होम »  कैंसर »  सावधान! आने वाले समय में महिलाओं की जान पर बड़ा खतरा हो सकता है ये कैंसर

सावधान! आने वाले समय में महिलाओं की जान पर बड़ा खतरा हो सकता है ये कैंसर

प्रत्येक देश की महिलाओं के लिए फेफड़े व स्तन कैंसर की मृत्यु दर की गणना की गई है.

सावधान! आने वाले समय में महिलाओं की जान पर बड़ा खतरा हो सकता है ये कैंसर

महिलाओं के बीच फेफड़े के कैंसर की मृत्यु दर 2015 से 2030 के बीच 43 फीसदी तक बढ़ने की उम्मीद है. ऐसा 52 देशों के आंकड़ों के विश्लेषण में सामने आया है. जर्नल कैंसर रिसर्च में प्रकाशित शोध के अनुसार, सबसे ज्यादा फेफड़े के कैंसर की मृत्यु दर 2030 में यूरोप और ओशनिया में होगी, जबकि 2030 में सबसे कम फेफड़ों के कैंसर की मृत्यु दर अमेरिका और एशिया में अनुमानित है. 

स्पेन में इंटरनेशनल डी कैटालुन्या युनिवर्सिटी (यूआईसी बार्सिलोना) में सहायक प्रोफेसर जोस मार्टिनेज-सांचेज ने कहा, "हमने वैश्विक स्तर पर स्तन कैंसर की मृत्यु दर को कम करने में बड़ी प्रगति की है, लेकिन महिलाओं में फेफड़े के कैंसर की मृत्यु दर दुनिया भर में बढ़ रही है."

मार्टिनेज सांचेज ने कहा, "अगर हम जनसंख्या में धूम्रपान के व्यवहार को कम करने के उपायों का क्रियान्वयन नहीं करते हैं तो फेफड़े के कैंसर की मृत्यु दर दुनिया भर में बढ़ना जारी रहेगी."


फेफड़ों के इलाज में कारगर है टागेर्टेड और इम्यूनो थेरेपी, कैंसर के खतरे को कम करेंगे ये 5 सुपरफूड

Lung Cancer: फेफड़े के कैंसर के इलाज में टागेर्टेड थेरेपी बेहद कारगर साबित हो सकती है. विशेषज्ञों का मानना है कि टागेर्टेड और इम्यूनोथेरेपी से स्टेज 4 फेफड़े के कैंसर वाले रोगी भी अच्छी गुणवत्ता वाला जीवन जी सकते हैं. नई दिल्ली स्थित राजीव गांधी कैंसर इंस्टीट्यूट एंड रिसर्च सेंटर (आरजीसीआईआरसी) के सीनियर विशेषज्ञ डॉ. उल्लास बत्रा ने बताया कि फेफड़े के कैंसर का पता अक्सर अंतिम स्टेज में ही हो पाता है. इसीलिए महज 15 फीसदी मामलों में ही इसका इलाज संभव हो पाता है. हालांकि टागेर्टेड थेरेपी और इम्यूनोथेरेपी जैसी रणनीतियों और नए शोध से उम्मीद की किरण दिखी है.

इस शोध में शोधकर्ताओं ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मृत्यु दर डेटाबेस से महिलाओं के स्तन और फेफड़ों के कैंसर की मृत्यु दर का विश्लेषण किया है.

शोध में कहा गया है कि इसके बाद प्रत्येक देश की महिलाओं के लिए फेफड़े व स्तन कैंसर की मृत्यु दर की गणना की गई है.

टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------