होम »  एचआईवी/एड्स »  अच्छी खबर! एचआईवी मामलों में 16 फीसदी की गिरावट

अच्छी खबर! एचआईवी मामलों में 16 फीसदी की गिरावट

पूर्वी व दक्षिणी अफ्रीका में अभी लंबा रास्ता तय करना है. यह क्षेत्र सबसे ज्यादा एचआईवी प्रभावित हैं. इसके अलावा पूर्वी यूरोप व मध्य एशिया (29 फीसदी), मध्य पूर्व व उत्तर अफ्रीका (10 फीसदी) व लैटिन अमेरिका (7 फीसदी) में एड्स के नए संक्रमणों से चिंताजनक स्थिति पैदा हो रही है.

अच्छी खबर! एचआईवी मामलों में 16 फीसदी की गिरावट

यूएनएड्स ने मंगलवार को जारी अपने हालिया रिपोर्ट में कहा है कि वैश्विक रूप से 2010 से 16 फीसदी की गिरावट आई है. यह दक्षिणी व पूवी अफ्रीका में स्थिर प्रगति की वजह से हुआ है. इसके अलावा 2018 में एचआईवी से 17 लाख नए लोग संक्रमित हुए हैं. यूएनएड्स के वैश्विक एड्स अपडेट से पता चलता है कि दक्षिण अफ्रीका में काफी प्रगति हुई है और उसने 2010 से एड्स से जुड़ी मौत पर 40 फीसदी व एचआईवी के नए संक्रमणों को कम करने में 40 फीसदी की सफलता हासिल की है. रिपोर्ट यह भी खुलासा करती है कि एड्स से जुड़ी मौतों में कमी जारी है, क्योंकि उपचार में विस्तार हो रहा है और एचआईवी/क्षय की सेवाओं की डिलिवरी में सुधार हो रहा है.

साल 2010 से एड्स से जुड़ी मौतों में 33 फीसदी की गिरावट आई है.

भविष्य में कम रोमांटिक होते हैं प्रिमिच्यॉर बेबी! पढ़ें पूरी रिपोर्ट


रूमेटाइड अर्थराइटिस क्या है, लक्षण, कारण, उपचार और सावधानियां

पढ़ें हाई प्रोटीन से भरपूर सोयाबीन के 9 फायदे

हालांकि, पूर्वी व दक्षिणी अफ्रीका में अभी लंबा रास्ता तय करना है. यह क्षेत्र सबसे ज्यादा एचआईवी प्रभावित हैं. इसके अलावा पूर्वी यूरोप व मध्य एशिया (29 फीसदी), मध्य पूर्व व उत्तर अफ्रीका (10 फीसदी) व लैटिन अमेरिका (7 फीसदी) में एड्स के नए संक्रमणों से चिंताजनक स्थिति पैदा हो रही है. 

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि प्रमुख आबादी व उनके यौन साझेदार अब वैश्विक तौर पर आधे से ज्यादा (54 फीसदी) नए एचआईवी संक्रमणों के लिए जिम्मेदार हैं.

और खबरों के लिए क्लिक करें.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------