होम »  लिविंग हेल्दी »  Irregular Menstrual Cycle: अनियमित पीरियड्स से हैं परेशान? ये आयुर्वेदिक नुस्खे दिलाएंगे जल्द राहत!

Irregular Menstrual Cycle: अनियमित पीरियड्स से हैं परेशान? ये आयुर्वेदिक नुस्खे दिलाएंगे जल्द राहत!

Menstrual Cycle Regulation: अनियमित पीरियड महिलाओं में एक आम स्वास्थ्य चिंता का विषय है. इस स्थिति के पीछे कई कारण हैं. इस लेख में, यहां कुछ आयुर्वेदिक उपचार (Ayurvedic Remedies) दिए गए हैं जो आपको अनियमित मासिक धर्म से राहत दिला सकते हैं.

Irregular Menstrual Cycle: अनियमित पीरियड्स से हैं परेशान? ये आयुर्वेदिक नुस्खे दिलाएंगे जल्द राहत!

Irregular Menstrual Cycle: हार्मोनल असंतुलन मासिक धर्म की अनियमितताओं के सामान्य कारणों में से एक है

खास बातें

  1. आयुर्वेदिक उपचार मासिक धर्म की अनियमितताओं से लड़ने में मदद कर सकते हैं.
  2. स्वस्थ आहार और जीवन शैली मासिक धर्म को विनियमित करने में मदद कर सकती है.
  3. पीसीओएस अनियमित मासिक धर्म की ओर जाता है.

Ayurvedic Remedies For Irregular Periods: महिलाओं में अनियमित मासिक चक्र की समस्या इन दिनों आम हो गई है. मासिक धर्म (Periods) तब शुरू होता है जब लड़की 13 या 14 साल की होती है. एक सामान्य मासिक धर्म चक्र 21 से 35 दिनों के भीतर होता है. अगर पीरियड्स 21 दिन से पहले या 35 दिनों के बाद होते हैं, तो इसे अनियमित मासिक चक्र (Irregular Menstrual Cycle) कहा जाता है. महिलाओं को 1 वर्ष में 11 से 13 मासिक धर्म चक्र से गुजरना चाहिए, जो एक सामान्य प्रक्रिया है. जिन महिलाओं को मासिक धर्म की समस्या होती है, वे ओलिगोमेनोरिया जैसी बीमारियों से पीड़ित होने की संभावना रखती हैं. भारतीय आंकड़ों की बात करें तो 35 प्रतिशत तक महिलाएं मासिक धर्म की समस्याओं से पीड़ित हैं.

ये 7 फूड्स फेफड़ों की गंदगी को साफ करने के लिए हैं शानदार, आज से ही करें डाइट में शामिल!

अनियमित मासिक धर्म चक्र के सामान्य कारण | Common Causes Of Irregular Menstrual Cycle


महिलाओं में अनियमित मासिक धर्म का मुख्य कारण हार्मोन को माना जाता है. जब महिला के शरीर में हार्मोन का संतुलन बिगड़ता है, तो अनियमित मासिक धर्म जैसी समस्याएं उत्पन्न होती हैं.

2. अगर महिलाएं किसी लंबी बीमारी से पीड़ित हैं जैसे - लगातार बुखार, टीबी की बीमारी, थायराइड की बीमारी आदि, तो भी अनियमित मासिक धर्म की संभावना है.

3. अगर महिलाओं की शारीरिक गतिविधि बहुत कम है या बिल्कुल नहीं है, तो उनकी अवधि अनियमित हो सकती है.

4. अधिक गर्भनिरोधक दवाओं और गोलियों का सेवन भी मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकता है.

5. तनाव और चिंता.

6. अनियमित पीरियड्स के लिए पीसीओएस भी एक अन्य सामान्य स्थिति है.

7. धूम्रपान या बहुत अधिक शराब का सेवन भी एक भूमिका निभा सकता है.

लहसुन है हाई ब्लड प्रेशर को को कंट्रोल करने के लिए अचूक उपाय, इन 6 तरीकों से करें लहसुन का सेवन!

