होम »  लिविंग हेल्दी »  World Stroke Day 2020: साइलेंट स्ट्रोक है बेहद खतरनाक, क्या हैं Stroke के कारण? लक्षण के साथ जानें इसके बारे में सबकुछ

World Stroke Day 2020: साइलेंट स्ट्रोक है बेहद खतरनाक, क्या हैं Stroke के कारण? लक्षण के साथ जानें इसके बारे में सबकुछ

World Stroke Day: विश्व स्ट्रोक दिवस जो प्रत्येक साल 29 अक्टूबर को मनाया जाता है. यह दिन स्ट्रोक की गंभीर चिकित्सा स्थिति के लिए रोकथाम के कदमों के बारे में जागरूकता फैलाने की कोशिश करता है. विशेषज्ञ से मूक स्ट्रोक (Silent Stroke) के बारे में जानने के लिए यहां पढ़ें...

World Stroke Day 2020: साइलेंट स्ट्रोक है बेहद खतरनाक, क्या हैं Stroke के कारण? लक्षण के साथ जानें इसके बारे में सबकुछ

World Stroke Day 2020: स्ट्रोक तब होता है जब मस्तिष्क को रक्त की आपूर्ति प्रतिबंधित होती है

खास बातें

  1. 29 अक्टूबर को विश्व स्ट्रोक दिवस मनाया जाता है.
  2. शारीरिक रूप से सक्रिय रहने से स्ट्रोक के जोखिम को रोकने में मदद मिलती है.
  3. स्ट्रोक के जोखिम को कम करने के लिए हेल्दी ब्लड प्रेशर लेवल को बनाएं रखें.

World Stroke Day 2020: 70 साल से अधिक आयु के एक तिहाई से अधिक लोगों को मूक यानि साइलेंट स्ट्रोक (Silent Stroke) हो सकता है और यह विकलांगता का दूसरा प्रमुख कारण है. स्ट्रोक (Stroke) के दौरान, मस्तिष्क का हिस्सा रक्त और ऑक्सीजन की आपूर्ति से वंचित हो जाता है, जो स्मृति की कमी, भाषा को नष्ट करने या चलने में कठिनाई जैसी स्थायी अक्षमता की ओर जाता है. कई व्यक्तियों में मूक स्ट्रोक होता है, जिसमें उनके पास आसानी से पहचाने जाने वाले लक्षण नहीं होते हैं, और वे इससे अनजान होते हैं.

स्ट्रोक के लक्षण (Stroke Symptoms) पहचानना काफी जरूरी है. हालांकि, साइलेंट स्ट्रोक मस्तिष्क को स्थायी नुकसान पहुंचाते हैं. इसके अलावा, अगर किसी व्यक्ति को एक से अधिक साइलेंट स्ट्रोक का अनुभव होता है, तो उसे स्मृति से संबंधित समस्याएं होने की संभावना है.

Ayurvedic Weight Loss Drink: वजन कम करने के साथ पूरे शरीर का फैट घटाने में कारगर है ये आयुर्वेदिक ड्रिंक!


मूक (साइलेंट) स्ट्रोक का क्या कारण है? | What Causes Silent Stroke?

मूक स्ट्रोक के सामान्य कारण डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, संकुचित धमनियां, हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल और आनुवंशिक कारण हैं.

o7bd4g4gWorld Stroke Day: उच्च रक्तचाप आपको स्ट्रोक के उच्च जोखिम में डाल सकता है

साइलेंट स्ट्रोक को कैसे पहचानें? | How To Recognize Silent Stroke?

डॉक्टर आपके मस्तिष्क के सीटी स्कैन या एमआरआई के माध्यम से आपके स्ट्रोक का पता लगा सकता है. छवियां घावों को दिखाएंगी जहां मस्तिष्क की कोशिकाओं ने काम करना बंद कर दिया है. मूक स्ट्रोक के लक्षणों को अक्सर नजरअंदाज किया जाता है.

