होम »  लिविंग हेल्दी & nbsp;»  Drinks For Thyroid Problems: 5 डिटॉक्स ड्रिंक्स जो थाय़राइड फंक्शनिंग को बनाते हैं पावरफुल, इम्यून सिस्टम के लिए भी हैं कमाल

Drinks For Thyroid Problems: 5 डिटॉक्स ड्रिंक्स जो थाय़राइड फंक्शनिंग को बनाते हैं पावरफुल, इम्यून सिस्टम के लिए भी हैं कमाल

How To Improve Thyroid Function: यहां हमारे पास 5 डिटॉक्स ड्रिंक हैं जिन्हें आप अपने घर पर आसानी से आजमा सकते हैं ताकि आपकी थायराइड ग्रंथियों की कार्यप्रणाली को बढ़ावा मिल सके.

Drinks For Thyroid Problems: 5 डिटॉक्स ड्रिंक्स जो थाय़राइड फंक्शनिंग को बनाते हैं पावरफुल, इम्यून सिस्टम के लिए भी हैं कमाल

Drinks For Thyroid Problems: थायराइड वर्तमान समय में सबसे प्रचलित समस्याओं में से एक है.

खास बातें

  1. थायराइड वर्तमान समय में सबसे प्रचलित समस्याओं में से एक है.
  2. इन डिटॉक्स ड्रिंक को आप अपने घर पर आसानी से आजमा सकते हैं.
  3. अजवाइन का रस थायराइड सिस्टम को साफ करने के लिए फायदेमंद होता है.

Best Detox Drink For Thyroid: थायराइड वर्तमान समय में सबसे प्रचलित समस्याओं में से एक है. थायराइड एक ग्रंथि है जो गर्दन के सामने मौजूद होती है. इस ग्रंथि द्वारा स्रावित हार्मोन हमारे शरीर में कई गतिविधियों जैसे शरीर के तापमान, पाचन क्रिया और मांसपेशियों के संकुचन को कंट्रोल करने के लिए जिम्मेदार होते हैं. इस ग्रंथि में कोई भी समस्या थायराइड की समस्या का कारण बन सकती है जो हाइपरथायरायडिज्म या हाइपोथायरायडिज्म के रूप में हो सकती है. जहां थायराइड की समस्या वाले लोग कई समस्याओं का अनुभव करते हैं और यह समस्या समय के साथ जटिल हो जाती है, उनका इलाज करना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है. आपके थाइरोइड की समस्या को कम करने के लिए और आपके थायरॉइड कामकाज को बढ़ावा देने के लिए यहां हमारे पास 5 डिटॉक्स ड्रिंक हैं जिन्हें आप अपने घर पर आसानी से आजमा सकते हैं.

थायराइड से छुटकारा पाने के लिए उपाय | Remedies To Get Rid Of Thyroid


1. अजवाइन का रस

ये एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन ए, सी, के, फोलेट और पोटेशियम जैसे पोषक तत्वों का एक बड़ा स्रोत है. यह लो सोडियम सब्जी कई स्वास्थ्य लाभों के साथ आती है जैसे पाचन का समर्थन, सूजन को कम करना और कामकाज को बढ़ाने में मदद करता है. अजवाइन के रस के रूप में इस सब्जी का सेवन थायराइड सिस्टम में मौजूद विषाक्त पदार्थों को साफ करने के लिए बहुत फायदेमंद होता है. यह पत्तेदार सब्जी थायराइड हार्मोन के उत्पादन को बेहतर करने में मददगार है.


Birth Control Methods: नेचुरल बर्थ कंट्रोल क्या है? तरीके, फायदे और नुकसान

2. हल्दी का पानी

एंटीसेप्टिक, जीवाणुरोधी, एंटीऑक्सिडेंट और एंटीवायरल गुणों से भरपूर हल्दी का नियमित रूप से सेवन स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद बताया गया है. कार्डियोवैस्कुलर स्वास्थ्य को बढ़ावा देने से लेकर जोड़ों के दर्द का इलाज करने और लीवर को डिटॉक्स करने से लेकर रक्त को पतला करने के गुण प्रदान करने तक, हल्दी यह सब कर सकती है. इन सबके साथ ही काली मिर्च के साथ हल्दी का सेवन थायराइड ग्रंथियों के लिए फायदेमंद बताया गया है. हल्दी सूजन को कम करने और एंटीऑक्सीडेंट गुणों को बढ़ावा देने के साथ-साथ किसी व्यक्ति के शरीर में थायराइड कामकाज को बढ़ावा देने के लिए जानी जाती है.

