभी बार-बार क्रेविंग से गुजरते हैं! है ना? लेकिन वास्तव में ये क्या हैं? कभी-कभी, खाने की क्रेविंग आपके स्वास्थ्य के बारे में बताने का सिर्फ शरीर का तरीका होता है. हम एक ऐसी दुनिया में रहते हैं जहां क्रेविंग ने सारी नकारात्मक प्रतिष्ठा हासिल कर ली है. वे सभी स्वास्थ्य उत्साही सोचते हैं कि इन इच्छाओं को मार दिया जाना चाहिए क्योंकि यह अक्सर अनहेल्दी खाना है, ज़रा सोचिए- आपने शायद ही किसी को ब्रोकली की क्रेविंग के बारे में शिकायत करते सुना हो, लेकिन आपने अक्सर स्वीट फैटी और साल्टी फूड के लिए क्रेविंग करते सुना होगा. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि इस तरह की अजीबोगरीब क्रेविंग आप को क्यो होती है. खैर, यह इस बात का संकेत है कि आपकी डाइट में कुछ कमी है. 

जानें फूड क्रेविंग का क्या मतलब हैः


1. शुगर की क्रेविंगः

शुगर की क्रेविंग सबसे कष्टदायक क्रेविंग में से एक है! शुगर की क्रेविंग ब्लड शुगर को असंतुलन और क्रोमियम और मैग्नीशियम जैसे खनिजों की कमी का संकेत देती है. इस प्रकार, जब आप कुछ मीठा खाने की क्रेविंग करते हैं तो प्राकृतिक शुगर जैसे जामुन या अन्य फल चुनें क्योंकि एक्स्ट्रा शुगर का सेवन स्वास्थ्य संबंधी बहुत सारी चिंताओं का कारण है.

Benefits Of Regular Exercise: रोजाना एक्सरसाइज करने से तनाव की समस्या को कर सकते हैं दूर, ये हैं अन्य फायदे

03lg2ij

शुगर की क्रेविंग ब्लड शुगर को असंतुलन और क्रोमियम और मैग्नीशियम जैसे खनिजों की कमी का संकेत देती है.
Photo Credit: iStock

2. नमक की क्रेविंगः

शुगर की क्रेविंग की तरह, नमक की क्रेविंग चल रही है! यह क्रेविंग तनाव हार्मोन के उतार-चढ़ाव और इलेक्ट्रोलाइट्स के निम्न स्तर का परिणाम है. जब तनाव की बात आती है, तो बी-विटामिन युक्त फूड आवश्यक होते हैं जैसे कि नट्स, बीज, फलियां, साबुत अनाज, फल और सब्जियां. इसके अलावा, शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स को बढ़ाने के लिए, नारियल पानी एक अच्छा विकल्प है या आप भोजन में गुलाबी हिमालयन नमक जैसे गुणवत्ता वाले नमक एड करने पर भी विचार कर सकते हैं.

3. चॉकलेट की क्रेविंगः

चॉकलेट क्रेविंग का आमतौर पर मतलब है कि आपका शरीर अधिक मैग्नीशियम की क्रेविंग कर रहा है. कोको में मैग्नीशियम की मात्रा बहुत अधिक होती है, और चूंकि मैग्नीशियम मांसपेशियों में ऐंठन को कम करने में मदद कर सकता है- यही कारण है कि महिलाओं को मासिक धर्म होने पर चॉकलेट खाने की इच्छा बढ़ जाती है. इस पोषक तत्व से भरपूर फूड तक पहुंचें जैसे कि गहरे रंग के पत्तेदार साग, एवोकाडो और केले.

4. कार्ब्स क्रेविंगः

पास्ता, ब्रेड और अन्य कार्बोहाइड्रेट के लिए फूड क्रेविंग एक स्पष्ट संकेत है कि आपके शरीर को नाइट्रोजन की आवश्यकता है. इसलिए, ऐसे फूड चुनें जो प्रोटीन से भरपूर हों जैसे मांस, मछली, चिया सीड्स या यहां तक ​​कि सेब या नाशपाती जैसे फल जो आपके नाइट्रोजन की कमी को पूरा करेंगे.

5. चाय/कॉफी की क्रेविंगः

जबकि हम में से कई लोग एक कप चाय या कॉफी के बिना एक सुबह की कल्पना नहीं कर सकते हैं, इसके लिए लगातार इच्छा सल्फर या आयरन की कमी को इंगित करती है और उस स्थिति में, कोई भी पत्तेदार साग जैसे केल, पालक और गोभी के साथ ट्रैक पर वापस आ सकता है. ध्यान दें, अधिक विटामिन सी का सेवन बेहतर आयरन अवशोषण के लिए रास्ता बनाता है
Common Monsoon Diseases: मानसून में इन बीमारियों का होता है खतरा ज्यादा, ऐसे करें खुद का बचाव

tqt2jds

हम में से कई लोग एक कप चाय या कॉफी के बिना एक सुबह की कल्पना नहीं कर सकते हैं
Photo Credit: iStock

6. ऑयली, फैटी फूड क्रेविंगः

यदि आप ऑयली और फैटी फूड की क्रेविंग कर रहे हैं, तो आपका शरीर फैट को तरस रहा है. कोशिकाओं को स्वस्थ रखने, अंगों की रक्षा करने और कई अन्य कार्यों के लिए हमारे शरीर को फैट की आवश्यकता होती है. एवोकाडो, नट और बीज या उच्च गुणवत्ता वाले मछली के तेल के पूरक जैसे उच्च गुणवत्ता वाले फैट को पकड़ सकते हैं.

नमामी अग्रवाल दिल्ली स्थित पोषण विशेषज्ञ हैं नमामीलाइफ)

डिस्क्लेमर: इस लेख में व्यक्त विचार लेखक के निजी विचार हैं। NDTV इस लेख की किसी भी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता या वैधता के लिए ज़िम्मेदार नहीं है. सभी जानकारी यथास्थिति के आधार पर प्रदान की जाती है. लेख में दी गई जानकारी, तथ्य या राय एनडीटीवी के विचारों को नहीं दर्शाती है और एनडीटीवी इसके लिए कोई जिम्मेदारी या दायित्व नहीं लेता है.

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

वैक्सीनेशन के नियम में बदलाव, अब CoWIN पर रजिस्ट्रेशन जरूरी नहीं, सीधे सेंटर पर जाकर ले सकेंगे वैक्सीन


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल होने पर हाथों, स्किन और आंखों पर दिखाई देते हैं ये 3 लक्षण, रहें सावधान

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------