होम »  लिविंग हेल्दी »  कैंसर को बढ़ावा देने वाली ये 5 चीजें हो सकती हैं आपके बाथरूम में ही...

कैंसर को बढ़ावा देने वाली ये 5 चीजें हो सकती हैं आपके बाथरूम में ही...

हम खुद को हेल्दी तो रखना चाहते हैं, लेकिन कई बार जाने अंजाने हम बीमारी को बुलावा दे देते हैं.

कैंसर को बढ़ावा देने वाली ये 5 चीजें हो सकती हैं आपके बाथरूम में ही...

लंबे समय तक इन ब्‍यूटी प्रोडक्‍ट्स के इस्‍तेमाल से कैंसर हो सकता है

खास बातें

  1. बॉडी लोशन में मौजूद Phthalates से कैंसर हो सकता है
  2. फेस वॉश में पैराबीन्‍स होते हैं ज‍िनसे ब्रेन डैमेज हो सकता है
  3. टैल्‍कम पाउडर में ऐस्बेस्टस होता है ज‍िससे कैंसर होता है
हम खुद को हेल्दी तो रखना चाहते हैं, लेकिन कई बार जाने अंजाने हम बीमारी को बुलावा दे देते हैं. अकसर 'ब्राइट स्किन', 'जवां' या 'न‍िखरी त्‍वचा' वाले लेबल देखकर हमारा मन डोल जाता है. लेकिन ब्‍यूटी ब्रांड्स इन प्रोडक्‍ट्स की कड़वी सच्‍चाई छिपाकर रखते हैं. हालांकि हो सकता है कि कुछ समय के लिए ये आपको कील-मुंहासों से आजादी दिला दें लेकिन ये आपकी स्किन को ऐसा नुकसान पहुंचा सकते हैं जिसकी भरपाई करना नामुमकिन हो जाता है. कुछ मामलों में तो कैंसर भी हो सकता है. यहां पर हम आपके बाथरूम में मौजूद ऐसी पांच चीजों के बारे में बता रहे हैं जिनका लंबे समय तक इस्‍तेमाल करने पर आपको कैंसर हो सकता है:

1. बॉडी लोशन
पीच मिल्‍क, कोको मिल्‍क और श‍िआ बटर जैसे  ढेरों बॉडी लोशन बाजार में मौजूद हैं. हर कोई अपने-अपने तरीके से ड्राई स्किन की देखभाल करने का दावा करता है. लेकिन कोई आपको इनके साइड इफेक्‍ट्स के बारे में नहीं बताता. तो सबसे पहले बात करते हैं बॉडी लोशन की फ्रेग्‍रेंसस यानी कि खुश्‍बू की. आपको बता दें कि इस फ्रेग्‍रेंस के पीछे Phthalates का हाथ होता है. ये Phthalates आपके जननांगों को नुकसान पहुंचा सकते हैं. कई बॉडी लोशन ऐसे हैं ज‍िनमें कोल तार का इस्‍तेमाल किया जाता है. कोल तार एक ऐसा तत्‍व है जो स्किन कैंसर के ल‍िए काफी हद तक जिम्‍मेदार होता है. ऐसे में बॉडी लोशन के बजाए तेल का इस्‍तेमाल कीजिए. बाजार में ऐसे ढेरों नैचुरल ऑयल हैं जो आपकी सेहत के लिए बेहतर हैं और उनमें अच्‍छी खुश्‍बू भी होती है. 

2. फेस वॉश 
फेस वॉश में मौजूद पैराबीन ब्रेन डैमेज करने के साथ ही स्किन को नुकसान पहुंचाते हैं. यही नहीं यह जननांगों के लिए भी खतरनाक है. आपको बता दें कि पैराबीन ह्यून ब्रेस्‍ट कैंसर टिश्‍यू में पाया गया है. ऐसे ढेरों पॉप्‍युलर फेस वॉश हैं जिनमें इसकी मौजूदगी पाई गई है. पैराबीन टूथपेस्‍ट में भी पाया जाता है. 

3. फेस मॉइश्‍चराइजर 
Phthalates और पैराबीन फेस मॉइश्‍चराइजर में भी पाए जाते हैं. इसके बजाए अपनी चेहरे की देखभाल के लिए परफ्यूम फ्री तेल का इस्‍तेमाल कीज‍िए. 

4. डियोडरेंट 
आपके फेवरेट डियोडरेंट और परफ्यूम में Triclosan और Propylene Glycol पाए जाते हैं. और ये Phthalates और पैराबीन के साथ आते हैं. ऐस में यह बताने की जरूरत नहीं है कि डियोडरेंट के इस्‍तेमाल से बचना चाहिए. इसके बजाए ऐसे डियोडरेंट का इस्‍तेमाल कीजिए जिसमें विटामिन E और नारियल के तेल का इस्‍तेमाल किया गया हो. 

5. टैल्‍कम पाउडर 
टैल्‍कम पाउडर टैल्‍क से बनता है जिसमें ऑक्‍सीजन, मैग्‍नीश‍ियम और सिलिकॉन होता है. इसमें ऐस्बेस्टस भी होता है ज‍िससे कैंसर हो सकता है. यह ज्‍यादातर कॉस्‍मेटिक और बेबी प्रोडक्‍ट्स में मौजूद रहता है.
टिप्पणी

NDTV Doctor Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook  पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं सेहत से जुड़ी नई शोध और रिसर्च की खबरें, तंदुरुस्ती से जुड़े फीचर्स, यौन जीवन से जुड़ी समस्याओं के हल, चाइल्ड डेवलपमेंट, मेन्स हेल्थवुमन्स हेल्थडायबिटीज  और हेल्दी लिविंग अपडेट्स. 

................... विज्ञापन ...................

 

................... विज्ञापन ...................

-------------------------------- विज्ञापन -----------------------------------