होम »  लिविंग हेल्दी »  कोवाक्सिन और कोविशिल्ड के साइडइफेक्ट्स क्या हैं? वैक्सीन लगने के बाद लक्षणों को ऐसे पहचानें

कोवाक्सिन और कोविशिल्ड के साइडइफेक्ट्स क्या हैं? वैक्सीन लगने के बाद लक्षणों को ऐसे पहचानें

Covid-19 Vaccine: कई लोग वैक्सीन लगवाने से पहले गुगल भी कर रहे हैं कि कोवाक्सिन और कोविशिल्ड के साइडइफेक्स्ट क्या हैं? इसके साथ ही लोग ये भी वैक्सीन लगवाने से पहले कंफर्म करना चाह रहे हैं कि वैक्सीन लगवाने के बाद शरीर में कौन से लक्षण दिखाई देते हैं.

कोवाक्सिन और कोविशिल्ड के साइडइफेक्ट्स क्या हैं? वैक्सीन लगने के बाद लक्षणों को ऐसे पहचानें

Covid-19 Vaccine Side Effects: वैक्सीन लगवाने के बाद शरीर में कुछ लक्षण दिखाई दे सकते हैं

खास बातें

  1. वैक्सीन लगवाने के बाद शरीर में कुछ लक्षण दिखाई दे सकते हैं.
  2. कुछ लोगों को वैक्सीन लेने से पहले जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए.
  3. ये दुष्प्रभाव दैनिक गतिविधियों को करने की क्षमता को प्रभावित कर सकते हैं.

Covid-19 Vaccine Side Effects: सोमवार से शुरू हुआ कोरोनावायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान का फेज 2 - जिसमें 60 वर्ष से अधिक आयु के लोग और 45 से ऊपर के कोमोरोबिडिटी वाले लोगों को टीका लगाया जा रहा है. केंद्र ने कहा कि कॉइन पोर्टल पर पहले दिन टीकाकरण के लिए 25 लाख से ज्यादा रजिस्ट्रेशन हुए. प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत बायोटेक के कोवाक्सिन के शॉट को भी लिया. हालांकि अभी भी लोगों के मन में एक संशय है कि कहीं कोविड वैक्सीन के साइडइफेक्ट्स तो नहीं हैं. कई लोग वैक्सीन लगवाने से पहले गुगल भी कर रहे हैं कि कोवाक्सिन और कोविशिल्ड के साइडइफेक्स्ट क्या हैं? इसके साथ ही लोग ये भी वैक्सीन लगवाने से पहले कंफर्म करना चाह रहे हैं कि वैक्सीन लगवाने के बाद शरीर में कौन से लक्षण दिखाई देते हैं.

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार कोविड-19 टीकाकरण आपको कोविड-19 से बचाने में मदद करेगा. इसके कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं, जो सामान्य संकेत हैं कि आपका शरीर सुरक्षा का निर्माण कर रहा है. ये दुष्प्रभाव दैनिक गतिविधियों को करने की आपकी क्षमता को प्रभावित कर सकते हैं, लेकिन उन्हें कुछ दिनों में दूर जाना चाहिए. सरकार ने कहा है कि दोनों टीके सुरक्षित हैं, लेकिन इनके कुछ दुष्प्रभाव हैं. कंपनियों ने वैक्सीन लगने के बाद शरीर पर पड़ने वाले संभावित दुष्प्रभावों के बारे में अपनी वेबसाइटों पर अपलोड किए गए फैक्ट शीट में विस्तार से बताया है.

कोवाक्सिन किसको नहीं लेनी चाहिए? | Who Should Not Take Covaxin?


जिन लोगों को एलर्जी, बुखार, रक्तस्राव विकार का कोई इतिहास है या रक्त पतला है, या वे ऐसी दवा ले रहे हैं जो आपके इम्यून सिस्टम को प्रभावित करते हैं, गर्भवती महिलाओं, स्तनपान कराने वाली महिलाओं, कोई अन्य टीकाकरण की देखरेख करने वाले टीकाकरण अधिकारी द्वारा निर्धारित स्वास्थ्य संबंधी गंभीर समस्याएं पाए जाने पर कोवैक्सिन नहीं लेनी चाहिए.

