होम »  डायबिटीज »  सावधान! हृदय रोग 50 और डायबिटीज 150 फीसदी तेजी से बढ़ रही है...

सावधान! हृदय रोग 50 और डायबिटीज 150 फीसदी तेजी से बढ़ रही है...

मधुमेह या डायबिटीज (Diabetes) में 150 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है.

सावधान! हृदय रोग 50 और डायबिटीज 150 फीसदी तेजी से बढ़ रही है...

Diabetes से पीड़ित भारतीयों की संख्या 1990 में 2.6 करोड़ थी, जो 2016 में 6.5 करोड़ हो गई.

देश में साल 1990 से 2016 के बीच हृदय रोग (Heart disease) के मामलों में 50 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. हो सकता है कि ये आंकडे आपको चौंका दें, लेकिन जरा रुकिए इससे भी ज्यादा हैरान करने वाले आंकड़े ये हैं कि मधुमेह या डायबिटीज (Diabetes) में 150 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है. मधुमेह से पीड़ित भारतीयों की संख्या 1990 में 2.6 करोड़ थी, जो 2016 में 6.5 करोड़ हो गई. फेफड़ों के मरीजों की संख्या इस दौरान 2.8 करोड़ से बढ़कर 5.5 करोड़ हो गई. एक रिपोर्ट में यह बात सामने आई है.

साल भर में 20 किलो चीनी खा जाते हैं आप, कहीं इसकी लत तो नहीं हो गई...

इंडियन कौंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर), पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया (पीएचएफआई) और इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ मेट्रिक्स एंड इवोल्यूशन (आईएचएमई) ने स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की भागीदारी में राज्यस्तीय बीमारियों के बोझ का पता लगाने की पहल के तहत जारी रिपोर्ट में बुधवार को यह जानकारी दी. 


एक बयान में बताया गया कि वैश्विक बीमारियों का बोझ अध्ययन के तहत यह रिपोर्ट 1990 के बाद उपलब्ध बीमारियों के दर्ज आंकड़ों के आधार पर तैयार की गई है. इसे तैयार करने में विशेषज्ञों के अलावा देश भर के 100 से अधिक संस्थानों ने भी योगदान दिया है, जिसे द लेंसेट ग्लोबल हेल्थ, द लेंसेट पब्लिक हेल्थ, और द लेंसेट ऑकोलॉजी में पांच शोध पत्रों की सीरीज में प्रकाशित किया गया है. इसके साथ ही इस पर द लेंसेट में एक कमेंट्री भी प्रकाशित की गई है.

डायबिटीज में क्यों फूलता है सांस? ये हो सकती है वजह...

आईसीएमआर के महानिदेशक और स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के स्वास्थ्य शोध विभाग के सचिव प्रोफेसर बलराम भार्गव ने कहा, "सबसे चिंता की बात यह है कि देश के पिछड़े राज्यों में सबसे ज्यादा हृदय रोग और मधुमेह के मरीज हैं. साथ ही बच्चों को होने वाली बीमारियों से भी सबसे ज्यादा पीड़ित देश के पिछड़े राज्य ही हैं. इसलिए इन राज्यों में बीमारियों की रोकथाम के लिए अबिलंब कदम उठाए जाने की सख्त जरूरत है."

उन्होंने कहा, "देश में 1990 के बाद से कैंसर मरीजों की संख्या दोगुनी हो चुकी है, जबकि राज्यों में कैंसर के प्रकार के मामलों की संख्या अलग-अलग पाई गई है. वहीं, इस शोध में यह भी पाया गया है कि दुनिया में होनेवाली कुल आत्महत्याओं में भारत में बहुत अधिक आत्महत्याएं होती है, खासतौर महिलाओं की आत्महत्या ज्यादा होती है, जिसके आंकड़ों में विभिन्न राज्यों में दस गुणा तक का अंतर है. इसलिए इसके कारणों की पहचान कर कदम उठाने की जरूरत है."

बार-बार उपवास की आदत दे सकती है इस बीमारी को बुलावा...

नीति आयोग के सदस्य प्रोफेसर विनोद पॉल ने कहा, "इस शोध के निष्कर्ष राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन के तहत हाल ही में प्रधानमंत्री द्वारा घोषित आयुष्मान भारत की जरूरत पर बल देता है, जिसकी योजना ठीक समय पर बनाई गई है. हम इन निष्कर्षो का उपयोग करके राज्यों के साथ मिलकर हरेक राज्य में उसकी जरूरत के हिसाब से प्राथमिक स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत बनाने के लिए करेंगे."

Promoted
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इनपुट आईएएनएस

और खबरों के लिए क्लिक करें.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

वेब स्टोरीज़

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

घरेलू नुस्खे

Home Remedies For Healthy Eyes: लैपटॉप या फोन के ज्यादा इस्तेमाल से आखों में हो रही है जलन तो इस घरेलू उपाय से आंखों को रखें हेल्दी!

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------