होम »  लिविंग हेल्दी & nbsp;»  How To Balance Gut Bacteria: आपका पेट ही है बीमारियों की जड़, हेल्दी गट के लिए इन तरीकों को अपनाएं

How To Balance Gut Bacteria: आपका पेट ही है बीमारियों की जड़, हेल्दी गट के लिए इन तरीकों को अपनाएं

Gut Health: आंत बैक्टीरिया, जिसे माइक्रोबायोटा भी कहा जाता है, आंत के लिए पूरी तरह से सामान्य और स्वस्थ है. हालांकि, ऐसे अपवाद हैं जिनके बारे में आपको जानना जरूरी है.

How To Balance Gut Bacteria: आपका पेट ही है बीमारियों की जड़, हेल्दी गट के लिए इन तरीकों को अपनाएं

गट बैक्टीरिया अच्छे और बुरे दोनों प्रकार के होते हैं.

How To Get Healthy Gut Bacteria: गट बैक्टीरिया जैसा कि नाम से पता चलता है, बैक्टीरिया हैं जो हमारी आंत के अंदर रहते हैं. हमारी आंत में लगभग 300 से 500 प्रकार के बैक्टीरिया होते हैं जिनमें लगभग 2 मिलियन जीन हो सकते हैं. इन जीवाणुओं के साथ हमारी आंत कई अन्य सूक्ष्म जीवों जैसे कवक और वायरस का भी घर है. इनके संग्रह को माइक्रोबायोटा कहते हैं. माइक्रोबायोटा इन सभी सूक्ष्मजीवों का मिश्रण होने के कारण, उंगलियों के निशान जितना ही जटिल और अद्वितीय है. हमारा माइक्रोबायोटा 2 मुख्य कारकों पर आधारित है. हमारी मां का माइक्रोबायोटा और हमारी लाइफस्टाइल और हम क्या खाते हैं.

मोरिंगा के पत्तों के 8 जबरदस्त स्वास्थ्य लाभ, एनर्जी बढ़ाते हैं और डायबिटीज, मस्तिष्क और दिल के लिए फायदेमंद

हालांकि हमारी आंत में माइक्रोबायोटा का अस्तित्व खतरे में पड़ सकता है, लेकिन वे पूरी तरह से सामान्य हैं. वास्तव में माइक्रोबायोटा हमें भोजन को पचाने में मदद करता है और साथ ही हमारे भोजन से पोषक तत्व निकालने में भी हमारी मदद करता है. यहां माइक्रोबायोटा के कुछ लाभ दिए गए हैं:


  • इम्यूनिटी बढ़ाता है.
  • हानिकारक बैक्टीरिया को शरीर में प्रवेश करने से रोकना.
  • किण्वन के माध्यम से उन फूड्स को पचाने में हमारी मदद करना जिन्हें काटना मुश्किल है.
  • आंत में विटामिन के, बायोटिन, फोलेट का संश्लेषण
  • कुछ आंत बैक्टीरिया आंत में पीएच लेवल को कम करने में मदद करते हैं जो अमोनिया जैसे हानिकारक बैक्टीरिया के विकास से निपटने में मदद करते हैं
  • आयरन, मैग्नीशियम, कैल्शियम आदि जैसे कई पोषक तत्वों के अवशोषण में मदद करें.

हालांकि, कुछ गट बैक्टीरिया आंत और शरीर के लिए पूरी तरह से हानिकारक हो सकते हैं. यहां कुछ कारण दिए गए हैं जो हमारे शरीर में खराब आंत बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा दे सकते हैं:


  • खराब डाइट, अस्वास्थ्यकर या अनियमित भोजन करना
  • उम्र बढ़ना
  • एंटीबायोटिक दवाओं का अत्यधिक उपयोग
  • तनाव अस्वास्थ्यकर जीवनशैली (धूम्रपान, शराब पीना आदि)

अगर आंत के बैक्टीरिया हानिकारक हो जाते हैं, तो यह शरीर में कई रोगों को जन्म दे सकता है जैसे अल्सरेटिव डिसऑर्डर, क्रोहन रोग, कई हृदय रोग, गठिया, पेट का कैंसर, टाइप 2 डायबिटीज, मोटापा आदि. यह मानसिक विकार भी पैदा कर सकता है जैसे कि जैसे अवसाद, आत्मकेंद्रित, चिंता, आदि.

