होम »  लिविंग हेल्दी »  इस राज्य में रोज भूख से होती है 92 बच्चों की मौत!

इस राज्य में रोज भूख से होती है 92 बच्चों की मौत!

राज्य में हर रोज 92 बच्चे कुपोषण के कारण दम तोड़ देते हैं.

इस राज्य में रोज भूख से होती है 92 बच्चों की मौत!

आम आदमी पार्टी (आप) नेताओं ने मध्य प्रदेश में कुपोषण की बढ़ती दर पर सवाल खड़े करते हुए कहा है कि राज्य में हर रोज 92 बच्चे कुपोषण के कारण दम तोड़ देते हैं. मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष आलोक अग्रवाल और राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता ने मंगलवार को इंदौर जोन के जावरा, रतलाम, मंदसौर और नीमच में विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सेदारी की. इस दौरान अग्रवाल और गुप्ता ने कहा कि प्राकृतिक रूप से संपन्न मध्य प्रदेश में रोजाना दर्जनों बच्चों की मौत कुपोषण से होना गंभीर चिता का विषय है. 

देश में कुपोषण को खत्म करने में आंकड़े निभाएंगे अहम रोल

रतलाम में संवाददाताओं से चर्चा करते हुए आलोक अग्रवाल ने प्रदेश की जर्जर शिक्षा एवं स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल करते हुए कहा कि सरकार ने 25000 से ज्यादा सरकारी स्कूलों को बंद कर दिया है. वर्तमान में 90 प्रतिशत स्कूलों में बिजली-पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं नहीं हैं. स्वास्थ्य की ²ष्टि से भी प्रदेश सरकार नागरिकों की जरूरतों को पूरा करने में नाकाम रही है.


उन्होंने कहा, "प्रदेश में आवश्यकता के अनुपात में महज 50 प्रतिशत अस्पताल हैं. जो हैं, उनमें भी आधे से ज्यादा में डॉक्टर नहीं हैं. प्रदेश में 92 बच्चों की मौत हर रोज कुपोषण के कारण हो जाती है." 

राज्ससभा सांसद सुशील गुप्ता ने कहा कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने कई जनोपयोगी योजनाओं की शुरुआत की है. इनका लाभ मध्यम वर्ग से लेकर गरीबों तक पहुंच रहा है. दिल्ली में सभी निजी स्कूलों में 25 प्रतिशत सीटें आíथक रूप से कमजोर वर्ग के लिए सरकार की ओर से आरक्षित हैं.

Teacher's Day 2018: जब हार्ट फेल्योर से ज‍िंदगी की जंग हार गए थे डॉ सर्वपल्‍ली राधाकृष्‍णन...!

Rat Fever: क्या है और कैसे फैलता है रैट फीवर, जानें इसके लक्षण, बचाव के उपाय और इलाज के बारे में

भारत में हर चौथी महिला को है यह रोग, फिर भी हैं अनजान...

Rat Fever: केरल में बाढ़ के बाद अब 'रैट फीवर' का कहर


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने बताया कि सभी निजी अस्पतालों में भी 10 प्रतिशत बिस्तर दिल्ली सरकार की ओर से जरूरतमंदों के लिए आरक्षित हैं. केंद्र सरकार के प्रतिनिधि उपराज्यपाल की वजह से हुई देरी के बावजूद दिल्ली सरकार 200 से ज्यादा मोहल्ला क्लीनिक खोल चुकी है, जहां 100 से ज्यादा प्रकार की दवाएं मुफ्त दी जाती हैं. 150 से ज्यादा जांचें मोहल्ला क्लीनिक में अमीर-गरीब का फर्क किए बगैर मुफ्त में की जाती हैं. दिल्ली सरकार की कुल 1500 मोहल्ला क्लीनिक खोलने की योजना है.

रतलाम के लोकेंद्र भवन में दिगम्बर जैन समाज की ओर से आयोजित मुनिश्री प्रणाम सागर के वचन कार्यक्रम में उपस्थित सांसद गुप्ता ने कहा, "हम यदि अपने शरीर की सारी बुराइयों को छोड़ देंगे, तो स्वयं एवं परिवार के लिए काफी अच्छा महसूस करेंगे." 
 

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------