कोवाक्सिन साइड-इफेक्ट्स | Covaxin Side-effects

दवा के हल्के दुष्प्रभाव में इंजेक्शन साइट दर्द, इंजेक्शन साइट सूजन, इंजेक्शन साइट लालिमा, इंजेक्शन साइट खुजली, ऊपरी बांह में कठोरता, इंजेक्शन हाथ में कमजोरी, शरीर में दर्द, सिरदर्द, बुखार, अस्वस्थता, कमजोरी, चकत्ते, मतली, उल्टी शामिल हैं.

कंपनी ने कहा कि बहुत कम संभावना है कि टीका गंभीर एलर्जी रिएक्शन का कारण बनता है. एक गंभीर प्रतिकूल घटना के संकेतों में सांस लेने में कठिनाई, चेहरे और गले में सूजन, तेजी से दिल की धड़कन, पूरे शरीर पर चकत्ते, चक्कर आना और कमजोरी शामिल हैं.

कोविशिल्ड किसको नहीं लगवानी चाहिए? | Who Should Not Take Covishield?

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की फैक्ट-शीट कहती है कि जिन लोगों को कभी भी किसी दवा, भोजन, किसी वैक्सीन के बाद एलर्जी का गंभीर रिएक्शन (एनाफिलेक्सिस) होता है, उन्हें दवा से बचना चाहिए.

जिन लोगों को बुखार होता है, उनमें रक्तस्राव विकार होता है या रक्त पतला होता है, वे इम्यूनोकम्प्रोमाइज़्ड होते हैं या ऐसी दवा पर होते हैं जो इम्यून सिस्टम को इफेक्ट करता है, उन्हें भी टीका नहीं लगवाना चाहिए. जो गर्भवती हैं या गर्भवती होने का प्लान बना रही हैं, स्तनपान कराने वालों को भी टीका छोड़ना चाहिए. जिन लोगों ने एक और एंटी-कोविड वैक्सीन ली है, उन्हें कोविशिल्ड नहीं लेना चाहिए.

जिन लोगों को इस टीके की पिछली खुराक के बाद एलर्जी रिएक्शन हुआ था, उन्हें भी दवा लेने से बचना चाहिए.

कोविशिल्ड के साइड-इफेक्ट्स | Covishield Side-effects

सामान्य दुष्प्रभाव में दर्द, गर्मी, लालिमा, खुजली, सूजन हो सकती है. आम तौर पर अस्वस्थ महसूस कर सकते हैं, थकावट महसूस करते हैं, ठंड लगना या बुखार महसूस करना, सिरदर्द, बीमार महसूस करना (मतली), जोड़ों में दर्द या मांसपेशियों में दर्द दर्द, इंजेक्शन वाली जगह पर गांठ, बुखार, बीमार होना (उल्टी), फ्लू जैसे लक्षण, जैसे हाई टेंपरेचर, गले में खराश, नाक बहना, खांसी और ठंड लगना शामिल हैं.

असामान्य दुष्प्रभाव: चक्कर आना, भूख में कमी, पेट दर्द, बढ़े हुए लिम्फ नोड्स, अत्यधिक पसीना, स्किन पर खुजली  या दाने.

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार अगर आपको दर्द या बेचैनी है, तो अपने डॉक्टर से बात करें, ओवर-द-काउंटर दवा लेने के बारे में, जैसे कि इबुप्रोफेन, एस्पिरिन, एंटीथिस्टेमाइंस, या एसिटामिनोफेन, किसी भी दर्द और असुविधा के लिए जिसे आप टीका लगने के बाद अनुभव कर सकते हैं. अगर आपको कोई अन्य कोई बीमारी नहीं हैं जो आपको इन दवाओं को सामान्य रूप से लेने से रोकते हैं तो आप इन दवाओं को पोस्ट-टीकाकरण के दुष्प्रभावों से राहत देने के लिए ले सकते हैं. यह अनुशंसा नहीं की जाती है कि आप इन दवाओं को साइड इफेक्ट्स को रोकने की कोशिश करने के लिए टीकाकरण से पहले लें, क्योंकि यह पता नहीं है कि ये दवाएं कैसे प्रभाव डाल सकती हैं.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------