होम »  गर्भावस्था »  बच्चों में मृत्यु दर कम करने के लिए ब्रेस्ट फीडिंग को बढ़ावा देगा ये राज्य

बच्चों में मृत्यु दर कम करने के लिए ब्रेस्ट फीडिंग को बढ़ावा देगा ये राज्य

ब्रेस्ट फीड को बढ़ावा देकर शिशु मृत्यु दर और बचपन में होने वाली मृत्यु की घटनाओं को कम करने की पहल...

बच्चों में मृत्यु दर कम करने के लिए ब्रेस्ट फीडिंग को बढ़ावा देगा ये राज्य

स्तनपान को बढ़ावा दे रही है हिमाचल प्रदेश सरकार

खास बातें

  1. स्तनपान को बढ़ावा देने के लिए इस राज्य की पहल
  2. शिशु मृत्यु दर कम करना उद्देश्य
  3. मदर्स ऐब्सलूट एफेक्शन कार्यक्रम की शुरुआत
स्तनपान हर नई मां और नवजात के लिए बहुत जरूरी है. नवजात के लिए तो छह माह की उम्र तक सिर्फ मां का दूध् ही सही माना गया है. हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने स्तनपान को बढ़ावा देने के उद्देश्य से 3 अप्रैल को राज्य में ‘मदर्स ऐब्सलूट एफेक्शन’ (एमएए) कार्यक्रम की शुरुआत की.

मंत्री ने कहा कि स्तनपान से शिशु मृत्यु दर और बचपन में होने वाली मृत्यु की घटनाओं को कम करने और एक बच्चे को पूरा पोषण प्रदान करने में सहायता मिलती है. कार्यक्रम का उद्देश्य स्तनपान की महत्ता के बारे में लोगों को जागरूक करना है.

राज्य के सभी बच्चों को स्वस्थ्य रखने के लक्ष्य के मंत्री ने कार्यक्रम की शुरूआत करते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारियों से इसके प्रभाव की निगरानी करने का निर्देश दिया है.

उन्होंने कहा कि कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य समुदाय में जागरूकता लाना, आशा कार्यकर्ताओं के जरिए अंतर-व्यक्तिगत संचार को मजबूत करना, सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं और कार्यस्थल पर स्तनपान कराने के लिए कुशल सहायता उपलब्ध कराना है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रधान सचिव प्रबोध सक्सेना ने बताया कि राज्य सरकार इस कार्यक्रम के जरिए सभी नवजात और मांओं तक सभी सुविधाएं पहुंचाने का इरादा रखती है.
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------