होम »  मनसिक स्वास्थ्य »  WHO ने दक्षिण एशियाई देशों को मानसिक स्वास्थ्य और आत्महत्या की प्रवृत्ति पर चेताया

WHO ने दक्षिण एशियाई देशों को मानसिक स्वास्थ्य और आत्महत्या की प्रवृत्ति पर चेताया

कोविड-19 वैश्विक महामारी (Covid-19) के बढ़ते प्रकोप से लोगों की आजीविका पर पड़ रहे प्रभाव और जनमानस में फैले डर तथा चिंता के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन, डब्ल्यूएचओ (WHO) ने बृहस्पतिवार को दक्षिण एशियाई देशों ( South-East Asia region countries) से आह्वान किया कि वे मानसिक स्वास्थ्य (mental health) की ओर अधिक ध्यान दें तथा आत्महत्या की घटनाओं को रोकने का प्रयास (suicide prevention) करें.

WHO ने दक्षिण एशियाई देशों को मानसिक स्वास्थ्य और आत्महत्या की प्रवृत्ति पर चेताया

कोविड-19 वैश्विक महामारी (Covid-19) के बढ़ते प्रकोप से लोगों की आजीविका पर पड़ रहे प्रभाव और जनमानस में फैले डर तथा चिंता के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन, डब्ल्यूएचओ (WHO) ने बृहस्पतिवार को दक्षिण एशियाई देशों ( South-East Asia region countries) से आह्वान किया कि वे मानसिक स्वास्थ्य (mental health) की ओर अधिक ध्यान दें तथा आत्महत्या की घटनाओं को रोकने का प्रयास (suicide prevention) करें.

डब्ल्यूएचओ की दक्षिण एशिया क्षेत्रीय निदेशक डॉ पूनम खेत्रपाल सिंह ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण से संबंधित कलंक की धारणा से अकेलेपन और अवसाद की भावना पैदा हो सकती है.

Benefits Of Garlic Oil: बालों के झड़ने, स्किन पर मुहासे और मुंह की दुर्गंध के लिए शानदार है लहसुन का तेल!


उन्होंने कहा कि कोविड-19 के दौर में मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करने वाला एक कारण घरेलू हिंसा भी है जो विषाणु के प्रसार को रोकने के उद्देश्य से लागू किए गए लॉकडाउन के दौरान लगभग सभी देशों में बढ़ी है.


सिंह ने कहा, “जीवन और आजीविका को प्रभावित करने वाली महामारी से लोगों में भय, चिंता, अवसाद और तनाव उत्पन्न हो रहा है. सामाजिक दूरी, अकेलापन और विषाणु के बारे में लगातार नयी जानकारी सामने आने से मानसिक स्वास्थ्य पर असर पड़ा है.”

उन्होंने इस बात को रेखांकित किया कि हमें महामारी के प्रसार को रोकने पर ध्यान केंद्रित करने के साथ ही मानसिक स्वास्थ्य की स्थिति और आत्महत्या की प्रवृत्ति का पहले से पता लगाने के उपाय करने होंगे.

Natural Remedies For Back Pain: कमर दर्द से परेशान लोगों के लिए कारगर हैं ये 5 नेचुरल उपाय, जल्द मिलेगी राहत!

सिंह ने कहा कि विश्व भर में प्रतिवर्ष आठ लाख लोग आत्महत्या कर लेते हैं और यह 15-29 वर्ष की आयु के युवाओं की मृत्यु का बहुत बड़ा कारण है.


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

डब्ल्यूएचओ की क्षेत्रीय निदेशक ने कहा कि साक्ष्यों के आधार पर यह कहा जा सकता है कि किसी एक वयस्क द्वारा आत्महत्या की घटना के अलावा 20 से अधिक लोग आत्महत्या का प्रयास कर चुके होते हैं. उन्होंने कहा कि विश्वभर में आत्महत्या से होने वाली मौतों में से 39 प्रतिशत मौतें डब्ल्यूएचओ दक्षिण एशिया क्षेत्र में होती हैं.

Benefits Of Garlic Oil: बालों के झड़ने, स्किन पर मुहासे और मुंह की दुर्गंध के लिए शानदार है लहसुन का तेल!

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------