होम » अक्सर पूछे जाने वाले सवाल »  क्‍या टीएसएच लेवल से प्रेगनेंसी पर असर पड़ता है?

क्‍या टीएसएच लेवल से प्रेगनेंसी पर असर पड़ता है?

Q: मेरी 25 साल की पत्नी लगभग 60 दिनों की गर्भवती है. शुरुआती 45 दिनों के दौरान, उसके ब्‍लड टेस्‍ट से पता चला कि थायराइड स्टिमुलेटिंग हार्मोन (TSH) 10.33 है. डॉक्टर ने Eltroxin (50 mcg) लेने की सलाह दी. क्या इससे प्रेगनेंसी को कोई खतरा है? हमारे डॉक्टर ने हमें बताया कि थायराइड के लेवल से बच्चे को खतरा हो सकता है. एल्ट्रोक्सिन 50 एमसीजी थायराइड लेवल को 10.33 से सामान्य स्तर तक लाने के लिए काफी है. हाई टीएसएच लेवल के कारण उसे कौन-से खाद्य पदार्थ लेने चाहिएं?

A:गर्भाधान और गर्भावस्था के दौरान हाइपोथायरायडिज्म (उच्च टीएसएच) का इलाज किया जाना चाहिए. शिशु के न्यूरोलॉजिकल विकास पर इसका असर पड़ता है. हाई टीएसएच गर्भावस्था को टर्मीनेट करने का संकेत नहीं है, लेकिन अगर यह हुआ है तो किसी भी समस्या से इंकार नहीं किया जा सकता है. आपकी पत्नी को एल्ट्रोक्सिन 50 एमसीजी प्रतिदिन लेना चाहिए और 3 सप्ताह के बाद सीरम टी4 और टीएसएच टेस्‍ट दोबारा कराना चाहिए. इसके बाद इसके लेवल के आधार पर दवा की डोज तय करनी चाहिए. Eltroxin को खाली पेट लेना चाहिए. हाइपोथायरायडिज्म के प्रकार को जानने के लिए आपकी पत्नी के ब्‍लड सैम्‍पल में एंटी टीपीओ (थायराइड पेरोक्सीडेज) एंटीबॉडीज किया जा सकता है. आमतौर पर यह सही डाइट न लेने के कारण होता है. आपको आयोडीन युक्त नमक लेना चाहिए.

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------