3. नींबू पानी

ये आपके थायराइड ग्रंथि के कामकाज को बढ़ाने में मददगार हो सकता है. जहां नींबू को विटामिन सी का एक समृद्ध स्रोत माना जाता है, वहीं इस डिटॉक्स ड्रिंक का सेवन सिस्टम को डिटॉक्सीफाई करने, इम्युनिटी को मजबूत करने और शरीर के पीएच स्तर को संतुलित करने में मददगार माना जाता है. इसके अलावा इस लेमन डिटॉक्स ड्रिंक के सेवन से त्वचा साफ होती है, वजन घटाने में मदद मिलती है और लालसा पर अंकुश लगता है.

दुनिया में सबसे दुर्लभ हैं ये 5 खतरनाक बीमारियां, आपने शायद ही सुना हो इनका नाम, जानें क्या हैं इनके लक्षण

4. ककड़ी का रस

खीरा प्राकृतिक रूप से हाइड्रेटिंग सब्जी होने के कारण इसमें लगभग 70% पानी की मात्रा होती है. नियमित रूप से खीरे के रस का सेवन कोलेस्ट्रॉल लेवललको कम करने के लिए अच्छा माना जाता है, बेहतर प्रतिरक्षा प्रदान करता है. शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मदद करता है, दृष्टि की रक्षा करता है और माना जाता है कि इसमें कैंसर विरोधी गुण होते हैं. खीरे का सेवन सिस्टम को साफ करने और डिटॉक्सीफाई करने में मदद करता है, इसलिए इसे थायराइड के कामकाज में सुधार करने में बहुत मददगार माना जाता है. यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने की क्षमता में सुधार करने के साथ-साथ किडनी और कई अन्य अंगों को पोषण देने का काम करता है. खीरे को छीलकर टुकड़ों में काट लें. इन्हें थोड़े से पानी के साथ ब्लेंडर में डालें और अच्छी तरह ब्लेंड करें. एक महीन जाली वाली छलनी की मदद से रस को छान लें और इस रस का नियमित रूप से सेवन करें.

5. लेट्यूस-अजमोद-सीताफल का रस

एक जूस जिसमें गाजर, सेब, अदरक, सीताफल, नींबू, लेट्यूस और अजमोद से शुरू होने वाली विभिन्न सब्जियों और फलों की अच्छाई होती है. ये सभी सब्जियां और फल पोषण से भरपूर होते हैं और डिटॉक्सिफाइंग गुणों के साथ आते हैं. नियमित रूप से जूस का सेवन थायराइड की कार्यप्रणाली को बढ़ाने में बहुत मददगार साबित हुआ है. ये सब्जियां एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन जैसे ए और सी से भरपूर होती हैं, इसलिए इसका उपयोग उम्र से संबंधित धब्बेदार अध: पतन को रोकने के लिए भी किया जा सकता है.

Causes Of Weak Bones: अपनी हड्डियों की वाकई फिकर करते हैं, तो जान लें क्यों कमजोर हो जाती हैं आपकी हड्डियां

इस तरीके से जान सकते हैं कि आपको Prostate Cancer होगा या नहीं! एक्सपर्ट बता रहे हैं पूरी बात

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

दादी मां के Nushke, जो देंगे ग्‍लोइंग स्‍किन और बेदाग त्‍वचा, आप भी अपनाएं ये त्‍वचा की देखभाल के आसान घरेलू उपचार

किस तरह करें इलाज, कौन सी दवाएं दें और कौन सी नहीं? कराएं ये टेस्ट, पढ़ें नई गाइडलाइन्‍स


Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

क्‍यों जरूरी है विटामिन B12, इस विटामिन से भरपूर आहार की लिस्‍ट

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

--------------------------------विज्ञापन---------------------------------- -