होम »  हार्ट »  Heart Attack: क्या है हार्ट अटैक के कारण और सावधानियां

Heart Attack: क्या है हार्ट अटैक के कारण और सावधानियां

साइलेंट हार्ट अटैक (Silent Heart Attack) में किसी तरह के लक्षण दिखाई नहीं देते हैं. अगर आप सोच रहे हैं कि साइलेंट हार्ट अटैक क्या होता है, तो हम आपको बताते हैं. हार्ट अटैक (Heart Attack) के करीब आधे मामले 'साइलेंट' होते हैं जो कि मौत के जोखिम को काफी बढ़ाते हैं.

Heart Attack: क्या है हार्ट अटैक के कारण और सावधानियां

Heart Attack Symptoms in Hindi: हार्ट अटैक आज एक आम बीमारी हो चला है. ताजा आंकडों के अनुसार 30 से 40 उम्र के लोगों को दिल संबंधी बीमारियों होने लगी है. माना जाता है कि हार्ट अटैक का कारण स्ट्रेस यानी तनाव है. इसी तनाव से छुटकारे के लिए अक्सर लोग धूम्रपान, नींद की दवाएं या शराब वगैरह पीने लगते हैं. यह नई आदत दिल के रोगों को और बढ़ा देती है. दौरान दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ने की स्थिति में यह जरूरी हो जाता है कि आप हार्ट अटैक के लक्षणों को पहचान कर प्राथमिक उपचार किया जाए. हार्ट अटैक के लक्षणों में हर बार सांस लेने में कठिनाई, सीने में जकड़न, छाती में भिंचाव, सांस फूलने और अचानक पसीना आने जैसी शिकायत नहीं होती. आजकल 'साइलेंट' हार्ट अटैक के मामले देखने को मिल रहे हैं. साइलेंट हार्ट अटैक (Silent Heart Attack) में किसी तरह के लक्षण दिखाई नहीं देते हैं. अगर आप सोच रहे हैं कि साइलेंट हार्ट अटैक क्या होता है, तो हम आपको बताते हैं. हार्ट अटैक (Heart Attack) के करीब आधे मामले 'साइलेंट' होते हैं जो कि मौत के जोखिम को काफी बढ़ाते हैं. हार्ट अटैक से बचने के लिए आपको अपनी तरफ से जरूरी सावधानी बरतनी चाहिए. तो चलिए हम आपको बताते हैं कि वो कौन सी बातें हैं जिनका आप ध्यान रख सकते है और आर्ट अटैक के खतरे को कम कर सकते हैं. 

यह फल आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाएगा, कई और भी हैं फायदे

5 वजह जो बढ़ाती हैं हार्ट अटैक का खतरा और दिल के दौरे से बचने के उपाय


1. तनाव से बचें. जैसा कि हमने पहले बताया. हार्ट अटैक के ज्यादातर मामले तनाव के कारण सामने आ रहे हैं. तनाव आपके शरीर पर कई तरह से प्रभाव डालता है. यह दिल की धडकनों और कार्यप्रणाली को प्रभावित करता है. इससे बचने के लिए आप एक्सरसाइज कर सकते हैं.

स्मोकिंग छोडने के लिए ई-सिगरेट? बढ़ा सकती है हृदय रोग का जोखिम ज्यादा

2. एक सर्वे में कहा गया है कि भारत में रहने वाली करीब 50 प्रतिशत महिलाओं में कोलेस्ट्रॉल का स्तर सामान्य से अधिक है. यह उन्हें कार्डियोवस्क्यूलर बीमारियां (सीवीडी) होने का खतरा बढ़ाता है. शरीर में कोलेस्ट्रोल बढ़ने से हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है. ऐसे में अपने आहार का ध्यान रखें और कोलेस्टोल को कंट्रोल में रखें. 

31frrsoo

Heart Attack Symptoms: शरीर में कोलेस्ट्रोल बढ़ने से हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है. 

3. हार्ट अटैक को लाइफस्टाइल की देन भी कहा जा सकता है. क्योंकि एक सक्रिय जीवनशैली को अपनाकर आप इससे काफी हद तक बचे रह सकते हैं. 

वजन घटाना है तो इन तीन तरीकों को अपने डेली रूटीन में जरूर करें शामिल
 
4. हाई ब्लड प्रेशर या डायबिटीज भी हार्ट अटैक की वजह हो सकती है. हाई बीपी से आपकी नसें प्रभावित होती हैं और इसका दिल पर भी प्रभाव पड़ता है. इतना ही नहीं उच्च रक्तचाप आर्टरीज पर भी प्रभाव डालती है, जो हार्ट अटैक के खतरे को बढ़ा सकता है.

5. मोटापा या बहुत अधिक वजन भी हार्ट अटैक को बुलावा दे सकता है. शरीर का बढ़ा हुआ वजन दिल के लिए खतरनाक है. वजन पर नजर रखें क्योंकि यह हाई कोलेस्ट्रॉल की संभावना को बढ़ाता है, जिससे मधुमेह, धमनी रोग का खतरा और रक्तचाप हो सकता है. बीएमआई (बॉडी मास इंडेक्स) पर भी नजर रखें और इसे उचित स्तर तक बनाए रखें.

और खबरों के लिए क्लिक करें.


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Home Remedies for Dengue: डेंगू से निपटने के 6 घरेलू उपाय...

Female Sexual Dysfunction: क्या है इसकी वजह, जानें यौन अक्षमता के बारे में सबकुछ...

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------