होम »  ख़बरें »  अविश्वसनीय लेकिन सच! महिला के गले की नली से निकाली 53 पथरी

अविश्वसनीय लेकिन सच! महिला के गले की नली से निकाली 53 पथरी

सितंबर के आखिरी सप्ताह में यह ऑपरेशन किया गया. इस दौरान शरीर में बिना किसी कट के बास्केट और फोरसेप्स का उपयोग करके पत्थरों को एक-एक करके हटाया गया. इस पूरी प्रक्रिया में दो घंटे लगे और अंत में 53 पत्थर निकाले गए. महिला भोजन या पेय के बाद पैरोटिड ग्रंथि के बार-बार होने वाले दर्द और सूजन से पीड़ित थी.

अविश्वसनीय लेकिन सच! महिला के गले की नली से निकाली 53 पथरी

सर गंगाराम अस्पताल (Sir Ganga Ram Hospital) के डॉक्टरों ने एक दुर्लभ ऑपरेशन में इराक की एक 66 वर्षीय महिला के गले में लार नली (थूक की नली) व ग्रंथि में मौजूद 53 पथरी निकाली. अस्पताल के अनुसार, सितंबर के आखिरी सप्ताह में यह ऑपरेशन किया गया. इस दौरान शरीर में बिना किसी कट के बास्केट और फोरसेप्स का उपयोग करके पत्थरों को एक-एक करके हटाया गया. इस पूरी प्रक्रिया में दो घंटे लगे और अंत में 53 पत्थर (53 stones) निकाले गए. महिला भोजन या पेय के बाद पैरोटिड ग्रंथि के बार-बार होने वाले दर्द और सूजन से पीड़ित थी.

अस्पताल की ओर से जारी बयान में कहा गया कि बाद में पता चला कि मरीज के दाएं तरफ पैरोटिड नली में कई पत्थर हैं और सबसे बड़ा पत्थर लगभग 8 मि. मी. आकार का है, जो नली के बीच में अटका हुआ है.

क्या है हर्पीस वायरस और अल्जाइमर के बीच संबंध, यहां जानें हर बात...


जीका संक्रमण से भी गर्भपात संभव, जानें इसके लक्षण, बचाव और इलाज के बारे में...

बयान में कहा गया, "अपने देश और आसपास के अधिकांश डॉक्टरों ने पेरोटिड ग्रंथि को हटाने की एक प्रक्रिया का सुझाव दिया जो चेहरे पर एक भद्दा निशान छोड़ देता और उसके चेहरे को लकवाग्रस्त कर देता. वह सियालेंडोस्कोपी नामक एक प्रक्रिया के बारे में सुनकर भारत आई थी, जहां सिर्फ 1.3 मि. मी. माप वाला एक छोटा एंडोस्कोप पैरोटिड ग्रंथि में डाला जाता है और रुकावट का कारण पता किया जाता है."

सर गंगा राम अस्पताल के ईएनटी सलाहकार वरुण राय के अनुसार, "सबसे बड़ी चुनौती यह थी कि ग्रंथि या 3 मि. मी. चौड़ी नलिका पर कोई चोट लगे बिना सभी पत्थरों को हटा दिया जाए."

सर्जरी के बाद मरीज को घर भेज दिया गया है. डॉक्टर दावा कर रहे हैं कि वह पूरी तरह से ठीक हो गई है और उसे अपनी पसंद का भोजन करने की अनुमति भी दी गई है. (इनपुट-आईएएनएस)

और खबरों के लिए क्लिक करें.

Lymphatic Filariasis: मच्छरों से सावधान! वायरस ही नहीं ये भयंकर रोग भी फैलाते हैं मच्छर

क्या है निपाह वायरस, इसके लक्षण और इलाज, यहां हैं बचने के उपाय

लगी शर्त! इन फायदों को सुनकर आप नहीं फेकेंगे केले के छिलके, करेंगे कुछ ऐसा...

चिकनगुनिया: बचाव जरूरी है, जानें इसके लक्षण, कारण और इलाज...

Home Remedies for Dengue: डेंगू से निपटने के 6 घरेलू उपाय...

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------