होम »  लिविंग हेल्दी »  दिमाग के लिए खतरनाक साबित हो सकता है स्मोकिंग और डायबिटीज...

दिमाग के लिए खतरनाक साबित हो सकता है स्मोकिंग और डायबिटीज...

हिप्पोकैम्पस में कैल्शियम का जमा होना बढ़ती उम्र में एक आम बात है.

दिमाग के लिए खतरनाक साबित हो सकता है स्मोकिंग और डायबिटीज...

धूम्रपान करने वाले या मधुमेह की बीमारी से पीड़ित लोगों के मस्तिष्क के उस हिस्से में असामान्य रूप से कैल्शियम जमा होने की आशंका अधिक होती है जो कि याद्दाश्त के लिहाज से महत्वपूर्ण होता है. यह बात एक अध्ययन में सामने आयी है. डिमेंशिया एक प्रमुख जनस्वास्थ्य समस्या है जिससे पूरी दुनिया में लाखों लोग प्रभावित होते हैं. 

घरेलू नुस्खे: दांत में है दर्द, तो ये 5 उपाय आएंगे काम

अल्जाइमर की बीमारी सबसे आम प्रकार की डिमेंशिया है. अल्जाइमर हिप्पोकैम्पस के क्षय से संबंधित है. नीदरलैंड के उट्रेच स्थित यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर की एस्थेर जे एम डी ब्राउवर ने बताया कि हमें पता है कि हिप्पोकैम्पस में कैल्शियम का जमा होना बढ़ती उम्र में एक आम बात है. 

दिलबर है तो हेल्दी रहेगा दिल, ये हम नहीं शोध कहता है...

उन्होंने बताया कि हालांकि हमें यह नहीं पता कि हिप्पोकैम्पस में कैल्शियम जमा होना क्या याद्दाश्त क्रिया से संबंधित है. शोधकर्ताओं ने उच्च रक्त चाप, मधुमेह, धुम्रपान और हिप्पोकैम्पस में कैल्शियम जमा होने के बीच संबंध का अध्ययन किया.

और खबरों के लिए क्लिक करें.
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------