होम »  ख़बरें »  कब कराएं कोविड के लिए Rapid Antigen Test और कैसे और यह PCR Swab की जगह होगा बेहतर विकल्प

कब कराएं कोविड के लिए Rapid Antigen Test और कैसे और यह PCR Swab की जगह होगा बेहतर विकल्प

हमारे पास पीसीआर परीक्षण (आरटी-पीसीआर, या रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन-पोलीमरेज़ चेन रिएक्शन, टेस्ट के रूप में जाना जाता है) और सार्स-कोव-2 संक्रमण का कारण बनने वाले वायरस का पता लगाने के लिए रैपिड एंटीजन टेस्ट तक पहुंच है.

कब कराएं कोविड के लिए Rapid Antigen Test और कैसे और यह PCR Swab की जगह होगा बेहतर विकल्प

सवाल यह उठता है कि आपको किस टेस्ट का इस्तेमाल करना चाहिए? और इन परीक्षणों या जांचों में क्या अंतर है?

क्रिसमस जैस-जैसे नजदीक आ रही है कोविड-19 मामलों की संख्या में भी बढ़ोतरी देखी जा रही है. ऐसे हालात में यह जरूरी हो जाता है कि लक्षण दिखने पर या वायरस के संपर्क में आने पर या उच्च जोखिम वाले वातावरण में जाने पर आप परीक्षण करवाते रहें. अब हमारे पास पीसीआर परीक्षण (आरटी-पीसीआर, या रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन-पोलीमरेज़ चेन रिएक्शन, टेस्ट के रूप में जाना जाता है) और सार्स-कोव-2 संक्रमण का कारण बनने वाले वायरस का पता लगाने के लिए रैपिड एंटीजन टेस्ट तक पहुंच है.

ऐसे में सवाल यह उठता है कि आपको किस टेस्ट का इस्तेमाल करना चाहिए? और इन परीक्षणों या जांचों में क्या अंतर है?

परीक्षण कैसे काम करते हैं. ऑस्ट्रेलिया में, सार्स-कोव-2 संक्रमण के निदान के लिए पीसीआर परीक्षणों का उपयोग किया जाता है. यह जांच सार्स-कोव-2 आनुवंशिक सामग्री की तलाश करता है.


आरटी-पीसीआर वायरल आरएनए को डीएनए में परिवर्तित करता है और आनुवंशिक अनुक्रम को बढ़ाता है, जिससे अरबों कॉपियां बनते हैं, एक ऐसे प्वॉन्ट तक, जहां इन कॉपियों का पता लगाया जा सकता है.

क्योंकि जांच वायरल आनुवंशिक सामग्री (Viral Genetic Material) की थोड़ी मात्रा को बढ़ा सकता है, इसे गोल्ड स्टेंडर्ड माना जाता है और रैपिड एंटीजन परीक्षणों जैसे दूसरे परीक्षणों की तुलना में पहले के चरणों में संक्रमण का पता लगा सकता है.

इसके बजाय रैपिड एंटीजन परीक्षण वायरल प्रोटीन का पता लगाते हैं. प्रोटीन एंटीबॉडी के घोल में जुड़ जाते हैं, जो प्रोटीन की मौजूदगी को बताने के लिए फ्लोरोसेंट बन जाते हैं.

रैपिड एंटीजन परीक्षण हैं | Rapid antigen tests are:

1. पीसीआर परीक्षणों की तुलना में तेज (परिणाम प्राप्त करने में घंटे या दिन नहीं बल्कि 15-20 मिनट).    

2. लाइन में लगने और एक स्वैब की प्रतीक्षा करने की तुलना में घर में किया जा सकता है, जिसका बाद में लैब में विश्लेषण किया जाता है.

लेकिन वे पीसीआर परीक्षण से कम संवेदनशील होते हैं क्योंकि कोई प्रवर्धन प्रक्रिया नहीं होती है. 

वे कितने प्रभावी हैं? (How effective are they) 

जबकि दोनों परीक्षणों में संक्रमण का सही ढंग से पता लगाने की संभावना अधिक होती है, जब व्यक्ति का वायरल लोड अधिक होता है, पीसीआर परीक्षण रैपिड एंटीजन परीक्षणों की तुलना में अधिक संवेदनशील होते हैं.

आस्ट्रेलिया के एक अध्ययन में एक तरह से रैपिड एंटीजन टेस्ट की संवेदनशीलता (सार्स-कोव-2 संक्रमण का सही निदान, जब यह आपको हो चुका है) की तुलना एक पीसीआर टेस्ट से करने पर पाया गया कि 77 फीसदी सकारात्मक एंटीजन परीक्षण परिणाम पीसीआर परीक्षण परिणामों के साथ संरेखित हैं. जब लक्षणों की शुरुआत के एक हफ्ते के भीतर लोगों की जांच की गई तो यह बढ़कर 100 फीसदी हो गया.