Uric Acid को कम कर जोड़ों के दर्द और सूजन से छुटकारा दिलाती है यह एक चीज, जानें कई और गजब के स्वास्थ्य लाभ!

- मूड में बदलाव
- संतुलन और समन्वय की हानि.
- मूत्राशय पर नियंत्रण का नुकसान
- संज्ञानात्मक क्षमताओं का नुकसान

मूक स्ट्रोक के बाधाओं को कैसे कम करें? | How To Reduce The Odds Of Silent Stroke?

डायबिटीज, हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल और हाई ब्लड प्रेशर के कारण मूक स्ट्रोक की संभावना बढ़ जाती है. इसलिए इन पर नियंत्रण और जीवनशैली की आदतों में बदलाव से मूक स्ट्रोक के जोखिम को कम करने और समग्र स्वास्थ्य में सुधार होने की संभावना है.

अपने ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखें: हाई ब्लड प्रेशर से साइलेंट स्ट्रोक होने का खतरा बढ़ जाता है. इस प्रकार, स्वस्थ वजन बनाए रखने, कम सोडियम वाले आहार का सेवन और नियमित जांच करवाकर अपने रक्तचाप को नियंत्रित करें.

एक्सरसाइज: सप्ताह में पांच दिन कम से कम 30 मिनट तक वर्कआउट करने से साइलेंट स्ट्रोक होने की संभावना 40 प्रतिशत तक कम हो सकती है

अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करें: सुनिश्चित करें कि आपका समग्र कोलेस्ट्रॉल स्तर 200 mg/dL से कम है और आपका LDL कोलेस्ट्रॉल 100 mg/dL से कम है

पाचन को इंप्रूव करने में कमाल है एलोवेरा, स्किन प्रोब्लम्स को भी रखता है दूर, जानें 5 शानदार फायदे!

धूम्रपान न कहें: धूम्रपान हृदय रोग और स्ट्रोक के जोखिम से जुड़ा हुआ है.

कृत्रिम रूप से मीठे पेय पदार्थों का सेवन डिमेंशिया और स्ट्रोक दोनों के लिए आपके जोखिम को बढ़ा सकता है.

हर दिन फल या सब्जियों के पांच या अधिक सर्विंग का सेवन करें.

हालांकि ये कुछ दिशा-निर्देश हैं, जो मूक स्ट्रोक के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं, यह आवश्यक है कि अपने चिकित्सक को नियमित रूप से देखाएं और खुद के जोखिम को कम करें.

(डॉ. पीआर कृष्णन, सलाहकार, न्यूरोलॉजी, फोर्टिस अस्पताल, बन्नेरघट्टा रोड)

अस्वीकरण: इस लेख के भीतर व्यक्त की गई राय लेखक की निजी राय है. एनडीटीवी इस लेख की किसी भी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता, या वैधता के लिए ज़िम्मेदार नहीं है. सभी जानकारी एक आधार पर प्रदान की जाती है. लेख में दिखाई देने वाली जानकारी, तथ्य या राय एनडीटीवी के विचारों को प्रतिबिंबित नहीं करती है और एनडीटीवी उसी के लिए कोई जिम्मेदारी या दायित्व नहीं मानता है.

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

दुबले-पतले लोग अब न हो परेशान, मोटा होने के लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्खे और बढ़ाएं अपना वजन

महिलाओं की इन 5 समस्याओं को जल्द दूर करने के लिए कारगर है केसर का पानी, इस तरीके से बनाएं


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

आयोडीन का सेवन क्यों है जरूरी? कमी से होती हैं ये खतरनाक बीमारियां, यहां जानें लक्षण और दूर करने के उपाय

Weight Loss: इन 5 कारणों से धीमा हो सकता है आपका मेटाबॉलिज्म, वजन घटाने में होगी मुश्किल!

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------