अनियमित मासिक धर्म के लक्षण | Symptoms Of Irregular Menstruation

1. इसका पहला लक्षण यह है कि नियमित अवधि 21 से 35 दिनों की दिनचर्या में नहीं होती है.

2. महिलाओं के गर्भाशय में अत्यधिक दर्द.

3. भूख कम लगना.

4. पेट के निचले हिस्से, हाथ और पैर में दर्द.

5. जब महिलाओं को अत्यधिक थकान, कब्ज और दस्त की शिकायत होती है, तो ये भी संकेत दे सकते हैं.

मासिक धर्म चक्र को नियमित करने के आयुर्वेदिक उपाय | Ayurvedic Remedies To Regularize The Menstrual Cycle

1. आयुर्वेद कहता है कि ऐसी समस्याओं से पीड़ित महिलाओं को नियमित रूप से हर दिन अपनी जीवनशैली में योग, व्यायाम, प्राणायाम और अन्य शारीरिक गतिविधियों को शामिल करना चाहिए. आप चाहें तो कुछ आउटडोर खेलों का भी सहारा ले सकते हैं.

2. अगर आपका मासिक धर्म चल रहा है, तो आपको कोई भी भारी या शारीरिक व्यायाम करने से बचना चाहिए.

3. उत्तर बस्ती थैरेपी (पंचकर्म चिकित्सा) भी मासिक धर्म की बीमारी का एक आयुर्वेदिक उपचार है.

4. आयुर्वेद में कुछ फायदेमंद हर्बल जड़ी बूटियों और (कद्दू) का औषधीय तेलों का काढ़ा है जो राहत दे सकते हैं.

Winter Health Care: दूसरों की तुलना में आपको लगती है ज्यादा सर्दी, तो ठंडे मौसम के अलावा ये हैं 7 कारण!

5. तनाव को प्रबंधित करने के लिए कारगर तरीकों का प्रयास करें. यह हार्मोन को संतुलित करने और आपके समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करेगा.

6. आपको अच्छी तरह से संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए. यह आपके हार्मोन के संतुलन के साथ-साथ आपको स्वस्थ वजन बनाए रखने में मदद करेगा.

अनियमित मासिक धर्म इन दिनों एक आम समस्या है जो बाद के वर्षों में प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकती है. मासिक धर्म चक्र में अनियमितता का सामना करने पर तुरंत अपने चिकित्सक से परामर्श करना महत्वपूर्ण है.

(डॉ. चंचल शर्मा आशा आयुर्वेद में एक आयुर्वेदिक बांझपन विशेषज्ञ हैं)

अस्वीकरण: इस लेख के भीतर व्यक्त की गई राय लेखक की निजी राय है. एनडीटीवी इस लेख की किसी भी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता, या वैधता के लिए जिम्मेदार नहीं है. सभी जानकारी एक आधार पर प्रदान की जाती है. लेख में दिखाई देने वाली जानकारी, तथ्य या राय एनडीटीवी के विचारों को प्रतिबिंबित नहीं करती है और एनडीटीवी उसी के लिए कोई जिम्मेदारी या दायित्व नहीं मानती है.

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

ये 5 आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां पेट की चर्बी घटाने के लिए हैं कारगर, नेचुरल तरीके से कम होगा एक्स्ट्रा वजन!

Calories Burned Exercise: कम समय में ज्यादा कैलोरी बर्न करने के लिए शानदार हैं 6 एक्सरसाइज!

Kidney Health: हेमोडायलिसिस के मरीजों का कैसा होना चाहिए डाइट प्लान? एक्सपर्ट से जानें क्या खाएं और क्या नहीं


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Weight Loss: सर्दियों में आसानी से वजन कम करने और पेट की चर्बी घटाने के लिए यहां हैं कारगर उपाय

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

घरेलू नुस्खे

Remedies For Hair Growth: बालों की ग्रोथ को जल्दी बढ़ाने के लिए प्याज और नींबू के रस के साथ ये 6 घरेलू नुस्खे हैं फायदेमंद

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------