थेराप्यूटिक गुड्स एडमिनिस्ट्रेशन अनुमोदित रैपिड एंटीजन परीक्षणों की एक सूची प्रदान करता है, जिसके नतीजे 80-95 फीसदी तक पीसीआर परीक्षण के साथ संरेखित होते हैं, बशर्ते परीक्षण लक्षण शुरू होने के एक सप्ताह के भीतर किया जाता है. 

कौन सा टेस्ट कब कराना है? (Which test to take when?) 

आरटी-पीसीआर टेस्ट कराएं अगर:

1. कोविड के लक्षण हों.

2. कोविड वाले किसी व्यक्ति के संपर्क में आए हों.

3. रैपिड एंटीजन टेस्ट का पॉजिटिव रिजल्ट आने पर, क्योंकि पीसीआर कन्फर्मेशन जरूरी है.

4. क्वारंटाइन या आइसोलेशन से बचने के लिए एक स्वास्थ्य विभाग को इसकी जरूरत होने पर.

5. स्वास्थ्य विभाग से किसी स्थान की यात्रा करने की अनुमति प्राप्त करनी हो तो.

इन स्थितियों में पीसीआर परीक्षण कराया जा सकता है, क्योंकि यह संक्रमण का निदान करने में अधिक सटीक है.

एक रैपिड एंटीजन परीक्षण पर विचार करें अगर (Consider a rapid antigen test if you) 

1. एक संवेदनशील साइट पर जाने की योजना बना रहे हैं (उदाहरण के लिए, एक वृद्ध देखभाल केन्द्र).

2. किसी ऐसे व्यक्ति के साथ संपर्क करने की योजना बना रहे हैं जो कोविड से उच्च जोखिम में है (उदाहरण के लिए, एक बुजुर्ग व्यक्ति या इम्यूनोसप्रेसिव उपचार पर कोई व्यक्ति), और आप चाहते हैं उनकी रक्षा करें.

3. कोविड के लक्षण हैं, लेकिन पीसीआर परीक्षण स्थल पर नहीं जा सकते हैं.

4. ऐसे आयोजन में जा रहे हैं जहां बहुत सारे लोग मिल रहे होंगे, खासकर अगर इसे घर के अंदर आयोजित किया जा रहा है जहां संचरण का जोखिम काफी अधिक है.

5. जल्दी से जांचना चाहते हैं कि क्या आपको सार्स-कोव-2 संक्रमण हो सकता है.

6. एक नियमित कोविड निगरानी कार्यक्रम का हिस्सा हैं (कुछ कार्यस्थलों को इसकी आवश्यकता होती है, विशेष रूप से उन स्थितियों में जहां व्यक्ति को पूरी तरह से टीका नहीं लगाया जाता है).

रैपिड एंटीजन टेस्ट को जांच उपकरण माना जाता है. दूसरे शब्दों में, यह संकेत दे सकता है कि आप संक्रमित हो सकते हैं, लेकिन परिणाम की पुष्टि के लिए एक पीसीआर परीक्षण की जरूरत है.

हालांकि एक नकारात्मक रैपिड एंटीजन परीक्षण परिणाम इस बात की गारंटी नहीं है कि आप संक्रमित नहीं हैं, फिर भी यह आपके संपर्कों को परीक्षण न करने की तुलना में अधिक सुरक्षा प्रदान करता है.

कितनी बार रैपिड एंटीजन टेस्ट लेना चाहिए? (How often should I take a rapid antigen test?) 

यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस कारण से परीक्षण करवा रहे हैं. अगर आप किसी निगरानी कार्यक्रम का हिस्सा हैं, तो जब आपसे कहा जाए तो टेस्ट करवाएं.

अगर लक्षण नहीं हैं, तो सप्ताह में दो से तीन बार जांच करने से परीक्षण संवेदनशीलता में सुधार करने में मदद मिल सकती है क्योंकि वायरल लोड कम हो जाता है. जब वायरल लोड अपने चरम पर होगा तो टेस्ट सेंसिटिविटी सबसे ज्यादा होगी.

ओमिक्रोन संस्करण परीक्षण को कैसे प्रभावित करता है?

ऐसा प्रतीत होता है कि अत्यधिक उत्परिवर्तित ओमिक्रोन संस्करण का अभी भी पीसीआर और रैपिड एंटीजन परीक्षणों दोनों द्वारा पता लगाया जा सकता है.

आमतौर पर, एक पीसीआर परीक्षण इंगित करता है कि आपको सार्स-कोव-2 संक्रमण है या नहीं, लेकिन यह नहीं कि आपके पास कौन सा प्रकार है. इसका पता लगाने के लिए जीनोम अनुक्रमण की आवश्यकता होती है.


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हालांकि, कुछ पीसीआर परीक्षण एक विशिष्ट आनुवंशिक अनुक्रम की तलाश करते है. वे विशेष पीसीआर परीक्षण न केवल एक सकारात्मक परिणाम का पता लगा सकते हैं, बल्कि यह भी पता लगा सकते हैं कि क्या संबद्ध व्यक्ति को ओमिक्रोन संस्करण होने की संभावना है.
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

--------------------------------विज्ञापन---------------------------------- -