होम »  लिविंग हेल्दी »  International Yoga Day 2021: कामकाजी महिलाओं के लिए बेहद जरूरी हैं ये 5 आसान योगासन

International Yoga Day 2021: कामकाजी महिलाओं के लिए बेहद जरूरी हैं ये 5 आसान योगासन

International Yoga Day 2021: घर की जिम्मेदारी हो या ऑफिस का काम, महिलाएं अपने हर एक काम को बखूबी निभाती हैं. लेकिन अक्सर पूरे परिवार की देखभाल करते-करते वो अपनी सेहत और फिटनेस का ध्यान रखना भूल जाती हैं.

International Yoga Day 2021: कामकाजी महिलाओं के लिए बेहद जरूरी हैं ये 5 आसान योगासन

Yoga Day 2021: कामकाजी महिलाएं इन योगासनों को शामिल करें तो खुद को सेहतमंद रख सकती हैं.

खास बातें

  1. उष्ट्रासन को कैमल पोज़ भी कहते हैं.
  2. सुखासन को योग की शुरुआत करने से पहले किया जाता है.
  3. बटरफ्लाई आसन को तितली आसन भी कहते हैं.

International Yoga Day 2021:  घर की जिम्मेदारी हो या ऑफिस का काम, महिलाएं अपने हर एक काम को बखूबी निभाती हैं. पति का ध्यान रखने से लेकर बच्चों की देखभाल करने तक किसी सुपर वुमन की तरह सुबह से लेकर रात तक लगी रहती हैं. पर अक्सर यही देखने में आता है कि सब का ख्याल रखने वाली महिलाएं खुद की फिटनेस पर ध्यान नहीं दे पाती. ऐसे में अगर अपनी दिनचर्या में कामकाजी महिलाएं इन योगासनों को शामिल करें तो खुद को सेहतमंद बनाने के साथ ही दिनभर की थकान और तनाव को भी दूर कर सकती हैं. 

महिलाओं के लिए जरूरी और आसान योगासनः


1. उष्ट्रासनः

जिन महिलाओं को सीटिंग जॉब यानि एक जगह पर बैठकर काम करना पड़ता है, उनके लिए ये योगाआसन बहुत फायदेमंद है. उष्ट्रासन को कैमल पोज़ भी कहते हैं, जिसमें शरीर की मुद्रा ऊंट जैसी बन जाती है. इस योगासन को करने के लिए घुटनों के बल बैठकर दोनों हाथ कूल्हों पर रखें. घुटने कंधों के समानांतर हों और पैरों के तलवे आसमान की तरफ. अपनी हथेलियों से तलवों को छुएं. इस दौरान सिर पीछे की ओर यानी आसमान की तरफ होगा. सामान्य सांस लेते हुए कुछ देर तक इसी अवस्था में बरकरार रहें. धीरे-धीरे पहले की स्थिति में वापस लौटें. इसे रेग्युलरली करने से थाई (जांघों) पर जमा फैट कम और खून के प्रवाह को भी बेहतर किया जा सकता है. 

2. भुजंगासनः

सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं, हथेली को कंधे की सीध में रखें. दोनों पैर सीधे रखें, ध्यान रखें दोनों पैरों के बीच थोड़ी भी दूरी न हो. अब शरीर के आगे वाले हिस्से को सांस लेते हुए ऊपर उठाएं. इस दौरान कमर पर ज्यादा खिंचाव ना हो इस बात का ख्याल रखें. कुछ सेकंड इसी अवस्था में रहें और फिर सांस छोड़ते हुए पहले की स्थिति में वापस लौटें. ये रीढ़ की हड्डी के लिए एक बेहतर व्यायाम है. कंप्यूटर या लैपटॉप पर झुककर काम करने वाली महिलाओं को कमर और गर्दन के दर्द में इस आसन से फायदा मिल सकता है. 

International Yoga Day 2021: फेफड़ों और रेस्पिरेटरी सिस्टम को मजबूत करेंगे ये 6 आसन योगासन

sd676nlo

सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं, हथेली को कंधे की सीध में रखें. दोनों पैर सीधे रखें, ध्यान रखें दोनो पैरों के बीच थोड़ी भी दूरी न हो. Photo Credit: iStock

3. सर्वांगासनः

नाम से ही साफ है कि ये सभी अंगों का आसन है. पीठ के बल लेट जाएं, अब एकसाथ पैरों, कूल्हों और कमर को ऊपर की ओर उठाएं. ये करते वक्त सारा भार कंधे और गर्दन पर आ जाएगा. अब अपने हाथों की मदद से कमर को कुछ देर ऊपर की तरफ उठाकर रखें. इस दौरान कोहनी ज़मीन से सटी होगी. कोशिश करें कि पैर के साथ पूरा शरीर सीधा हो. अब छाती को ठोडी से लगाकर रखें. कुछ देर रुक कर धीरे-धीरे पहले वाली अवस्था में वापस लौटें. इस आसन से बाल झड़ने जैसी समस्या में भी फायदा मिल सकता है. 

4. बटरफ्लाई या तितली आसनः

बटरफ्लाई आसन को तितली आसन भी कहते हैं. महिलाओं के लिए ये आसन बहुत फायदेमंद है. ये आसन करने के लिए पैरों को सामने की ओर फैलाते हुए बैठ जाएं. इस दौरान रीढ़ की हड्डी सीधी रखें. घुटनों को मोड़ें, दोनों हाथों से अपने दोनों पांव को कसकर पकड़ें. लंबी गहरी सांस लें, तितली के पंखों की तरह दोनों को पैरों को ऊपर नीचे हिलाना शुरू करें. इस आसन में महिलाओं को पीरियड्स में होने वाली तकलीफों से भी निजात पा सकती है. 

5. सुखासनः

सुखासन को योग की शुरुआत करने से पहले किया जाता है. इससे सांस लेने की प्रक्रिया पर नियंत्रण पाना आसान हो जाता है. सुखासन करने के लिए जमीन पर चटाई बिछा कर पालथी मारकर बैठ जाएं. आंखें बंद करके अपनी हथेलियां घुटनों पर रखें और गहरी सांस लें. दिनभर की थकान और तनाव को कम करने के लिए ये आसन स्ट्रेस बस्टर का काम कर सकता है.

6. कुंडलिनी योगः

इस योग को करने से हमारे शरीर के अंदर की ऊर्जा जागृत होती है. इससे करने के लिए कई तरह के सांस लेने के व्यायाम, मंत्रों का जप, शारीरिक व्यायाम और ध्यान लगाने की क्रिया को करना पड़ता है. कुंडलिनी योग करने से अंदर की शक्ति बढ़ने के साथ ही 7 चक्र उत्तेजित होते हैं. इन चक्रों के जागृत होते ही शरीर में पॉजिटिविटी बढ़ती है और एकाग्रता की क्षमता में भी बढ़ोतरी हो सकती है.

International Yoga Day 2021: Asanas for Lungs, Breathing Problem | 5 योगासन जो फेफड़े बनाएंगे मजबूत

स्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

 हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

Stress से राहत पाने के लिए Shilpa Shetty ने बताया एक योगासन और उसे करने का सही तरीका


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

International Yoga Day 2021: योग के दौरान ये 5 आम गलतियां, पड़ सकती हैं बहुत भारी

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------