होम »  ख़बरें »  कार्डियक अरेस्ट रोगियों में नए जोखिमों का पता लगा सकेगा MIRACLE2: अध्ययन

कार्डियक अरेस्ट रोगियों में नए जोखिमों का पता लगा सकेगा MIRACLE2: अध्ययन

MIRACLE2 पहला व्यावहारिक स्कोर है, जो OOHCA के साथ रोगियों के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लेने में चिकित्सकों को मदद करने के लिए उद्देश्य जोखिम स्तरीकरण प्रदान कर सकता है. यह समझने में एक बड़ा कदम हो सकता है कि किस OOHCA रोगियों को किस तरह के इनवेसिव उपचार की जरूरत हो सकती है. 

कार्डियक अरेस्ट रोगियों में नए जोखिमों का पता लगा सकेगा MIRACLE2: अध्ययन

हाल ही में विशेषज्ञों ने एक ऐसा रिस्क स्कोर (Risk Score) तैयार किया है जो कार्डियक अरेस्ट के जोखिम को दर्शाएगा. किंग्स कॉलेज लंदन और किंग्स कॉलेज अस्पताल के शोधकर्ताओं की एक टीम द्वारा यूरोपियन हार्ट जर्नल में प्रकाशित किए गए इस अध्ययन में अस्पताल से बाहर कार्डियक अरेस्ट (Cardiac Arrest) का सामना कर चुके रोगियों में हार्ट अटैक (Heart Attack) और मस्तिष्क क्षति (Brain Damage) के जोखि‍म का पता लगाने के लिए नए रिस्क स्कोर तैयार किए हैं. 

अस्पताल से बाहर कार्डियक अरेस्ट एक बड़ी सार्वजनिक स्वास्थ्य चुनौती है और इससे काफी रुग्णता और मृत्यु दर हो सकती है. कार्डियक अरेस्ट के बाद मरीजों को दीर्घकालिक मस्तिष्क क्षति का ज्यादा खतरा होता है, लेकिन इसे भर्ती किए जाने से पहले और तुरंत बाद प्र‍िडिक्ट करना मुश्किल हो सकता है.

अध्ययन में उन 400 रोगियों के आंकड़ों की जांच की गई, जो अस्पताल से बाहर कार्डियक अरेस्ट (ओओएचसीए) का सामना कर चुके थे और उनका इलाज किंग्स कॉलेज अस्पताल में किया गया था. और फिर ब्रेन डेमेज रोगियों की पहचान की गई थी. टीम ने फिर एक ऐसा स्कोर बनाने के लिए भविष्यवाणी मॉडलिंग की, जिसे दिल के दौरे के केंद्र में आने पर चिकित्सकों द्वारा आसानी से लागू किया जा सकता है.


MIRACLE2 ने उच्च सटीकता के साथ मस्तिष्क की चोट की भविष्यवाणी की और जब यूरोप से दो अन्य हार्ट अटैक केंद्रों के लगभग 500 रोगियों में स्कोर के प्रदर्शन को सत्यापित किया, तो स्कोर ने भी उतना ही अच्छा प्रदर्शन किया.


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

रिस्क स्कोर को अब बड़ी संख्या में रोगियों और संभावित रूप से विभिन्न स्वास्थ्य देखभाल सेटिंग्स में मान्य किया जाएगा, उदाहरण के लिए समुदाय में एम्बुलेंस कर्मचारियों द्वारा. एक बार स्कोर का प्रदर्शन इन सेटिंग्स में जांचने के बाद, इसे भविष्य के नैदानिक परीक्षणों में शामिल किया जा सकता है और संभावित रूप से राष्ट्रीय मार्गदर्शन में शामिल किया जा सकता है.

किंग्स कॉलेज अस्पताल के नीलेश पारीक ने कहा "MIRACLE2 पहला व्यावहारिक स्कोर है, जो OOHCA के साथ रोगियों के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लेने में चिकित्सकों को मदद करने के लिए उद्देश्य जोखिम स्तरीकरण प्रदान कर सकता है. यह समझने में एक बड़ा कदम हो सकता है कि किस OOHCA रोगियों को किस तरह के इनवेसिव उपचार की जरूरत हो सकती है. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------