होम »  स्किन »  कैसे करें गर्मियों में झुलसी त्‍वचा की देखभाल, एक्सपर्ट से जानिए

कैसे करें गर्मियों में झुलसी त्‍वचा की देखभाल, एक्सपर्ट से जानिए

गर्मी और वायु प्रदूषण से चेहरे पर कील-मुहांसे, छाइयां, काले दाग, ब्लैकशेड और पसीने की बदबू की समस्या हो जाती है.

कैसे करें गर्मियों में झुलसी त्‍वचा की देखभाल, एक्सपर्ट से जानिए

सनबर्न होने पर त्‍वचा की देखभाल जरूरी है

खास बातें

  1. सूरज की तेज क‍िरणों की वजह से त्‍वचा झुलस जाती है
  2. घर से न‍िकलनते समय सनस्‍क्रीन का इस्‍तेमाल करें
  3. साथ ही नैचुरल फेस पैक और स्‍क्रब भी बढ़‍िया ऑप्‍शन हैं
गर्मियों का मौसम आ गया है. यह मौसम त्वचा के लिए कई चुनौतियां लेकर आता है. जैसे ही मौसम बदलता है त्वचा की स्थिति और उसकी चुनौतियां भी बदल जाती है. ऐसे में त्वचा को आप कैसे बनाए रख रखते हैं हेल्दी और चमकदार...

गर्मियों के मौसम में चिलचिलाती धूप और यूवी रेडिएशन की वजह से त्वचा में नमी कम हो जाती है. यही वजह है कि त्वचा रूखी, मुरझाई और बेजान हो जाती है. साथ ही त्वचा का रंग सामान्य से ज्यादा गहरा या काला हो जाता है. सौंदर्य विशेषज्ञ शहनाज हुसैन ने इस मौसम में त्वचा की देखभाल के उपाय बताते हुए कहा कि इस समय सूरज की किरणों से त्वचा के बचाव के लिए सनस्क्रीन काफी प्रभावी माना जाता है. इसके अलावा टोपी पहनना, छाता लेकर चलना और दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक घर में रहना अच्‍छा रहता है. अगर आपको भरी दोपहर में घर से निकलना ही पड़े तो सूरज की गर्मी से बचाव करने वाली सनस्क्रीन बाजार में मौजूद हैं.

गर्मी और वायु प्रदूषण से चेहरे पर कील-मुहांसे, छाइयां, काले दाग, ब्लैकशेड और पसीने की बदबू की समस्या हो जाती है. 

कैसे झुलसती है त्वचा?
सूरज के सीधे प्रभाव में आने से त्वचा में मेलेनिन की मात्रा बढ़ जाती है जो कि रंगत को प्रभावित करता है. मेलेनिन असल में सूरज की हानिकारक अल्ट्रा वॉयलेट किरणों से त्वचा की रक्षा करता है. मेलेनिन जब त्वचा के निचले हिस्सों में पैदा होने के बाद इसके ऊपरी बाहरी हिस्सों तक पहुंचता है तो त्वचा की रंगत काली पड़ जाती है. 

शहनाज ने कहा कि गर्मी से झुलसी त्वचा की रंगत को दुबारा हल्की रंगत में लाने के लिए त्वचा के हिसाब से फेशियल स्क्रब का इस्‍तेमाल कर सकते हैं. अगर आपकी स्किन ड्राई हो तो हफ्ते में सिर्फ एक बार ही स्क्रब का इस्‍तेमाल करना चाहिए, लेकिन ऑइली स्किन में इसका उपयोग दोहरा सकते हैं. 

स्क्रब को त्वचा पर आहिस्ता से गोलाकार स्वरूप में उंगलियों के सहारे लगाना चाहिए और कुछ समय बाद इसे ताजे सादे पानी से धो डालना चाहिए. इससे त्वचा के डेड सेल्‍स हट जाते हैं आर उसमें निखार आ जाता है.

शहनाज ने कहा कि हमारे घरों के क‍िचन में ऐसी चीजें हर वक्‍त मौजूद रहती हैं जिनसे आसानी से स्क्रब बनाया जा सकता है. वास्तव में रसोई में रखे अनेक उत्पादों को झुलसी त्वचा को ठीक करने के लिए सीधे तौर पर लगाया जा सकता है. 

गर्मियों में त्‍वचा की देखभाल के टिप्‍स
-
दिनभर बाहर रहने के बाद शाम को चेहरे पर कुछ समय तक बर्फ के टुकड़ों को रखिए. इससे सनबर्न से हुए नुकसान से राहत मिलेगी और त्वचा में नमी बढ़ेगी.
- चेहरे पर टमाटर का पेस्ट लगाने से भी गर्मियों में झुलसी त्वचा को काफी सुकून मिलता है.
- सनबर्न के नुकसान को कम करने के लिए चेहरे को बार-बार ताजे, साफ और ठंडे पानी से धोइए.
- गुलाब जल में तरबूज का रस मिलाकर चेहरे पर लगाने के 20 मिनट बाद ताजे पानी से धो डालने से सनबर्न का असर खत्म हो जाएगा.
- एक चम्मच शहद में दो चम्मच नींबू का रस मिलाइए और आधे घंटे बाद ताजे साफ पानी से धो डालिए. इसे रोजाना चेहरे पर लगाइए.
- आइली स्किन को राहत देने के लिए खीरे के पल्‍प को दही में मिलाइए और इस मिश्रण को 20 मिनट बाद ताजे साफ पानी से धो डालिए.
- सूरज की किरणों से झुलसी त्वचा पर कॉटनवूल की मदद से ठंडा दूध लगाएं।. इससे त्वचा को न केवल राहत मिलेगी, बल्कि त्वचा कोमल बनकर निखरेगी. लंबे समय तक इसका इस्‍तेमाल करने से त्वचा की रंगत में निखार आएगा.
- मुट्ठी भर तिल को पीसकर इसे आधे कप पानी में मिला लीजिए और दो घंटे तक मिश्रण को कप में रखने के बाद पानी को छानकर इससे चेहरा साफ कर लीजिए. झुलसी त्वचा में फायदा होगा.
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------