केवल कब्ज में ही नहीं बल्कि वेट लॉस के लिए भी मददगार है इसबगोल, जानें उपयोग करने का सही तरीका

यहां बताया गया है कि आप ऐसे बैक्टीरिया विकसित करने से कैसे बच सकते हैं जो इन बीमारियों के विकास के आपके जोखिम को बढ़ा सकते हैं:

स्वस्थ भोजन करना: हम जो खाते हैं उससे ज्यादा हमारे पेट को कुछ भी प्रभावित नहीं करता है. एक स्वस्थ संतुलित आहार खाने से न केवल कई पुरानी बीमारियों का खतरा कम होता है बल्कि मेजबान और आंत बैक्टीरिया के बीच संबंध बनाए रखने में भी मदद मिलती है. पर्याप्त विटामिन, प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम और अन्य पोषक तत्वों से युक्त आहार खाने से आपकी आंत के बैक्टीरिया को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है. जैसा कि ऊपर चर्चा की गई है, आंत के बैक्टीरिया आपको सभी पोषक तत्वों से भरपूर फूड्स से पोषक तत्वों को अवशोषित करने में मदद करते हैं.

किण्वित फूड्स और प्रोबायोटिक्स खाएं: फर्मेंटेड फूड्स और प्रोबायोटिक्स आपके शरीर को और भी अधिक हेल्दी बैक्टीरिया प्रदान करते हैं. ये प्रोबायोटिक्स पोषक तत्वों को अवशोषित करने की आपकी आंत की क्षमता को और बढ़ाते हैं. ये फूड्स पाचन को भी बेहतर साबित करते हैं और आंत के लिए बहुत अच्छे माने जाते हैं. इसके अलावा, ये हेल्दी बैक्टीरिया आंत में खराब बैक्टीरिया से लड़ने में भी मदद करते हैं.

बच्चे हो या बड़े दो बेस्ट एंटी एजिंग स्किन केयर प्रोडक्ट्स जो हर मौसम में रखते हैं स्किन को यंग और चमकदार

व्यायाम: नियमित रूप से व्यायाम करने से आंत और माइक्रोबायोटा को हेल्दी बनाए रखने में भी मदद मिलती है. नियमित रूप से व्यायाम करने से कई प्रकार के आंत बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा मिल सकता है. स्वस्थ आंत बैक्टीरिया की एक विशाल विविधता होने से आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है, जिससे विकासशील बीमारियों के जोखिम को कम किया जा सकता है.

फाइबर खाएं: साबुत अनाज वाले फूड्स कई फल और सब्जियां फाइबर से भरपूर होती हैं. फाइबर हमारे पाचन को बेहतर बनाने में मदद करता है और हमारे आंत में कई स्वस्थ बैक्टीरिया के विकास को भी बढ़ावा देता है. फाइबर से भरपूर कुछ आसानी से उपलब्ध खाद्य पदार्थ हैं ब्रोकोली, सेब, तरबूज, गेहूं (रोटी), राई, जौ, बीन्स, सूखे मेवे आदि.

Mucus In Lungs: छाती या फेफड़ों में जमा बलगम से छुटकारा पाने के लिए 6 कारगर और नेचुरल तरीके

इसलिए, आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आप क्या खाते हैं और अपने शरीर के साथ कैसा व्यवहार करते हैं. हेल्दी आंत का अर्थ है हेल्दी शरीर. पोषक तत्वों से भरपूर फूड्स खाना और अच्छी तरह व्यायाम करना अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने की कुंजी है.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

--------------------------------विज्ञापन---------------------------------- -