होम »  ख़बरें »  सावधान! जान से भी प्यारे दोस्त हो सकते हैं आपकी बीमारी की वजह...

सावधान! जान से भी प्यारे दोस्त हो सकते हैं आपकी बीमारी की वजह...

हर हफ्ते एक घंटे धूम्रपान करने वालों के संपर्क में रहने से किशोरों में व्यायाम करने में 1.5 गुना मुश्किल पाई गई, जबकि व्यायाम के दौरान या बाद में दोगुना तेज-तेज सांस लेने की समस्या दिखी.

सावधान! जान से भी प्यारे दोस्त हो सकते हैं आपकी बीमारी की वजह...

अगर आपको दोस्ती बहुत प्यारी है और आप अपने दोस्तों के साथ ही हर जगह आते जाते हैं, तो आपके लिए यह खबर काम की साबित हो सकती है. जी हां, आपको दोस्त ही एक बीमारी के पीछे की वजह साबित हो सकते हैं और वह कैसे ये हम आपको बताते हैं. पहली बात तो यह कि यह बात सिर्फ उन्हीं दोस्तों पर लागू होती है जो स्मोकिंग करते हैं. तो अब चलते हैं और बातों की ओर... 

तो खबर यह है कि हफ्ते कम से कम एक घंटे धूम्रपान के संपर्क में रहने से सांस से जुड़े जोखिमों का खतरा बढ़ सकता है. इससे किशोरों में सांस संबंधी दिक्कत व सूखी खांसी पैदा हो सकती है. अमेरिका के सिनसिनाटी विश्वविद्यालय के शोध की प्रमुख लेखक एशले मेरीयानोस ने कहा, "धूम्रपान करने वालों के संपर्क में आने को लेकर धूम्रपान से प्रभावित होने से बचने के लिए कोई सुरक्षित स्तर नहीं है."

मेरियानोस ने कहा, "यहां तक कि कम मात्रा में धूम्रपान के संपर्क में आने पर भी किशोरों को कई बार आपातकालीन विभाग में जाना पड़ सकता है और स्वास्थ समस्याएं हो सकती हैं. इसमें सिर्फ श्वसन संबंधी लक्षण नहीं हैं, बल्कि समग्र रूप से स्वास्थ्य में कमी शामिल है."


इस शोध का प्रकाशन पिडियाट्रिक्स नामक पत्रिका में किया गया है. इसमें 7,389 धूम्रपान नहीं करने वाले अमेरिकी किशोरों को शामिल किया गया, जिन्हें अस्थमा नहीं था.

शोध के निष्कर्षो से पता चला है कि हर हफ्ते एक घंटे धूम्रपान करने वालों के संपर्क में रहने से किशोरों में व्यायाम करने में 1.5 गुना मुश्किल पाई गई, जबकि व्यायाम के दौरान या बाद में दोगुना तेज-तेज सांस लेने की समस्या दिखी.

और खबरों के लिए क्लिक करें. 

...और »

रेटिना के पतले होने से हो सकता है Parkinson's

रेटिना के पतले होने से हो सकता है Parkinson's

जानें सेहत और खुशी के लिए कैसे चुनें सबसे बेहतर कैंसर बीमा प्लान

2 साल तक कम हो गई है आपकी उम्र, दिल्ली वाले रहें ज्यादा सावधान!



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------