होम »  लिविंग हेल्दी »  बढ़ी उम्र में कम वजन हो सकता है नुकसानदायक

बढ़ी उम्र में कम वजन हो सकता है नुकसानदायक

छह सालों में आए बदलाव को जानने के लिए प्रत्येक चार से छह साल का वजन माप लिया गया और लंबी अवधि के लिए 40 साल से ज्यादा की उम्र के बाद का माप लिया गया.

बढ़ी उम्र में कम वजन हो सकता है नुकसानदायक

बढ़ा हुआ वजन एक समस्या है. यह कई बीमारियों को बुलावा देता है. यही वजह है कि वजन को नियंत्रण में रखने की सलाह दी जाती है. लेकिन जरूरत से ज्यादा वजन कम होना भी ठीक नहीं. जरूरत से ज्यादा वजन कम होने को स्वस्थ माना जा सकता है, जिस पर शोधकर्ताओं ने दावा किया कि इससे बुजुर्गो की हड्डियों की सघनता, बनावट और मजबूती में कमी हो सकती है. एक अध्ययन के मुताबिक, कंकाल में परिवर्तन के परिमाण नैदानिक रूप से महत्वपूर्ण थे और जिन 40 वर्षो की उम्र से अधिक लोगों ने पांच प्रतिशत या उससे अधिक वजन कम किया, उन लोगों में फ्रैक्चर के जोखिम में लगभग तीन गुना वृद्धि हुई.

बुजुर्गों में दीर्घकालिक और हाल ही में वजन कम करने को निम्न कॉर्टिकल घनत्व और मोटाई, अधिक कॉर्टिकल पोरोसिटी और निम्न घनत्व एवं संख्या के साथ जुड़ा पाया गया. 
 

सावधान! पता भी नहीं चलेगा और रेटिनल बीमारियां बना देती हैं अंधा...

इन दो चीजों से दिमाग हो जाएगा सबसे तेज, आज ही अपनाएं...

थकान दूर करने के साथ ही अटैक के खतरे को भी कम करता है स्टीम बाथ

अगर ये सोचकर छोड़ रहे हैं नाश्ता, तो पड़ सकते है लेने के देने...


अमेरिकी की एजिंग रिसर्च के लिए हिब्रू सीनियरलाइफ इंस्टीट्यूट के मुख्य शोधकर्ता डगलस पी. कील ने कहा, "हमने अपने शोध में पाया कि चार से छह साल की कम अवधि के दौरान वजन घटाने वाले पुरुषों व महिलाओं और 40 साल से अधिक उम्र के बाद वजन घटाने वाले पुरुषों व महिलाओं की हड्डियों की सूक्ष्म-बनावट में कमी देखी गई. जबकि वजन नहीं घटाने वाले व्यक्तियों में इस प्रकार की कमी नहीं देखी गई."

यह अध्ययन जर्नल ऑफ बोन एंड मिनरल रिसर्च में प्रकाशित हुई है, इसमें 70 साल की उम्र के औसत वाले 595 पुरुष और 796 महिलाएं शामिल थीं.

Fact File: ऐसा क्या होता है कि जीभ पर रखते ही पिघल जाती है चॉकलेट

हलिया छह सालों में आए बदलाव को जानने के लिए प्रत्येक चार से छह साल का वजन माप लिया गया और लंबी अवधि के लिए 40 साल से ज्यादा की उम्र के बाद का माप लिया गया.

एनडीटीवीडॉक्टर से और खबरों के लिए क्लिक करें.

इनपुट आईएएनएस

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------