होम »  लिविंग हेल्दी & nbsp;»  Foods To Avoid In Acidity: एसिडिटी होने पर किन चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए, न्यूट्रिशनिष्ट लवनीत बत्रा ने बताई लिस्ट

Foods To Avoid In Acidity: एसिडिटी होने पर किन चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए, न्यूट्रिशनिष्ट लवनीत बत्रा ने बताई लिस्ट

What Should Not Eat In Acidity: न्यूट्रिशनिस्ट लवनीत बत्रा बताती हैं कि एसिडिटी से निपटने के लिए हमें अपनी डेली डाइट से किन फूड्स को छोड़ना चाहिए.

Foods To Avoid In Acidity: एसिडिटी होने पर किन चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए, न्यूट्रिशनिष्ट लवनीत बत्रा ने बताई लिस्ट

फैटी भोजन धीरे-धीरे पचता है, जिससे दबाव कम होता है, पेट खाली होने में देरी होती है.

Foods To Avoid In Acidity And Gas: एसिडिटी एक सामान्य स्थिति है जिससे दुनिया भर में लोग डेली बेसिस पर लड़ते हैं. अगर आप ऐसे व्यक्ति हैं जो एसिडिटी से जूझ रहे हैं, तो आप अपनी डाइट में क्या शामिल करते हैं, यह सबसे महत्वपूर्ण है. आप जो भोजन करते हैं वह एसिडिटी को मैनेज करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और इसलिए यह जरूरी है कि आप अपनी डेली डाइट में क्या शामिल करें. इस बारे में बोलते हुए पोषण विशेषज्ञ लवनीत बत्रा बताती हैं कि "अगर एसिडिटी से जूझ रहे हैं तो डाइट में बहुत सावधानी बरतने की जरूरत है." एक इंस्टाग्राम पोस्ट में, वह कहती हैं, "इसलिए यह समझना महत्वपूर्ण है कि अगर आप एसिडिटी से पीड़ित हैं तो कुछ फूड्स से बचना सबसे अच्छा है."

पेट का मोटापा पिघलाने वाली 5 मॉर्निंग ड्रिंक्स, खाली पेट पिएं और कुछ ही दिनों में पाएं स्लिम फिट बॉडी


एसिडिटी होने पर इन 5 चीजों का सेवन न करें | Avoid These 5 Things If You Have Acidity

- फैटी फूड्स


- कैफीन

- ज्यादा नमक

- टमाटर

- खट्टे फल

पोषण विशेषज्ञ यह भी बताते हैं कि इन फूड्स को दूर क्यों रखा जाना चाहिए. हाई फैट वाले फूड्स के बारे में बोलते हुए लवनीत कहती हैं, "फैटी फूड्स धीरे-धीरे पचते हैं, जो आपके एलईएस (लोअर एसोफेजल स्फिंक्टर) पर दबाव कम करता है और पेट खाली करने में देरी करता है, जिससे रिफ्लक्स के लक्षणों का खतरा बढ़ जाता है."

दूसरी ओर कैफीन एक "सक्रिय संघटक" है, पोषण विशेषज्ञ कहती हैं. वह आगे कहती हैं, "तो, कोशिश करें और कैमोमाइल या ग्रीन टी पर स्विच करें जिसमें कैफीन की मात्रा कम हो."

धीरे-धीरे बढ़ रहा है चश्मे का नंबर, तो आंखों की रोशनी बढ़ाने वाले इन घरेलू नुस्खों को अपनाएं

एसिडिटी वालों को भी ज्यादा नमक से बचना चाहिए. लवनीत कहते हैं, "अध्ययनों से पता चला है कि सोडियम से भरपूर डाइट से एसिडिटी हो सकती है जिससे जीईआरडी हो सकता है." जीईआरडी गैस्ट्रो-ओओसोफेगल रिफ्लक्स रोग है, एक ऐसी स्थिति जहां पेट का एसिड भोजन नली की परत को परेशान करता है.

टमाटर के बारे में बात करते हुए पोषण विशेषज्ञ कहते हैं, “टमाटर और टमाटर से बनी चीजें मैलिक और साइट्रिक एसिड से भरे होते हैं, ये दोनों ही पेट में बहुत अधिक गैस्ट्रिक एसिड का उत्पादन कर सकते हैं. टमाटर आपके गैस्ट्रिक एसिड लेवल को इतना बढ़ा सकता है कि यह एसोफैगस को बैक अप करने के लिए मजबूर कर सके.

इन 7 कारणों से रुक जाती है बालों के बढ़ने की प्रक्रिया और तेजी झड़ने लगते हैं बाल

लवनीत ने यह भी कहा कि संतरे, कीवी, नींबू जैसे खट्टे फलों में एसिड मौजूद होता है, जो "निचले एसोफेजियल स्फिंक्टर को आराम देकर" रिफ्लक्स के लक्षणों को ट्रिगर करता है. वह कहती हैं, "खट्टे फलों में भी अन्य फलों की तुलना में अधिक एसिड होता है, जो एसिडिटी के लक्षणों को और खराब कर देता है."

यहां पोस्ट देखें:

हमें बताएं ये टिप्स आपके लिए मददगार थे.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

--------------------------------विज्ञापन---------------------------------- -